महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर मुद्दे पर फिर अलापा पाकिस्तानी राग, बोलीं- 'बात तो होनी चाहिए, जैसे वाजपेयी जी के समय में होती थी'

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: September 24, 2022 03:30 PM2022-09-24T15:30:38+5:302022-09-24T15:35:02+5:30

महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर विवाद में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का हवाला देते हुए कहा कि यह मुद्दा इंसानियत, जम्हूरियत व कश्मीरियत से ही हल किया जा सकता है और इसके लिए पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम से भी बात की जानी चाहिए।

Mehbooba Mufti again raged Pakistani rage on Kashmir issue, said- 'Talk should happen, as it used to be during Vajpayee ji' | महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर मुद्दे पर फिर अलापा पाकिस्तानी राग, बोलीं- 'बात तो होनी चाहिए, जैसे वाजपेयी जी के समय में होती थी'

फाइल फोटो

Next
Highlightsमहबूबा मुफ्ती ने कश्मीर मुद्दे को हल करने के लिए छेड़ा पाकिस्तान से बातचीत का रागमहबूबा मुफ्ती ने कहा कि पाकिस्तान को भी कश्मीर विवाद में बातचीत के लिए शामिल किया जाए मुफ्ती ने दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के कहे इंसानियत, जम्हूरियत व कश्मीरियत का भी जिक्र किया

कश्मीर: पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की मुखिया और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर मुद्दे पर एक बार फिर पाकिस्तानी राग छेड़ दिया है। महबूबा मुफ्ती ने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को कश्मीर विवाद में बातचीत के लिए शामिल करने की वकालत की है।

मुफ्ती ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का हवाला देते हुए कहा कि कश्मीर में अमन के लिए पाकिस्तान से बातचीत को फिर शामिल किया जाना चाहिए और इसके लिए भारत सरकार को पहल करनी चाहिए।

इस सिलसिले में पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर के अनंतनाग में कहा, "अगर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर के मसले को हल करने और दोनों देशों के रिश्तों को अच्छा करने की बात कही तो यह होना चाहिए। जैसे वाजपेयी जी के समय दोनों देशों ने बैठकर बात की थी वैसे ही दोनों देश जम्मू-कश्मीर का हल निकालें तो यह देश के लिए भी अच्छा होगा।"

जम्मू-कश्मीर के मुद्दे को बेहद तंग बताते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर का मसला ऐसे नहीं हल होने वाला कि आप इसे जेल में तब्दील कर दें। आए दिन यहां पर गोलियां चलती हैं, मुठभेड़ होती है। इससे कश्मीर का मुद्दा कभी नहीं सुलझने वाला है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए खुले मन से कश्मीरियों को विश्वास में लिया जाना बेहद जरूरी है। एक जमाने प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इंसानियत, जम्हूरियत व कश्मीरियत की बात की थी। अगर केंद्र सरकार उसी अटल बिहारी बाजपेयी को अपना आदर्श मानती  है तो कश्मीर के मुद्दे में सुलझाने के लिए सकारात्मक मन से आगे आये। 

Web Title: Mehbooba Mufti again raged Pakistani rage on Kashmir issue, said- 'Talk should happen, as it used to be during Vajpayee ji'

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे