Karnataka: रोज की तरह शख्स सुबह-सुबह पी रहा था पवित्र जल, गलती से निगल लिया भगवान श्रीकृष्ण की धातु वाली मूर्ति और फिर....जानें पूरा मामला

By आजाद खान | Published: June 24, 2022 03:50 PM2022-06-24T15:50:53+5:302022-06-24T16:08:56+5:30

बेलगावी के केएलई अस्पताल के डॉक्टरों की एक टीम ने यह मूर्ती को गले से निकाला है। उनके मुताबिक, इसे निकालने में काफी दिक्कत हुई है।

KarnatakaLike every day person drinking holy water early morning accidentally swallowed metal idol Lord Krishna KLE Hospital | Karnataka: रोज की तरह शख्स सुबह-सुबह पी रहा था पवित्र जल, गलती से निगल लिया भगवान श्रीकृष्ण की धातु वाली मूर्ति और फिर....जानें पूरा मामला

Karnataka: रोज की तरह शख्स सुबह-सुबह पी रहा था पवित्र जल, गलती से निगल लिया भगवान श्रीकृष्ण की धातु वाली मूर्ति और फिर....जानें पूरा मामला

Next
Highlightsएक शख्स के भगवान श्रीकृष्ण के मूर्ती को निगल जाने की बात सामने आई है। इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया जहां इस बात की पुष्टी हुई थी। बताया जाता है कि मूर्ती की एक पैर खाने की नली में भी फंस गई थी।

बेंगलुरु: कर्नाटक के बेलगावी (Belagavi) में एक शख्स द्वारा भगवान श्रीकृष्ण (Lord Shri Krishna Idol) की धातु वाली मूर्ती को निगल लेने की बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि इस मूर्ती को अन्जाने में निगल जाने के बाद शख्स की हालत खराब होने लगी और उसे सांस लेने में दिक्कत की शिकायत की थी। शख्स ने बताया कि उसके गले में भी दर्द हो रहा है और वह कुछ भी सही से खा नहीं पा रहा है। वह जब भी कुछ खाता तो उसे घोटनें में काफी दिक्कत होती थी। शुरुआत में उसने पास के एक डॉक्टर को दिखाया था जिसने एक्सरे के बाद इस बात की पुष्टी की थी। 

कैसे गले में फंसी धातु वाली मूर्ती 

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, डॉक्टरों ने बताया कि 45 साल का यह शख्स हर सुबह पवित्र पानी में श्रीकृष्ण की मूर्ती को डालकर उसे पीता था। इस दौरान एक दिन पानी के साथ उसने मूर्ती को भी अन्जाने में निगल लिया था जिससे उसके गले में परेशानी बढ़ गई थी। बताया जाता है कि जब इस शख्स का एंडोस्कॉपी हुआ तो यह साबित हुआ कि पीड़ित के गले में मूर्ती अटकी हुई है। इसके बाद उसे एमर्जेन्सी में ले जाया गया जहां उसके गले से मूर्ती को निकाली गई थी। 

मूर्ती की एक पैर फंस गया था खाने की नली में


खबरों के मुताबिक, डॉक्टरों को इसे निकालने में परेशानी तब आई जब उन्हें पता चला की मूर्ती की एक पैर खाने की नली में फंस गई है। बेलगावी के केएलई अस्पताल के डॉक्टरों ने एंडोस्कॉपी की मदद से शख्स के गले में फंसी मूर्ती को बड़ी ही मुश्किलों से निकाला जिसके बाद उसकी यह परेशानी दूर हुई है। इस काम को केएलई अस्पताल के डॉ. प्रीति हजारे, डॉ. विनीता मेंटगुडमठ और डॉ. चैतन्य कामती ने अन्जाम दिया है। 

बताया जाता है वह शख्स अब बिल्कुल ठीक है और उसे अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई है। 
 

Web Title: KarnatakaLike every day person drinking holy water early morning accidentally swallowed metal idol Lord Krishna KLE Hospital

ज़रा हटके से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे