शिंदे सरकार के डिप्टी सीएम देवेंद्र फड़नवीस ने मंत्रालय में की ओबीसी रिजर्वेशन पर मीटिंग

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: July 1, 2022 09:43 PM2022-07-01T21:43:32+5:302022-07-01T21:50:17+5:30

महाराष्ट्र में शिंदे सरकार के डिप्टी सीएम देवेंद्र फड़नवीस ने शुक्रवार को मंत्रालय में ओबीसी आरक्षण को लेकर बैठक की। इस बैठक में महाराष्ट्र के मुख्य सचिव मनु कुमार श्रीवास्तव, भाजपा नेता प्रवीण दारेकर और डॉ संजय कुटे ने भी भाग लिया।

Shinde government's deputy CM Devendra Fadnavis held a meeting on OBC reservation in Mantralaya | शिंदे सरकार के डिप्टी सीएम देवेंद्र फड़नवीस ने मंत्रालय में की ओबीसी रिजर्वेशन पर मीटिंग

फाइल फोटो

Next
Highlightsशिंदे सरकार के गठन के बाद एक्टिव हुए डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस, मंत्रालय में की बैठकओबीसी आरक्षण पर हुई बैठक में मुख्य सचिव, भाजपा नेता प्रवीण दारेकर और डॉ संजय कुटे मौजूद थे

मुंबई:महाराष्ट्र में शिंदे सरकार के गठन के एक दिन बाद डिप्टी सीएम देवेंद्र फड़नवीस ने शुक्रवार को मंत्रालय में ओबीसी आरक्षण को लेकर बैठक की। इस बैठक में महाराष्ट्र के मुख्य सचिव मनु कुमार श्रीवास्तव, भाजपा नेता प्रवीण दारेकर और डॉ संजय कुटे ने भाग लिया।

इस साल मार्च में सुप्रीम कोर्ट ने आने वाले लोकल इलेक्शन में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण बहाल करने की महाराष्ट्र राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग की सिफारिश को मानने से इनकार कर दिया था।

महाराष्ट्र में तत्कालीन महा विकास अघाड़ी (एमवीए) गठबंधन की सरकार ने लोकल इलेक्शन में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आरक्षण की बहाली के लिए कानूनी विकल्प तलाशने का फैसला किया था। वहीं उस समय विपक्षी दल की भूमिका निभा रही भाजपा ने विधानसभा में इस मुद्दे को खूब जोर-शोर से उठाया था।

जानकारी के मुताबित नई सरकार के गठन के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने गुरुवार शाम में नई सरकार की पहली कैबिनेट बैठक की थी।

इस बैठक में महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने 2 जुलाई और 3 जुलाई को दो दिनों के लिए राज्य विधानसभा का एक विशेष सत्र बुलाने का फैसला किया था विधानसभा सत्र के दौरान नये स्पीकर का चुनाव किया जाएगा क्योंकि पिछले साल तत्कालीन स्पीकर नाना पटोले ने प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनने के कारण पद से इस्तीफे दे दिया था और तभी से सदन में स्पीकर का पद पद खाली था।

मालूम हो कि शिवसेना के 40 बागी विधायकों के समर्थन का दावा करने वाले बागी एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे के खिलाफ विद्रोह कर दिया, जिसके कारण महाराष्ट्र में 31 महीने पुरानी महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार गिर गई।

अल्पमत में आ गई उद्धव ठाकरे की सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से भी राहत नहीं मिलने के बाद पद से इस्तीफे दे दिया, जिसके एक दिन बाद यानी कल शाम एकनाथ शिंदे ने भाजपा के समर्थन से सरकार बनाई और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली।

शिंदे के शपथ से पहले साल 2014-19 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे देवेंद्र फड़नवीस ने एक प्रेस कांफ्रेंस में एकनाथ शिंदे राज्य के मुख्यमंत्री बनेंगे और वो उनकी सरकार का हिस्सा नहीं बनेंगे लेकिन एक घंटे के भीतर बदले नाटकीय घटनाक्रम में केंद्रीय नेतृत्व से मिले निर्देश के बाद देवेंद्र फड़नवीस ने बतौर डिप्टी सीएम एकनाथ शिंदे की सरकार में शामिल हुए। (समाचार एजेंसी पीटीआई के इनपुट के साथ)

Web Title: Shinde government's deputy CM Devendra Fadnavis held a meeting on OBC reservation in Mantralaya

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे