Ram Mandir Bhoomi Poojan Soil and water 41 places including Sangam, Shringverpur, Sitamarhi departs Ayodhya online national prayer America | राम मंदिर भूमि पूजन: संगम, श्रृंगवेरपुर, सीतामढ़ी सहित 41 स्थानों से मिट्टी और जल अयोध्या रवाना, अमेरिका में ऑनलाइन राष्ट्रीय प्रार्थना
तीर्थ पुरोहितों ने शुक्रवार को यमुनोत्री धाम की मिट्टी, यमुना नदी का पानी और हिमालयी क्षेत्र में उगने वाला ब्रह्म कमल फूल भेजा। (file photo)

Highlightsमंदिर का भूमि पूजन प्रस्तावित है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और देश के कई उद्योगपतियों के शामिल होने का कार्यक्रम है।अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन के अवसर पर उत्तर अमेरिका के हिंदू मंदिरों में ऑनलाइन राष्ट्रीय प्रार्थना का आयोजन किया जाएगा। शुभ अवसर पर अमेरिका, कनाडा और कैरिबियाई द्वीपों के मंदिर भूमि पूजन की पूर्व संध्या पर भगवान राम के ‘चरणकमल’ में सेवा देंगे।

प्रयागराज/अयोध्याः अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए संगम, श्रृंगवेरपुर, दुर्वासा आश्रम, सीतामढ़ी सहित 41 स्थानों से मिट्टी और जल एकत्र करके विश्व हिंदू परिषद के प्रांत संगठन मंत्री मुकेश कुमार और धर्माचार्य प्रमुख शंभू अयोध्या के लिए रवाना हुए।

यह जानकारी देते हुए विहिप के मीडिया प्रभारी अश्वनी मिश्र ने बताया कि जहां-जहां प्रभु श्री राम के पग पड़े हैं, ऐसे पूज्य स्थलों की मिट्टी और जल का अयोध्या में भूमिपूजन में उपयोग होकर वे सभी इतिहास का हिस्सा बनेंगे। उन्होंने बताया कि अयोध्या के लिए कुछ कार्यकर्ता भी साथ गए जिन्हें वहां पूज्य संतों की व्यवस्था में लगाया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि पांच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन प्रस्तावित है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और देश के कई उद्योगपतियों के शामिल होने का कार्यक्रम है। 

अयोध्या में भूमि पूजन के अवसर पर अमेरिका में होगी ऑनलाइन राष्ट्रीय प्रार्थना

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन के अवसर पर उत्तर अमेरिका के हिंदू मंदिरों में ऑनलाइन राष्ट्रीय प्रार्थना का आयोजन किया जाएगा। धार्मिक समूहों ने यह जानकारी दी। हिंदू मंदिर एग्जिक्यूटिव्ज कॉन्फ्रेंस (एचएमईसी) और हिंदू मंदिर प्रीस्ट्स कॉन्फ्रेंस (एचएमपीसी) ने जारी कर अयोध्या में होने वाले ‘‘श्री राम मंदिर भूमि पूजन’’ के अवसर पर पूरे अमेरिका में एक साथ राष्ट्रीय प्रार्थना करने का आह्वान किया।

इसमें कहा गया कि इस शुभ अवसर पर अमेरिका, कनाडा और कैरिबियाई द्वीपों के मंदिर भूमि पूजन की पूर्व संध्या पर भगवान राम के ‘चरणकमल’ में सेवा देंगे। कैलिफोर्निया के बे इलाके में शिव दुर्गा मंदिर के संस्थापक, अध्यक्ष एवं आचार्य पंडित कृष्ण कुमार पांडेय ने कहा, ‘‘वैश्विक हिंदू समुदाय के लिए पांच अगस्त 2020 का ऐतिहासिक समारोह नए युग की शुरुआत है। हमें इस दिन को अब से एक त्योहार के रूप में मनाना चाहिए।’’

अमेरिका में विश्व हिंदू परिषद ने कहा कि पांच अगस्त को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में मंदिर की आधारशिला रखेंगे तब उस अवसर पर प्रार्थनाओं का आयोजन किया जाएगा। उत्तर अमेरिका में सामूहिक मंत्रोच्चारण होगा, जिसके बाद अनूप जलोटा और संजीवनी भेलांडे का भजन सुना जाएगा।

यमुनोत्री की मिट्टी, यमुना का जल अयोध्या रवाना

अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास समारोह के लिए तीर्थ पुरोहितों ने शुक्रवार को यमुनोत्री धाम की मिट्टी, यमुना नदी का पानी और हिमालयी क्षेत्र में उगने वाला ब्रह्म कमल फूल भेजा। यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर उनियाल ने बताया कि पुजारियों ने ये चीजें विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों को सौंपी जो उन्हें उत्तर प्रदेश के अयोध्या ले जाएंगे।

उनियाल ने कहा, ‘‘मंदिर के पुजारियों के लिए यह बहुत खुशी की बात है कि यमुनोत्री की मिट्टी, यमुना नदी का पानी और ब्रह्म कमल को राम मंदिर की नींव के लिए अयोध्या भेजा जा रहा है।’’ गंगोत्री मंदिर के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल ने कहा कि गंगोत्री धाम की मिट्टी और गंगाजल को तांबे के पात्र में पैक करने के बाद मंगलवार को स्पीड पोस्ट से अयोध्या भेज दिया गया। राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन अयोध्या में पांच अगस्त को होने वाला है और इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शामिल होने की उम्मीद है।

Web Title: Ram Mandir Bhoomi Poojan Soil and water 41 places including Sangam, Shringverpur, Sitamarhi departs Ayodhya online national prayer America
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे