गर्दन के बीच में थायरॉयड ग्रंथि होती है, जो टी-3 और टी-4 हार्मोन हार्मोन बनाती है। इन हार्मोन के कम ज्यादा बनने की वजह से ही थायरॉयड का रोग होता है। इनके कम या ज्यादा होने से शरीर में कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। दरअसल यह हार्मोन मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करते हैं, जिससे शरीर की कोशिकाओं को ठीक मात्रा में ऊर्जा का उपयोग करने में मदद मिलती है। 
 
थायरॉयड को 'साइलेंस किलर' माना जाता है क्‍योंकि इसके लक्षण बाद में पता चलते हैं। आमतौर पर थायरॉयड के लक्षणों में थकान, कमजोरी, ठंड लगना, मांसपेशियों में दर्द, कब्ज, वजन बढ़ना या कम होना, भूख में कमी, बाल झड़ना, तनाव, याददाश्त कम होना, पैरों में सूजन, ज्यादा नींद आना आदि शामिल हैं। इस तरह के कोई भी लक्षण महसूस होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

वैसे तो थायरॉयड के लिए कई उपचार उपलब्ध हैं लेकिन डाइट में बदलाव करके आप टी 3 और टी 4 कम और ज्यादा उत्पादन को मैनेज कर सकते हैं और इन समस्याओं से बच सकते हैं। चलिए जानते हैं आपको किन-किन चीजों का सेवन करना चाहिए और किन चीजों को खाने से बचना चाहिए।

1) तली हुई चीजें
ऑयली और जंक फूड सेहत के लिए हानिकारक होता है। इसके सेवन से मोटापा, हृदय रोग, डायबिटीज जैसी जानलेवा बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है। थायरॉयड के मरीज को ऐसे खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि इस तरह की चीजें थायरॉयड हार्मोन बनाने वाली दवाओं के असर को कम करती हैं।

2) चीनी
चीनी का अत्‍यधिक सेवन किसी भी सूरत में स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद नहीं हो सकता है। चीनी या मिठाई शरीर में वसा को बढ़ावा देता है बल्कि यह डायबिटीज रोगियों के लिए भी सही नहीं है। चीनी से मुंह संबंधी समस्‍याओं का भी खतरा होता है। थायरॉयड होने पर ज्यादा चीनी खाने से भी बचें। अगर संभव हो, तो सभी मीठे पदार्थों को खाने से बचें।

3) ग्लूटेन
ग्लूटेन में ऐसे प्रोटीन्स होते हैं, इम्युनिटी सिस्टम को कमजोर करते हैं। इसीलिए, थायरॉयड होने पर इसे ब्रेड, बिस्कुट, बंद, पाव जैसी चीजों को खाने से बचें। अगर आप ऐसे फूड का सेवन कर रहे हैं तो इन्‍हें आज से ही छोड़ दें।

4) सोयाबीन
वैस तो हाइपोथायराइडिज्म के इलाज के दौरान सोया नहीं खाना चाहिए। लेकिन, कहते हैं कि थायरॉयडकी दवाई लेने के चार घंटे बाद इसे खा सकते हैं। अगर आपको सोया लेना है तो पहले डॉक्‍टर की सलाह लें।

5) कॉफी
ऐसा कहा जाता है कि कॉफी का सेवन आपके मानसिक तनाव को दूर करने में मदद करता है। लेकिन कॉफी का अधिक मात्रा में सेवन नहीं किया जाना चाहिए। ज्‍यादा कॉफी पीने से भी थायरॉयड से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। कॉफी में मौजूद एपिनेफ्रीन और नोरेपिनेफ्रीन थायरॉयड को बढ़ावा देते हैं।

6) गोभी 
अगर आप थायरॉयड का इलाज करा रहे हैं, तो बंदगोभी और ब्रोकोली खाने से भी बचें। ये दोनों सब्जियां थायरॉयड के इलाज में बाधक हो सकती हैं। इसके सेवन से समस्‍या का समाधान करना मुश्किल हो सकता है। 

7) आयोडीन वाली चीजें
हाइपोथायरायडिज्म पर्याप्त आयोडीन की कमी के कारण भी होता है। ऐसे मामलों में, आयोडीन युक्त नमक या आयोडीन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से नुकसान हो सकता है। इससे थायरॉयड ग्रंथि का कामकाज प्रभावित हो सकता है।

8) फाइबर वाली चीजें
आमतौर पर ज्यादा फाइबर वाली चीजें खाने की सलाह दी जाती है लेकिन थायराइड दवाओं के सेवन के ठीक बाद फाइबर के सेवन से फाइबर का अवशोषण ठीक तरह नहीं हो पाटा है जिससे आपको कब्ज और बवासीर की समस्या हो सकती है।

Web Title: Thyroid diet tips : Best diet for hypothyroidism, best diet for hypothyroid diet, tips and food to prevent thyroid
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे