वे पांच किताबें, जिन्हें एशिया के शीर्ष उद्योगपति मुकेश अंबानी ने पढ़ी, कहा इनसे और भी ज्यादा अमीर बनने में मिली मदद

By आजाद खान | Published: December 20, 2021 02:11 PM2021-12-20T14:11:31+5:302021-12-20T14:20:01+5:30

दुनिया के 12वें सबसे बड़े उद्योगपति और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने बताया कि ये ऐसी किताबें जो उन्हें 2022 के लिए तैयार कर रही हैं।

business news ril chairman Mukesh Ambani claims in bloomberg interview these 5 books helped him to grow more rich in 2021 will follow in 2022 | वे पांच किताबें, जिन्हें एशिया के शीर्ष उद्योगपति मुकेश अंबानी ने पढ़ी, कहा इनसे और भी ज्यादा अमीर बनने में मिली मदद

वे पांच किताबें, जिन्हें एशिया के शीर्ष उद्योगपति मुकेश अंबानी ने पढ़ी, कहा इनसे और भी ज्यादा अमीर बनने में मिली मदद

Next
Highlightsइस वक्त 87.1 अरब डॉलर दौलत के मालिक हैं अंबानी।साल भर में दौलत में 10.4 अरब डॉलर का हुआ इजाफा।कहा कि इन किताबों को पढ़ने से बेहतर महसूस करता हूं।

भारत:रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने अपने एक इंटरव्यू में 5 ऐसे किताबों का नाम लिया जो 2021 में उन्हें और भी अमीर बनने में उनकी खूब मदद की है। मुकेश अंबानी ने यह भी कहा कि ये ऐसी किताबें हैं जो उन्हें 2022 के लिए भी तैयार कर रही है। मुकेश अंबानी दुनिया के 12वें सबसे अमीर शख्सियत है। यही नहीं वे भारत और एशिया के सबसे बड़े बिजनेस मैन है। ब्लूमबर्ग बिलियेनियर इंडेक्स के मुताबिक, इस वक्त मुकेश अंबानी की दौलत 87.1 अरब डॉलर है। पिछले एक साल में उनकी दौलत 10.4 अरब डॉलर बढ़ी है। मुकेश अंबानी ने हाल में ब्लूमबर्ग को एक इंटरव्यू दिया है, जिसमें उन्होंने अपने से जुड़े कई सवालों का जवाब दिया है। उनसे जब उन्हें प्रेरणा देने वाली किताबों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने 5 ऐसे किताबों के बारे में बताया जो उन्हें 2021 में काफी प्रभावित की है। तो आइए जानते है कि कौन है वे 5 किताबें, जिसने मुकेश अंबानी को 2021 में और अमीर बनाया है।

पहली किताब- ​'टेन लेसन्स फॉर ए पोस्ट पैनडेमिक वर्ल्ड'

फरीद जकारिया की लिखी इस किताब में उन्होंने बताया है कि कोविड-19 महामारी और हाल के दिनों की कुछ विनाशकारी घटनाओं के बीच कुछ साम्यता भी है। उनके मुताबिक वैश्विक संकट अस्थिर जीवनशैली और कमजोर शासन व्यवस्था की वजह से जन्म लेते हैं। इससे निपटने के लिए जरूरी है कि कुशल नेतृत्व, जीवन शैली में बदलाव और प्रभावी अंतरराष्ट्रीय सहयोग हो।

दूसरी किताब- 'प्रिंसिपल्स फॉर डीलिंग विद द चेंजिंग वर्ल्ड ऑर्डर: व्हाई नेशंस सक्सीड एंड फेल'

लेखक रे डेलियो की लिखी इस किताब में पांच सौ से अधिक वर्षों के इतिहास में प्रमुख देशों की सफलताओं और विफलताओं के बारे में बताया गया है। इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि भविष्य कैसा हो सकता है।

तीसरी किताब- '​द रेजिंग 2020: कंपनीज, कंट्रीज, पीपुल एंड द फाइट फॉर अवर फ्यूचर'

एलेक रॉस की इस किताब में कई बड़ी हस्तियों के साक्षात्कार हैं। वे बताए हैं कि दशकों तक आधुनिक व्यवस्था को बनाए रखने और आज के डिजिटल युग में उसे मौलिक बदलाव लाने में क्या-क्या हुआ और कैसे हुआ।

चौथी किताब- '2030: हाउ टूडेज बिगेस्ट ट्रेंड्स विल कोलाइड एंड रिशेप द फ्यूचर ऑफ एवरीथिंग'

लेखक मौरो गुइलेन ने इस किताब में बताया है कि 2030 में दुनिया कैसी रहेगी। इसमें आर्थिक, सामाजिक और बदलती तकनीकी का क्या प्रभाव पड़ेगा, उसका विश्लेषण और व्यावहारिक समझ को व्यक्त किया गया है।

पांचवी किताब- 'बिग लिटिल ब्रेकथ्रेाज: हाउ स्मॉल, एवरीडे, इनोवेशंस ड्राइव ओवरसाइज्ड रिजल्ट्स'

लेखक जोश लिंकर ने इस किताब में बताया है कि कठिन चुनौतियों और व्यवस्था की दिक्कतों से कैसे निपटा जा सकता है। कोविड-19 खत्म होने के बाद दुनिया के सामने जो नई चुनौतियां है, उनसे निपटने के लिए क्या किया जाना चाहिए।

Web Title: business news ril chairman Mukesh Ambani claims in bloomberg interview these 5 books helped him to grow more rich in 2021 will follow in 2022

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे