NIA raids DSP Devinder's relatives, found army base map | NIA ने डीएसपी देविंदर के रिश्तेदारों के घर मारा छापा, मिला आर्मी बेस का नक्शा
सुरक्षा एजेंसियों ने एक बैंक ऑफिसर, एक डॉक्टर के घर तलाशी भी ली है.

Highlightsनिलंबित डीएसपी देविंदर सिंह के मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) करेगी.श्रीनगर में सुरक्षा एजेंसियों ने डीएसपी देवेंद्र सिंह के रिश्तेदारों के घर छापा मारा है.

हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर नवीद बाबू के साथ गिरफ्तार निलंबित डीएसपी देविंदर सिंह के मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) करेगी. इस मामले में एनआईए के महानिदेशक वाई.सी. मोदी के गृह सचिव अजय कुमार भल्ला से मुलाकात करने के बाद बुधवार को आईजी स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में एक टीम जांच के लिए कश्मीर भेजी गई है.

श्रीनगर में सुरक्षा एजेंसियों ने डीएसपी देवेंद्र सिंह के रिश्तेदारों के घर छापा मारा है. सुरक्षा एजेंसियों ने एक बैंक ऑफिसर, एक डॉक्टर के घर तलाशी भी ली है. इसके अलावा श्रीनगर के इंदिरा नगर में स्थित शिव मंदिर की तलाशी भी ली गई है. सूत्रों के अनुसार छापेमारी में सेना की 15वीं कोर का पूरा नक्शा, साढ़े सात लाख रुपये और बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किया गया है. सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि देविंदर सिंह ने अपने रिश्तेदारों के घर में पैसा छुपाकर रखा है.

छापेमारी के दौरान पूरे इलाके का जायजा लेने के लिए ड्रोन कैमरे का भी इस्तेमाल किया गया. संवेदनशील स्थानों पर तैनात थे डीएसपी : दरअसल राज्य प्रशासन चाहता है कि डीएसपी से जल्द सब कुछ उगलवा लिया जाए क्योंकि वह इन सालों के दौरान जिन स्थानों पर तैनात रहा है उनमें कई महत्वपूर्ण और संवेदनशील भी थे और उसके आतंकियों से संबंध उजागर होने के बाद उन संस्थानों की सुरक्षा पर खतरा मंडरा रहा है. इस बीच मामले की जांच कर रही सुरक्षा एजेंसियों ने डीएसपी के बैंक खाते और अन्य संपत्तियों की जांच भी की. उसकी संपत्तियों का पूरा ब्यौरा जुटाया जा रहा है. पूछताछ में जुटी एजेंसियों ने इससे जुड़े दस्तावेज भी खंगाले हैं. आईबी, रॉ और मिलिट्री इंटेलिजेंस (एमआई) देविंदर से सघन पूछताछ कर आतंकियों के साथ उसके कनेक्शन की भी छानबीन में जुटी हुई है.

माना जा रहा है कि आतंकियों के साथ गठजोड़ के कई राज सामने आ सकते हैं. डीएसपी ने आतंकी नवीद को जम्मू पहुंचाया था : सूत्रों के अनुसार, पूछताछ में यह पता चला कि पिछले साल भी डीएसपी ने आतंकी नवीद को जम्मू पहुंचाया था. यहां ठहरने तथा इलाज के बाद उसे शोपियां तक सुरिक्षत पहुंचाया था.

माना जा रहा है कि वह इस बार नवीद को चंडीगढ़ ले जा रहा था. वहां कुछ महीने तक रहने के लिए उसने किराये के रूप में 12 लाख रु पए लिए थे. जांच एजेंसियों को यह भी पता चला है कि वह श्रीनगर में आलीशान बंगला बनवा रहा है. डीएसपी के बयानों में काफी विरोधाभास है. इसे पकड़े गए आतंकियों से पूछताछ के आधार पर मिलान किया जाएगा. दक्षिणी कश्मीर में चल रही पूछताछ के दौरान आतंकियों को अलग-अलग कमरे में रखा गया है.

पुलवामा मामले मंे भी घिरा देविंदर : देविंदर के साथ पकड़े गए आतंकी नवीद मुश्ताक ने पूछताछ में बताया है कि अधिकांश आतंकी पुलिस से बचने के लिए सर्दी के दौरान कश्मीर से बाहर का रु ख कर लेते हैं, जबकि गर्मी में वह जंगलों में ही रहते हैं. इससे उन्हें आराम करने और नेटवर्क तैयार करने का पूरा मौका भी मिलता है. देविंदर सिंह से पुलवामा जिला पुलिस लाइन पर हुए आतंकी हमले से लेकर बीते दो सालों के दौरान पुलवामा जिले में हुए विभिन्न आतंकी हमलों के बारे में भी पूछा जा रहा है.

डीएसपी का कहना है कि वह किसी आतंकी हमले की साजिश में शामिल नहीं था, उसने सिर्फ एक दो बार ही आतंकियों की मदद की है और वह भी उन्हें कश्मीर से बाहर ले जाने में. बताया जाता है कि श्रीनगर एयरपोर्ट पर देविंदर सिंह पुलिस और आर्मी, शीर्ष राजनेताओं, सांसदों के बीच संवाद की कड़ी था. देविंदर सिंह कश्मीर घाटी में आतंकियों के नेटवर्क को अच्छी तरह से जानता था.

Web Title: NIA raids DSP Devinder's relatives, found army base map
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे