विधानसभा चुनावः कांग्रेस आंतरिक सर्वे में खुलासा, पंजाब और उत्तराखंड में बनेगी सरकार, जानें उत्तर प्रदेश, गोवा और मणिपुर का हाल

By शीलेष शर्मा | Published: October 18, 2021 06:30 PM2021-10-18T18:30:39+5:302021-10-18T18:33:05+5:30

Assembly elections: अमरिंदर सिंह के कांग्रेस से बगावत कर देने के कारण पूर्व सीएम के प्रभाव वाले क्षेत्रों में पराजय का सामना करना पड़ सकता है। 

Assembly elections Congress internal survey government Punjab and Uttarakhand condition of Uttar Pradesh, Goa and Manipur | विधानसभा चुनावः कांग्रेस आंतरिक सर्वे में खुलासा, पंजाब और उत्तराखंड में बनेगी सरकार, जानें उत्तर प्रदेश, गोवा और मणिपुर का हाल

उत्तर प्रदेश में सर्वेक्षण की रिपोर्ट कहती है कि कांग्रेस पिछले चुनावी नतीज़ों की तुलना में काफी बेहतर प्रदर्शन करेगी।

Next
Highlightsकांग्रेस द्वारा कराये गये आंतरिक सर्वेक्षण के नतीजों से पार्टी नेतृत्व ने राहत की सांस ली है।उत्तराखंड में कांग्रेस पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने की  स्थिति में है, जबकि पंजाब में कांग्रेस सरकार की वापसी होगी।117 सीटों वाली पंजाब विधानसभा में सरकार बनाते समय कांग्रेस विधायकों की संख्या 79 थी।

नई दिल्लीः पांच राज्य में विधानसभा चुनाव होने जा रहा है। उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में 2022 में वोट डाले जाएंगे। हर दल आंतरिक सर्वे कर रहे हैं।

इस बीच राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों का रुख भांपने के लिए कांग्रेस द्वारा कराये गये आंतरिक सर्वेक्षण के नतीजों से पार्टी नेतृत्व ने राहत की सांस ली है। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार पार्टी के चुनाव पूर्व कराये गये सर्वेक्षण की रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तराखंड में कांग्रेस पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने की  स्थिति में है, जबकि पंजाब में कांग्रेस सरकार की वापसी होगी।

परन्तु उसकी वर्तमान सीटों की संख्या घट सकती है। उल्लेखनीय है कि 117 सीटों वाली पंजाब विधानसभा में सरकार बनाते समय कांग्रेस विधायकों की संख्या 79 थी। आप के पास 16 विधायकों का समर्थन प्राप्त था। अन्य दलों की संख्या 18 थी, जिनमें शिरोमणि अकाली दल के 13 और भाजपा के दो विधायक शामिल थे।

अमरिंदर सिंह के कांग्रेस से बगावत कर देने के कारण कांग्रेस को अमरिंदर के प्रभाव वाले क्षेत्रों में पराजय का सामना करना पड़ सकता है। उत्तर प्रदेश में सर्वेक्षण की रिपोर्ट कहती है कि कांग्रेस पिछले चुनावी नतीज़ों की तुलना में काफी बेहतर प्रदर्शन करेगी, जिससे उसकी सीटों की संख्या कई गुना बढ़ सकती है।

पिछले चुनाव में कांग्रेस केवल 7 सीटें ही जीत सकी थी लेकिन प्रियंका गांधी की सक्रियता से संघठन को जो मज़बूती मिली उससे पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल मज़बूत हुआ है। प्रदेश के एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने खुलासा किया कि भाजपा को पराजित करने के लिये चुनिंदा सीटों पर सपा और कांग्रेस दोस्ताना संघर्ष करेंगे।

जहां कांग्रेस मज़बूत होगी वहां सपा अपना कमज़ोर उम्मीदवार उतारेगी और जहां सपा मज़बूत होगी वहाँ कांग्रेस का कमज़ोर उम्मीदवार होगा। पार्टी सूत्रों का कहना था कि यदि चुनाव परिणाम सर्वेक्षण के अनुरूप आते हैं तो चुनाव बाद सपा और कांग्रेस मिलकर सरकार बनाने की कोशिश करेंगे। अन्य राज्यों से मिली रिपोर्ट के अनुसार फिलहाल कांग्रेस के लिए चुनाव परिणामों को ले कर कोई अच्छे संकेत नहीं मिले हैं। 

Web Title: Assembly elections Congress internal survey government Punjab and Uttarakhand condition of Uttar Pradesh, Goa and Manipur

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे