Lockdown: 20 special trains carrying migrant workers stuck in Madhya Pradesh | Lockdown: प्रवासी श्रमिकों को ले जारी रही 20 विशेष ट्रेनें मध्य प्रदेश में अटकीं
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

Highlightsमहाराष्ट्र और गुजरात से प्रवासी श्रमिकों को लेकर जा रही लगभग 20 विशेष रेलगाड़ियां कुछ तकनीकी समस्याओं और आगे जाने के लिए सिग्नल नहीं मिलने के कारण शुक्रवार की सुबह से मध्य प्रदेश के बुरहानपुर और खंडवा जिले में विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर रुकी हुई हैं।अधिकारियों ने बताया कि उत्तर की ओर जाने वाली प्रवासी श्रमिकों की ये विशेष ट्रेन महाराष्ट्र और गुजरात से चलने के बाद मध्य प्रदेश पहुंची हैं।

महाराष्ट्र और गुजरात से प्रवासी श्रमिकों को लेकर जा रही लगभग 20 विशेष रेलगाड़ियां कुछ तकनीकी समस्याओं और आगे जाने के लिए सिग्नल नहीं मिलने के कारण शुक्रवार की सुबह से मध्य प्रदेश के बुरहानपुर और खंडवा जिले में विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर रुकी हुई हैं। अधिकारियों ने बताया कि उत्तर की ओर जाने वाली प्रवासी श्रमिकों की ये विशेष ट्रेन महाराष्ट्र और गुजरात से चलने के बाद मध्य प्रदेश पहुंची हैं।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उन्होंने अधिकारियों को इन अटकी हुई ट्रेनों के यात्रियों के लिए भोजन और पानी की व्यवस्था करें। खंडवा कलेक्टर अनय द्विवेदी ने बताया कि प्रवासी श्रमिकों को बिहार और उत्तर प्रदेश ले जाने वाली छह ट्रेनें कुछ तकनीकी खराबी के कारण खंडवा में और कुछ को ट्रेनों को बुरहानपुर में रोक दिया गया है।

उन्होंने बताया, ‘‘सिग्नल नहीं मिलने के कारण कई विशेष ट्रेनों को रोक दिया गया है। प्रशासन यात्रियों को पानी और भोजन देने की व्यवस्था कर रहा है।’’

बुरहानपुर के कलेक्टर प्रवीण सिंह अध्याच ने कहा कि सिग्नल नहीं मिलने के कारण जिले के विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर प्रवासी मजदूरों को ले जा रही कम से कम 12 ट्रेनों को रोक दिया गया है। उन्होंने बताया कि भुसावल रेलवे मंडल के अधिकारियों से बातचीत के बाद 21 अन्य श्रमिक विशेष ट्रेनों के मार्गो को नागपुर की तरफ मोड़ दिया गया है।

अध्याच ने कहा कि प्रशासन द्वारा यात्रियों को भोजन और पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। इस बीच, भोपाल रेल मंडल के एक अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि महाराष्ट्र और गुजरात से आने वाली श्रमिक विशेष ट्रेनों की संख्या में इजाफा हुआ है। इसके अलावा रेलवे को इन विशेष ट्रेनों में यात्रियों को विभिन्न स्टेशनों पर भोजन और पानी के व्यवस्था करने में समय लगता है तथा इसके लिए विशेष ट्रेनों को स्टेशनों के एक नम्बर प्लेटफार्म पर ही ठहराना होता है। इससे इन ट्रेनों को आगे बढ़ने में देर होती है और इसलिए इन विशेष ट्रेनों को अगले स्टेशनों से मंजूरी मिलने में देरी हो रही है।

बुरहानपुर रेलवे स्टेशन के प्रबंधक विनय मेहता ने कहा कि लगभग 20 विशेष ट्रेनों को सिग्नल नहीं मिलने के कारण खंडवा-भुसावल के बीच रेल खंड के विभिन्न स्टेशनों पर रोक दिया गया है।

इस बीच इस मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान ने अपने ट्वीट में विभिन्न स्टेशनों पर ट्रेनों के रुके होने की जानकारी देते हुए शुक्रवार को कहा, ‘‘आज नागरिकों को लेकर हमारे प्रदेश से गुज़र रही कुछ ट्रेन बुरहानपुर में अलग-अलग जगहों पर तकनीकी खामी के कारण रुकी हुई हैं। तपती धूप में यात्रियों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके लिए ज़िला कलेक्टर, प्रशासन और स्थानीय नागरिक अविलंब सेवा कार्य में जुटे हुए हैं।''

उन्होंने कहा, ''प्रशासन ने यात्रियों के लिए पानी, भोजन और फल की व्यवस्था की है। ग्रामीण लोगों ने भी आगे आकर स्वयं भोजन पकाकर यात्रियों में बाँटा।ऐसे कठिन समय में आम लोगों और स्थानीय प्रशासन के लोगों ने मानव सेवा के अपने कर्तव्य का उचित रूप से पालन किया, जिसके लिए मैं सभी को धन्यवाद देता हूँ।''

Web Title: Lockdown: 20 special trains carrying migrant workers stuck in Madhya Pradesh
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे