congress attack on arun jaitley asked who is the finance minister of the country | अरुण जेटली के पोस्ट पर कांग्रेस का जवाब, पूछा- देश का वित्त मंत्री कौन?

नई दिल्ली, 13 जुलाई:  वित्तमंत्री अरुण जेटली के फेसबुक पोस्ट पर कांग्रेस ने उनको आड़े हाथों लिया है।  जेटली के विभिन्न मुद्दों पर फेसबुक पोस्ट लिखे जाने को लेकर उन पर कटाक्ष किया और कहा कि वह एक फेसबुक पोस्ट के जरिये यह बताएं कि मौजूदा समय में देश का वित्त मंत्री कौन है? पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि जेटली को देश की वर्तमान आर्थिक स्थिति पर भी एक फेसबुक पोस्ट लिखना चाहिए। 

जेटली ने हाल ही नें फेसबुक पर लिखा था कि 'कांग्रेस गव नारे ग्रामीण भारत - प्रधान मंत्री मोदी गव संसाधन'। उन्होंने कहा कि 1970 व 1980 के दशक में कांग्रेस ने ठोस नीतियां देने के बजाय लोकलुभावन नारों का मॉडल अपनाया। गरीबों के कल्याण पर वास्तविक खर्च काफी कम रहा। ऐसे में कांग्रेस ने कहा है कि जेटली जी, कृपया एक फेसबुक पोस्ट लिखकर स्पष्ट करिए कि देश का वित्त मंत्री कौन है।

 देश के लोगों को पता लगना चाहिए है कि वह व्यक्ति कौन है जो देश की अर्थव्यवस्था को इस दयनीय स्थिति में ले गया है। कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने जेटली पर हमला करते हुए कहा है कि कृपया अर्थव्यवस्था की मौजूदा स्थिति के बारे में लिखिए, खुदरा महंगाई दर गिर गई, औद्योगिक उत्पादन गिर गया। 

सुरजेवाला ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं, छोटे कारोबारी परेशान हैं, अर्थव्यवस्था की इस हालत के बारे में देश को बताइए।  कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि  विदेश मंत्री समझ नहीं पातीं कि उन ट्रोल से खुद का कैसे बचाव किया जाए जिनको प्रधानमंत्री फॉलो करते हैं, ऐसा लगता है कि कोई सरकार ही नहीं है।

वहीं, जेटली ने लिखा था कि कांग्रेस ने ग्रामीण भारत को नारे दिए , प्रधानमंत्री मोदी ने संसाधन दिए ’ में कहा है , ‘ यदि हम अनुमानित दर से आगे बढ़ते रहे , तो इस बात की काफी संभावना है कि अगले साल हम ब्रिटेन से आगे होंगे। ’’ जेटली ने कह कि पिछले चार साल के दौरान हम दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था रहे , अगले दशक को हम आर्थिक विस्तार के रूप में देख सकते हैं। 

विश्व बैंक की एक ताजा रपट में कहा गया है कि फ्रांस को पीछे छोड़कर भारत दुऩिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। अमेरिका शीर्ष पर है। उसके बाद चीन , जापान , जर्मनी और ब्रिटेन का नंबर आता है। वर्ष 2017 के अंत तक भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 2,597 अरब डॉलर रहा। वही फ्रांस का जीडीपी 2,582 अरब डॉलर था।