ujjwala tiwari on her son rohit shekhar death his death is natural | रोहित शेखर की मौत पर मां को संदेह नहीं, बोलीं, 'मेरे बेटे को कुछ लोगों ने अवसाद दिया, जिसका खुलासा बाद में करूंगी'
रोहित शेखर की मौत पर मां को संदेह नहीं, बोलीं, 'मेरे बेटे को कुछ लोगों ने अवसाद दिया, जिसका खुलासा बाद में करूंगी'

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एन डी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी का मंगलवार को निधन हो गया । रोहित शेखर तिवारी की मां उज्जवला तिवारी ने रोहित की मौत को सामान्य बताया है।

 उन्होंने कहा कि, रोहित की मौत पर हमें कोई संदेह नहीं ,लेकिन कुछ लोगों ने उसे अवसाद ( डिप्रेशन) दिया है। जिसके बारे में मैं बाद में बताऊंगी। मंगलवार को पूर्व राज्यपाल और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे 40 साल के रोहित शेखर तिवारी की रहस्यमय हालात में मौत हो गई थी। रोहित अपनी मां,पत्नी और भाई के साथ दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी इलाके में रहते थे।

 रोहित की मां उज्ज्वला दोपहर में साकेत इलाके के मैक्स अस्पताल में मेडिकल जांच लेने गई थी। तभी उन्हें घर से नौकरों और उनके दूसरे बेटे सिद्धार्थ ने फोन कर बताया कि रोहित के नाक से खून निकल रहा है और उसके हाथ पैर ठंडे पड़ गए हैं, रोहित की मां फौरन अस्पताल से एम्बुलेंस लेकर घर डिफेंस कॉलोनी में अपने घर पहुचीं और रोहित को लेकर वापस करीब 5 बजे मैक्स अस्पताल पहुंची, जहां डॉक्टरों ने रोहित को मृत घोषित कर दिया।

हुआ निधन

रोहित शेखर तिवारी का मंगलवार को निधन हो गया । पुलिस और अस्पताल ने यह जानकारी दी। मैक्स अस्पताल ने बताया कि रोहित को मृत दशा में उसके यहां लाया गया। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) विजय कुमार ने बताया कि रोहित को शाम करीब पांच बजे अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वह दक्षिण दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी में रहते थे। उन्होंने बताया कि उनकी मां उज्ज्वला तिवारी भी इसी अस्पताल में भर्ती थीं। उन्हें उनके बेटे के अस्वस्थ होने और नाक से खून बहने की खबर घर से मिली थी। 

अस्पताल ने एक संक्षिप्त बयान में कहा, ‘‘मैक्स अस्पताल को चार बजकर 41 मिनट पर रोहित शेखर तिवारी के घर से एक आपात कॉल आया। एक एंबुलेंस तिवारी को लेकर साकेत के मैक्स अस्पताल पहुंचा जहां उन्हें आपात विभाग में मृत घोषित कर दिया गया। ’’ अस्पताल ने कहा , ‘‘स्थापित प्रक्रिया के अनुसार हमने प्रशासन को सूचित कर दिया। ’’ नारायण दत्त तिवारी पिछले साल अपने जन्म दिन 18 अक्टूबर को 93 साल की उम्र में चल बसे थे। तब उनका भी साकेत के इसी अस्पताल में उम्र संबंधी बीमारियों का इलाज चल रहा था। केंद्र में विभिन्न पदों पर रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता नारायण दत्त तिवारी उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री भी रहे थे। रोहित 2017 के उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो गये थे और हाल ही में उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने का संकेत दिया था


Web Title: ujjwala tiwari on her son rohit shekhar death his death is natural
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे