Makar Sankranti 2022| मकर संक्रांति 2022 | Latest News | Interesting Facts | Mythological Stories

लाइव न्यूज़

AllNewsPhotosVideos
मकर संक्रांति

मकर संक्रांति

Makar sankranti, Latest Hindi News

हिन्दू धर्म में मकर संक्रांति का त्योहार बेहद खास और महत्वपूर्ण माना जाता है। सूर्य के राशि परिवर्तन को ही संक्रांति कहते हैं। इस तरह साल में 12 संक्रांति आते हैं। पौष मास में जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते हैं, तभी मकर संक्रांति का पर्व को मनाया जाता है। वर्तमान समय में जनवरी के चौदहवें या पन्द्रहवें दिन इसे मनाया जाता है। मकर संक्रांति के साथ एक माह से चला रहा खरमास या मलमास खत्म हो जाता है और शुभ कार्य शुरू किए जाते हैं। परंपराओं के अनुसार मकर संक्रांति पर पवित्र नदियों में स्नान करने का विशेष महत्व है। साथ ही दान आदि भी किया जाता है। इस दिन तिल का महत्व काफी खास हो जाता है। तिल का दान, और इसका सेवन शुभ माना गया है। मकर संक्रांति के दिन गुजरात में अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव भी मनाया जाता है।
Read More
Makar Sankranti: 'मकर संक्रांति' पर पवित्र स्नान के लिए गंगासागर पहुंचे लाखों श्रद्धालु - Hindi News | Gangasagar Holy Dip Devotees take bath in Gangasagar in occasion of Makar Sankranti | Latest spirituality Photos at Lokmatnews.in

पूजा पाठ :Makar Sankranti: 'मकर संक्रांति' पर पवित्र स्नान के लिए गंगासागर पहुंचे लाखों श्रद्धालु

साल 2023 का पहले सबसे बड़ा त्योहार मकर संक्राति, जानिए क्या है महत्व? - Hindi News | Makar Sankranti, the first biggest festival of the year 2023, know what is its importance? | Latest spirituality Videos at Lokmatnews.in

पूजा पाठ :साल 2023 का पहले सबसे बड़ा त्योहार मकर संक्राति, जानिए क्या है महत्व?

...

मकर संक्रांतिः सांस्कृतिक विविधता और परिवर्तन का पर्व  - Hindi News | Makar Sankranti 2023 Festival of Cultural Diversity and Change | Latest spirituality News at Lokmatnews.in

पूजा पाठ :मकर संक्रांतिः सांस्कृतिक विविधता और परिवर्तन का पर्व 

अकारण नहीं कि हर मकर संक्रांति पर देश की विभिन्न नदियों में स्नान कर सूर्य को पिता स्वरूप मानकर नमस्कार किया जाता है और उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त की जाती है। जानकार बताते हैं कि सूर्य के प्रति कृतज्ञता की यह परंपरा बिल्कुल वैसी ही है जैसी धरती को मा ...

मकर संक्रांतिः काशी के घाटों पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़; संगम, गंगासागर में लाखों लोगों ने लगाई डुबकी - Hindi News | Makar Sankranti Devotees throng Kashi Ghats Millions people took a dip in sangam Gangasagar | Latest india News at Lokmatnews.in

भारत :मकर संक्रांतिः काशी के घाटों पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़; संगम, गंगासागर में लाखों लोगों ने लगाई डुबकी

प्रयागराज के संगम और पश्चिम बंगाल के गंगा सागर में लाखों लोगों ने डुबकी लगाई। कुंभ के बाद सबसे बड़े मेले गंगासागर में पवित्र डुबकी लगाने के लिए नागा साधुओं सहित लाखों से अधिक तीर्थयात्री कोलकाता, गंगासागर पारगमन शिविर में बाबूघाट पहुंचे। ...

Makar Sankranti 2023: मकर संक्रांति पर बनाएं तिल के लड्डू, चिक्की और तिल बग्गा - Hindi News | Makar Sankranti 2023 recipes til laddu murmura chikki til papdi in hindi | Latest india Photos at Lokmatnews.in

भारत :Makar Sankranti 2023: मकर संक्रांति पर बनाएं तिल के लड्डू, चिक्की और तिल बग्गा

मकर संक्रांति पर खिचड़ी खाने की क्या है मान्यता,जानिए - Hindi News | What is the recognition of eating Khichdi on Makar Sankranti, know | Latest spirituality Videos at Lokmatnews.in

पूजा पाठ :मकर संक्रांति पर खिचड़ी खाने की क्या है मान्यता,जानिए

...

Lohri 2023 Date: 13 या 14 कब है लोहड़ी पर्व, जानिए सही तिथि, मुहूर्त, महत्व और दुल्ला भट्टी की कथा - Hindi News | Lohri 2023 date 13 or 14 when is Lohri festival, know the exact date, Muhurta, importance and story of Dullabhatti | Latest spirituality News at Lokmatnews.in

पूजा पाठ :Lohri 2023 Date: 13 या 14 कब है लोहड़ी पर्व, जानिए सही तिथि, मुहूर्त, महत्व और दुल्ला भट्टी की कथा

लोहड़ी पर्व के दिन शाम को लकड़ी और उपले से आग जलाई जाती है और इसके चारों ओर इकट्ठा होकर गीत गाए जाते हैं। इसके बाद रेवड़ी, मूंगफली, खील, चिक्की, गुड़ की बनी चीजें आग में डालकर परिक्रमा करते हैं और आग के पास बैठकर गजक और रेवड़ी खाकर त्‍योहार मनाया जात ...

जानिए कब है मकर संक्रांति ,पुण्य और महापुण्य काल मुहूर्त और पूजा विधि - Hindi News | Know when is Makar Sankranti, Punya and Mahapunya Kaal Muhurta and worship method | Latest spirituality Videos at Lokmatnews.in

पूजा पाठ :जानिए कब है मकर संक्रांति ,पुण्य और महापुण्य काल मुहूर्त और पूजा विधि

...