कई बार रिश्ते में प्यार, भावनाएं, खुशी सब कुछ होता है, लेकिन फिर भी कुछ अधूरापन लगता है। ऐसा अक्सर उन कपल्स के बीच होता है जो फ्यूचर की परवाह किए बिना एक दूसरे के सतह हैं। क्योंकि वे केवल वक्त बिताना चाहते हैं, जिन्दगी नहीं। अगर कपल में दोनों ही इस तरह की सोच रखते हैं तो कोई फर्क नहीं पड़ता है। लेकिन दोनों में से एक भी अगर इस रिश्ते को लेकर सीरियस है और पार्टनर से उसे निभाने की उम्मीद करता है तो यहां मामला बिगड़ जाता है। 

ऐसा रिश्ता एक समय पर आकर टूट ही जाता है। लेकिन वह पार्टनर जो शुरू से इस रिश्ते को निभाने के मकसद से जुड़ा है, वह अगर चाहे तो सब ठीक हो सकता है। कुछ खास तरीकों को अपनाकर वह अपने पार्टनर की भावनाओं को बदल सकता है। तो चलिए आपको बताते हैं कि किस तरह से रिश्ते में नो-कमिटमेंट वाले पार्टनर को भी हमेशा के लिए अपना बनाया जा सकता है।

1) बात करें

किसी भी समस्या का हल सिर्फ और सिर्फ बात करके निकाला जा सकता है। कोशिश तो करके देखें। बात करने से मामले की जड़ और रिश्ते के हालत समझ में आ जाते हैं। सामने वाले की सोच का कुछ प्रतिशत अंदाजा हो ही जाता है। बातों बातों में आपको समझ आ जाएगा कि अब आपको रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए कहाँ से शुरुआत करनी है।

2) घबराएं नहीं

उनसे बात करने के बाद जब आपको यह क्लियर हो जाए कि उन्हें इस रिश्ते से कुछ नहीं चाहिए, वे सिर्फ चलाने के मकसद से ही इसे चला रहे हैं, तो यह जानने के बाद दुखी ना हों। ना ही घबराएं। क्योंकि अभी भी सब कुछ ठीक करने के लिए आपके पास समय है। केवल इस बात की तसल्ली रखें कि पार्टनर ने आपको सच बताया। अब एक्शन का टाइम है।

3) अब सोचें क्या करना है

सिचुएशन समझ आने के बाद अब आपको अपने लिए समय निकालना है। शांत मन से सोचें कि आपको क्या करना है। सोचें कि ऐसा क्या करें कि आप उन्हें अपनी ओर खींच सकें। यह भी जानने की कोशिश करें कि उनकी लाइफ में आपसे बढ़कर क्या है। उस चीजे से अधिक महत्व आप कैसे पा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: रिश्ते में आपके साथ भी घटती हैं ये 5 बातें, समझ जाएं गलत इंसान से किया है प्यार

4) उन्हें समय दें

जब आपने प्लान बना ही लिया तो अब धीरे धीरे उस प्लान पर काम कतरें। इस बीच पार्टनर से थोड़ी दूरी बनाएं। देखें कि क्या आपकी कमी उन्हें परेशान कर रही है या नहीं। साथ ही उनसे दूर होने पर उन्हें वैल्यू भी समझ आएगी। जब आप उन्हें उनका खुद का टाइम देंगे तो वे इस बात के लिए आपके शुक्रगुजार भी होंगे।

5) खुद के लिए लिमिट सेट करें

कई बार एक पार्टनर जब जरूरत से ज्यादा चिपकू होता है तो दूसरे का इंटरेस्ट उसमें कम होने लगता है। वह खुद ही उससे दूर भागने लगता है। इसलिए आपको अपनी लिमिट सेट करनी होगी। पार्टनर हर समय, हर जगह सिर्फ आपके बारे में सोचे यह जरूरी नहीं है। इस लिमिट को सेट करने के बाद अपने आप उनके स्वभाव में आपके लिए परिवर्तन आएगा।

6) मगर इस बीच खुद को ना कहें

तमाम कोशिशों के बावजूद भी अगर आपको लगे कि रिश्ते में आपका कोई वजूद नहीं है। पार्टनर चाहकर भी आपकी ओर झुकने के लिए तैयार नहीं है। वह सेल्फिश है और रिश्ते या आपसे बढ़कर सिर्फ अपने बारे में सोचता है। तो आपको भी खुद के बारे में सोचना चाहिए। रिश्ते की आढ़ में खुद को ना खोएं। कोई सख्त कदम उठाना पड़े तो उठाएं। 


Web Title: Things that happens when your partner doesn't gives commitment in relationship, know what you can do to make him or her love you
रिश्ते नाते से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे