BSF soldier has lost his life in ceasefire violation and two civilian injured by Pakistan in RS Pura sector | J&K: PM मोदी के दौरे से पहले पाक लगातार कर रहा नापाक हरकत, एक जवान शहीद, दो स्थानीय नागरिक घायल

नई दिल्ली, 18 मईः पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। उसने लगातार तीसरे दिन जम्मू-कश्मीर के आरएस पुरा सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन किया है। इस दौरान एक जवान शहीद हो गया है, जबकि एक जवान सहित 2 स्थानीय नागरिक घायल हो गए हैं। तीनों घायल नागिरकों का अस्पताल में इलाज चल रहा है, जहां उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है।



खबरों के अनुसार, पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघन से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का एक जवान शहीद हुआ है, जिसका नाम सीताराम उपाध्याय है। वह कांस्टेबल पद पर तैनात था। उसके परिवार में पत्नी सहित तीन साल की एक बेटी और एक साल का बेटा है। 



प्रशासन की ओर से सीजफायर के बाद 3 किलोमीटर सीमा क्षेत्र में सभी स्कूलों को बंद करने की घोषणा की गई है। वहीं, पुलिस अधीक्षक आसी कोटवाल का कहना है कि गोलीबारी अभी भी जारी है। उन्होंने कहा है कि घायल हुए स्थानीय नागरिकों की हर संभव मदद की जाएगी।


मालूम हो कि बुधवार रात को सांबा और कठुआ जिलों में अंतरराष्ट्रीय सीमा के निकट पाकिस्तानी रेंजरों ने रातभर 15 सीमा चौकियों और कुछ रिहायशी इलाकों पर गोलीबारी की और मोर्टार दागे। इसमें बीएसएफ का एक जवान घायल हो गया था। बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि सीमा पर तैनात बीएसएफ के जवानों ने भी जवाबी गोलीबारी की।

इससे पहले 16 मई को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में बुधवार को आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों के ऊपर फायरिंग कर दी, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने वन्य क्षेत्र होने के चलते सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था। पूरे इलाके की आवाजाही रोक दी गई थी और फायरिंग कर भागे आतंकियों की तलाश की।

आपको बता दें, कठुआ जिले में सोमवार सीमा पर संदिग्ध आतंकवादियों की गतिविधियों का पता चलने के बाद जम्मू क्षेत्र में हाई अलर्ट जारी किया गया था। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से पहले राज्य में हाई अलर्ट जारी हो गया था। मोदी 19 मई को राज्य के दौरे पर आ रहे हैं, जिसके चलते सुरक्षाबल पीएम मोदी के दौरे को लेकर खासी सतर्कता बरत रहे हैं। 

English summary :
Border Security Force (BSF) has lost a young man, martyr Sitaram Upadhyay, in violation of Pakistan's ceasefire. He was posted on the constable post.