Nagpur covid coronavirus Up to 7 school colleges and weekly markets remain closed corona infected  | नागपुर में 7 तक स्कूल-कॉलेज और साप्ताहिक बाजार रहेंगे बंद, कई शहरों में कोरोना संक्रमितों की संख्या में उछाल
7 मार्च तक स्कूल-कॉलेज, कोचिंग क्लासेस, प्रशिक्षण संस्थान व अन्य समकक्ष संस्थान बंद रहेंगे. (file photo)

Highlightsपूरे राज्य में कोविड-19 जांच के लिए चलती-फिरती (मोबाइल)प्रयोगशाला की सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी.मुंबई में ही 8 फरवरी से उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 36.38 प्रतिशत वृद्धि हुई है.जिला प्रशासन ने फिलहाल संपूर्ण लॉकडाउन को टालते हुए उन स्थानों पर ध्यान केंद्रित करने का फैसला किया है.

नागपुरः राजधानी मुंबई समेत राज्य के कई शहरों में कोरोना संक्रमितों की संख्या फिर तेजी से बढ़ने लगी है. केवल मुंबई में ही 8 फरवरी से उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 36.38 प्रतिशत वृद्धि हुई है, जिससे कोरोना की दूसरी लहर की आशंका प्रबल हो गई है.

अन्य शहरों में भी नए मामले सामने आ रहे हैं. नागपुर में कोविड संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. पुन: लॉकडाउन की नौबत आ गई है. हालांकि मनपा और जिला प्रशासन ने फिलहाल संपूर्ण लॉकडाउन को टालते हुए उन स्थानों पर ध्यान केंद्रित करने का फैसला किया है, जहां भीड़ जुट रही है.

शनिवार एवं रविवार को जिले में सभी बाजार बंद रहेंगे

इसी कड़ी में 7 मार्च तक स्कूल-कॉलेज एवं साप्ताहिक बाजार बंद रखने का फैसला लिया गया है. शनिवार एवं रविवार को जिले में सभी बाजार बंद रहेंगे. पालकमंत्री नितिन राऊत, विभागीय आयुक्त डॉ. संजीव कुमार, जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे, मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी. की मौजूदगी में आयोजित बैठक में यह फैसला लिया गया. बैठक के बाद मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी. ने आदेश जारी कर आंशिक पाबंदियां लागू करने की घोषणा की.

पुन: आरंभ होंगे कोविड सेंटरः 2020 में स्थापित किए गए कोविड केयर सेंटरों को कोविड संक्रमण कम होने पर बंद किया गया था. बहरहाल अब स्थिति को देखते हुए इन्हें पुन: आरंभ करने का फैसला लिया गया है, गृह संपर्क बढ़ाकर फ्लू, आईएलटी व सारी की जांच की जाएगी. प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य मशीनरी को हॉटस्पॉट वाले इलाकों पर ध्यान केंद्रित करने का निर्देश दिया गया है. शासकीय एवं निजी प्रयोगशालाओं को पूर्ण क्षमता से टेस्टिंग के नमूनों की जांच के आदेश दिए गए हैं. विभागीय आयुक्त रोज हालात की समीक्षा करेंगे.

महत्वपूर्ण फैसलेः 7 मार्च तक स्कूल-कॉलेज, कोचिंग क्लासेस, प्रशिक्षण संस्थान व अन्य समकक्ष संस्थान बंद रहेंगे. संबंधित अवधि में ऑनलाइन व्यवस्था बहाल रहेगी. सभी बाजार शनिवार-रविवार बंद रहेंगे. (अत्यावश्यक सेवा, समाचार पत्र, दूध, सब्जी, औषधि एवं पेट्रोल पंप छोड़कर) साप्ताहिक बाजार 7 मार्च तक बंद रहेंगे.

होटल-रेस्टॉरेंट को 50 फीसदी क्षमता के साथ रात 9 बजे तक आरंभ रखने की अनुमति. 25 फरवरी से शहर के सभागृह, मंगल कार्यालय, लॉन आदि में होने वाले विवाह समारोह पर रोक लगाई गई है. 7 मार्च तक यह रोक जारी रहेगी.

छगन भुजबल भी पॉजीटिवः इस महीने संक्रमित होने वाले सातवें मंत्री राज्य के अन्न व नागरिक आपूर्ति मंत्री तथा नासिक जिले के पालक मंत्री छगन भुजबल संक्रमित हो गए हैं. उन्होंने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी. पिछले दो दिनों में उनके संपर्क में आए लोगों से उन्होंने संक्रमण की जांच कराने की अपील की है. इस महीने संक्रमित होने वाले भुजबल राज्य के सातवें मंत्री हैं. इस महीने की शुरुआत में महाराष्ट्र के मंत्री अनिल देशमुख, राजेंद्र शिंगणे, जयंत पाटिल, राजेश टोपे, सतेज पाटिल और बच्चू कडू संक्रमित पाए गए. पिछले साल, उपमुख्यमंत्री अजित पवार समेत राज्य के 12 से ज्यादा मंत्री संक्रमित हो गए थे. 

मध्य प्रदेश में महाराष्ट्र से आने वालों की होगी कोरोना जांचः मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महाराष्ट्र से लगे सभी जिलों में आने वाले व्यक्तियों की कोरोना जांच करने के निर्देश दिए हैं. शिवराज ने कहा कि शिवरात्रि पर होने वाले मेलों के संबंध में सतर्कता जरूरी है.

उन्होंने महाराष्ट्र से लगे जिलों में आयोजित होने वाले मेलों में सहभागिता के संबंध में आरटी-पीसीआर के परीक्षण की अनिवार्यता किए जाने की बात कही. राजधानी भोपाल और इंदौर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बाद सरकार सतर्क हो गई है. शिवराज ने सोमवार को संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर समीक्षा बैठक की.

मृतकों के अंतिम संस्कार में  नहीं हो रहा नियमों का पालन

कोविड संक्रमण की वजह से विदर्भ में पुन: चिंता का वातावरण बन गया है. लेकिन कोविड प्रतिबंधक नियमों के पालन को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है. कोविडग्रस्त मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए शासन ने मार्गदर्शक प्रणाली निर्धारित की है. लेकिन लोकमत समाचार की ओर से किए गए सर्वेक्षण में पाया गया है कि नियमों को धता बताकर कोविड बाधित मृतकों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है. कोविड-19 से मरीज की मृत्यु होने पर उसके अंतिम संस्कार के लिए कठोर नियमावली तय है.

मुंबई, नासिक, पुणे के रेलवे  स्टेशनों पर उमड़ी भीड़

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच पुन: लॉकडाउन की आशंका प्रबल हो गई है. पाबंदियां और सख्ती बढ़ाए जाने से लॉकडाउन हटाए जाने के बाद बड़ी संख्या में महानगर लौटे मजदूरों एवं लोगों में घबराहट फैल गई है. रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड पर फिर से भीड़ जुटने लगी है. लोग जल्द घर लौटना चाहते हैं. रेलवे स्टेशनों के रिजर्वेशन काउंटर पर बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं.

Web Title: Nagpur covid coronavirus Up to 7 school colleges and weekly markets remain closed corona infected 

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे