Next

Sonia Gandhi ने Petrol-Diesel की बढ़ती कीमतों पर PM Modi को लिखा पत्र| Rahul Gandhi| Priyanka Gandhi| Petrol-Diesel Price Hike

By गुणातीत ओझा | Published: February 22, 2021 12:43 AM2021-02-22T00:43:40+5:302021-02-22T00:44:36+5:30

देश में पेट्रोल-डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार लोगों के कष्ट और पीड़ा दूर करने के बजाए उनकी तकलीफ बढ़ाकर मुनाफाखोरी कर रही है।

देश में पेट्रोल-डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार लोगों के कष्ट और पीड़ा दूर करने के बजाए उनकी तकलीफ बढ़ाकर मुनाफाखोरी कर रही है। गांधी ने सरकार से पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई कीमतें वापस लेने की मांग की। गांधी ने मोदी को पत्र लिख कर कहा,‘‘ मैं यह पत्र आपको आसमान छूती तेल और रसोई गैस की कीमतों से हर नागरिक के लिए उत्पन्न गहन पीड़ा और संकट से अवगत कराने के लिए लिख रही हूं। एक तरफ भारत में रोजगार खत्म हो रहा है, कर्मचारियों का वेतन घटाया जा रहा है और घरेलू आय निरंतर कम हो रही है तो वहीं दूसरी ओर मध्यम वर्ग और सामाज में हाशिए पर रहने वाले लोग रोजी-रोजी के लिए संघर्ष कर रहे हैं। तेजी से बढ़ती महंगाई और घरेलू सामान और हर आवश्यक वस्तु की कीमत में अप्रत्याशित बढ़ोतरी ने इन चुनौतियों को और अधिक गंभीर बना दिया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह दुखद है कि संकट के इस वक्त में भी सरकार लोगों के कष्ट और पीड़ा दूर करने के बजाए उनके दुख और तकलीफ बढ़ाकर मुनाफाखोरी कर रही है।’’ मूल्य वृद्धि से दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 90.58 रुपए प्रति लीटर और मुंबई में 97 रुपए प्रति लीटर हो गई है। गांधी ने पत्र में कहा कि ईंधन की कीमतों में वृद्धि इस समय ‘‘ऐतिहासिक और अव्यावहारिक है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं आपसे आग्रह करती हूं कि आप ईंधन की कीमतों में तत्काल कमी करके कच्चे तेल की कम कीमतों का लाभ मध्यम श्रेणी, वेतनभोगी तबके, किसानों, गरीबों और आम आदमी को दें। ये सब लोग लंबे समय से अभूतपूर्व आर्थिक मंदी, चौतरफा बेरोजगारी, वेतन में कमी और नौकरियां खो देने के कारण भयावह संघर्ष के दौर से गुजर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि देश में 2020 में कच्चे तेल का उत्पादल 18 साल के न्यूनतम स्तर पर है। पत्र में कहा गया कि सरकारें लोगों का बोझ कम करने के लिए चुनी जाती हैं न कि उनके हितों पर कुठाराघात करने के लिए। उन्होंने कहा,‘‘ मुझे उम्मीद है कि आप इस बात से सहमत होंगे कि यह वक्त आपकी सरकार के लिए समाधान पर ध्यान केन्द्रित करने का है न कि बहाने बनाने का। भारत इससे बेहतर का हकदार है।’’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। दोनों नेताओं ने आरोप लगाया कि इस सरकार के राज में महंगाई का विकास हो रहा है। राहुल गांधी ने पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में वृद्धि का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘महंगाई का विकास!’’ कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका ने सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘भाजपा सरकार को सप्ताह के उस दिन का नाम 'अच्छा दिन' कर देना चाहिए जिस दिन डीजल-पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी न हो, क्योंकि महंगाई की मार के चलते बाकी दिन तो आमजनों के लिए 'महंगे दिन' हैं।’’ 

बता दें कि पिछले 12 दिनों से पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ रही थीं। हालांकि, रविवार को इसमें कोई बढ़ोतरी दर्ज नहीं की गई। शनिवार को नई दिल्ली में पेट्रोल 39 पैसे प्रति लीटर बढ़कर 90.58 रुपये पर चला गया था। वहीं डीजल भी 37 पैसे की छलांग लगाकर 80.97 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया था। मुंबई में पेट्रोल 97.00 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है।

टॅग्स :पेट्रोल का भावपेट्रोलडीजल का भावडीजलसोनिया गाँधीPetrol PricePetrolDiesel PriceDieselSonia Gandhi