Next

Trishul-Vajra Non lethal weapons are developed to counter Chinese intrusion।Indian Army।Galwan।Punch

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: October 18, 2021 12:32 PM2021-10-18T12:32:28+5:302021-10-18T12:33:01+5:30

 

Trishul-Vajra Non lethal weapons are developed to counter Chinese intrusion । ‘त्रिशूल’ और ‘वज्र’ से लैस होंगे भारतीय सैनिक. यूपी की कंपनी ने सेना के लिए तैयार किए हथियार. चीनी सैनिकों से गलवान घाटी में भिड़ंत के बाद सेना ने तैयार करवाएं हथियार. गैर घातक ‘टेजर’ हथियार हैं ‘त्रिशूल’, ‘वज्र’ और ‘सैपर पंच’. टेजर हथियारों में बिजली के करंट का होता है इस्तेमाल. विरोधियों को घायल करने के लिए होता है टेजर हथियारों का इस्तेमाल

टॅग्स :भारतीय सेनाचीनIndian armyChina