राष्ट्रीय पुस्तक न्याय ने युवा लेखकों से युवा दिग्दर्शन योजना में भाग लेने का किया आह्वान

By भाषा | Published: June 15, 2021 09:48 PM2021-06-15T21:48:55+5:302021-06-15T21:48:55+5:30

National Book Nyay calls upon young writers to participate in the youth guidance scheme | राष्ट्रीय पुस्तक न्याय ने युवा लेखकों से युवा दिग्दर्शन योजना में भाग लेने का किया आह्वान

राष्ट्रीय पुस्तक न्याय ने युवा लेखकों से युवा दिग्दर्शन योजना में भाग लेने का किया आह्वान

Next

नयी दिल्ली, 15 जून राष्ट्रीय पुस्तक न्यास (एनबीटी) ने मंगलवार को युवा लेखकों से स्वतंत्रता सेनानियों एवं संबंधित विषयों पर पुस्तकें लिखने के लिए युवा दिग्दर्शन योजना के तहत वर्तमान प्रतिस्पर्धा में भाग लेने का आह्वान किया ।

प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गयी युवा दिग्दर्शन योजना का उद्देश्य 30 साल से कम उम्र के लेखकों का मार्गदर्शन करना तथा उन्हें देश में पाठन, लेखन एवं पुस्तक संस्कृति को बढ़ावा देने एवं परियोजना भारत एवं वैश्विक भारतीय लेखन के लिए प्रशिक्षित करना है।

एनबीटीइंडिया डॉट जीओवी डॉट इन के माध्यम से एक से 31 जुलाई के बीच होने वाली अखिल भारतीय प्रतिस्पर्धा से कुल 75 लेखकों का चयन किया गया। विजेताओं की घोषणा 15 अगस्त को की जाएगी।

एनबीटी के निदेशक युवराज मलिक ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ यह युवा लेखकों के लिए न केवल प्रकाशित होने बल्कि पुस्तक के अंतिम आकार लेने तक मागदर्शन पाने का रोमांचकारी मौका है। अंग्रेजी एवं भारत की 22 भाषाओं के चयनित युवा लेखक दुनिया के कुछ सर्वश्रेष्ठ लेखकों के साथ संवाद करेंगे, साहित्य उत्सव एवं पुस्तक मेले में भाग लेंगे। इस योजना के तहत तैयार पुस्तकें हमारे द्वारा प्रकाशित की जाएंगी और उनका अन्य भारतीय भाषाओं में अनुवाद किया जाएगा ताकि संस्कृति एवं साहित्य का विनिमय हो।’’

प्रतिस्पर्धियों से 5000 शब्दों में अपनी पांडुलिपियां देने को कहा गया है। मलिक ने कहा, ‘‘इस दिग्दर्शन योजना के तहत प्रति लेखक छह माह तक प्रति माह 50000 रूपये समेकित छात्रवृति दी जाएगी। साथ ही इस कार्यक्रम के समापन के बाद उनकी पुस्तकों के सफल प्रकाशन पर लेखकों को 10 फीसद रॉयल्टी दी जाएगी।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: National Book Nyay calls upon young writers to participate in the youth guidance scheme

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे