Next

भगवद गीता पढ़ने के फायदे, जानिए कैसे पाठ करने से होगा लाभ

By लोकमत समाचार हिंदी ब्यूरो | Published: January 1, 2018 01:13 PM2018-01-01T13:13:18+5:302018-01-01T13:14:45+5:30

दुनियाभर में भारत को आध्‍यात्मिक ज्ञान के रूप में भगवद्गीता को मणि के रूप में...

दुनियाभर में भारत को आध्‍यात्मिक ज्ञान के रूप में भगवद्गीता को मणि के रूप में जाना जाता है। गीता में 18 अध्‍याय हैं और इन 18 अध्‍यायों में 700 श्‍लोक हैं, जो व्‍यक्‍ति भगवद्गीता का पाठ करता है तो उसे पुण्‍य की प्राप्‍ति के साथ-साथ अनेक फायदे होते हैं। गीता में कुछ ऐसे अध्‍याय हैं जो जीवन में आ रही लगातार विपत्तियों से मनुष्‍य को छुटकारा दिलाते हैं और उसे विपरीत प‍रिस्थितियों से लड़ने का साहस देते हैं। इसमें ग्रहों के प्रभाव और उनसे होने वाले नुकसान से बचने और उनका लाभ उठाने के संबंध में यह सूत्र लाभकारी हैं। अगर आपकी कुंडली में शनि अशुभ स्‍थान में है तो आपको इसके प्रथम अध्‍याय का पाठ करना चाहिए। इससे शनि की पीड़ा दूर होती है। वहीं अगर कुंडली में गुरु की दृष्टि शनि पर हो तो दूसरे अध्‍याय का पाठ करें। दसवें भाव में शनि, मंगल और गुरु का प्रभाव होने पर तीसरे अध्‍याय का पाठ करें और चतुर्थ अध्‍याय का पाठ कुंडली का नवां भाव तथा कारक ग्रह प्रभावित होने पर करें।

टॅग्स :भगवत गीताBhagwat Geeta