ब्रह्मोस दुर्घटनावश फायरिंग: वायु सेना ने एक से अधिक अधिकारियों को दोषी पाया, जल्द की जाएगी कार्रवाई

By विशाल कुमार | Published: April 11, 2022 07:38 AM2022-04-11T07:38:13+5:302022-04-11T07:39:52+5:30

9 मार्च की शाम को भारतीय वायु सेना के कर्मियों द्वारा गलती से एक मिसाइल लॉन्च की गई थी और बिना किसी जान-माल के नुकसान के पाकिस्तान में गिर गई थी क्योंकि वह हथियार रहित थी।

brahmos accidental-missile-firing more-iaf-probe action | ब्रह्मोस दुर्घटनावश फायरिंग: वायु सेना ने एक से अधिक अधिकारियों को दोषी पाया, जल्द की जाएगी कार्रवाई

ब्रह्मोस दुर्घटनावश फायरिंग: वायु सेना ने एक से अधिक अधिकारियों को दोषी पाया, जल्द की जाएगी कार्रवाई

Next
Highlights 9 मार्च को वायु सेना के कर्मियों द्वारा गलती से एक मिसाइल पाकिस्तान में लॉन्च की गई थी।वाइस एयर मार्शल की जांच में मिसाइल स्क्वॉड्रन के एक से अधिक अधिकारी दोषी पाए गए हैं।दोषियों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई की जाएगी और जल्द ही उनके साथ सख्ती से निपटा जाएगा।

नई दिल्ली: ब्रह्मोस दुर्घटनावश मिसाइल फायरिंग मामले में जवाबदेही तय करने की दिशा में तेजी से कार्रवाई करते हुए भारतीय वायु सेना की जांच ने दुर्घटना के लिए एक से अधिक अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया है। 

बता दें कि, 9 मार्च की शाम को भारतीय वायु सेना के कर्मियों द्वारा गलती से एक मिसाइल लॉन्च की गई थी और बिना किसी जान-माल के नुकसान के पाकिस्तान में गिर गई थी क्योंकि वह हथियार रहित थी।

इंडिया टु़डे की रिपोर्ट के अनुसार, सरकार के एक शीर्ष सूत्र ने कहा कि वाइस एयर मार्शल आरके सिन्हा की जांच में मिसाइल स्क्वॉड्रन के एक से अधिक अधिकारी दोषी पाए गए हैं। उनके खिलाफ त्वरित कार्रवाई की जाएगी और जल्द ही उनके साथ सख्ती से निपटा जाएगा।

वायु सेना मुख्यालय ने यह सुनिश्चित करने के लिए कड़े कदम उठाने की बात कही है कि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों और ड्यूटी के दौरान सभी कर्मियों द्वारा सभी मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन किया जाए। 

ब्रह्मोस मिसाइल गलती से उत्तर भारत के एक एयरबेस से दागी गई थी और पाकिस्तान के अंदर मियां चन्नू नामक स्थान पर गिरी थी।

पाकिस्तान सरकार ने इस घटना पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी लेकिन उससे काफी पहले भारत की ओर से जांच शुरू कर दी गई थी।

राज्यसभा में बोलते हुए राजनाथ सिंह ने कहा था कि 9 मार्च को गलती से एक मिसाइल लॉन्च की गई थी। यह घटना नियमित निरीक्षण के दौरान हुई थी। हमें बाद में पता चला कि यह पाकिस्तान में उतरा था। मैं सदन को सूचित करना चाहता हूं कि सरकार ने घटना को गंभीरता से लिया है। औपचारिक उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जांच से उक्त दुर्घटना के सही कारण का पता चलेगा।

उन्होंने आगे कहा था कि शुक्र है, मिसाइल के आकस्मिक प्रक्षेपण के कारण कोई नुकसान नहीं हुआ।

उन्होंने कहा था कि हमारे संचालन, रखरखाव और निरीक्षण मानक संचालन प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद आयोजित किए जाते हैं, जिनका मूल्यांकन किया जा रहा है। हमारी शस्त्र प्रणालियों की सुरक्षा और संरक्षा में किसी भी प्रकार की ढिलाई पाए जाने पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। हमारा मिसाइल सिस्टम बेहद भरोसेमंद और सुरक्षित है। हमारे सशस्त्र बल ऐसी प्रणालियों को संभालने में अनुभवी हैं।

Web Title: brahmos accidental-missile-firing more-iaf-probe action

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे