स्वाइन फ्लू (Swine Flue) ने देशभर में कहर बरपाया हुआ है। देश में पिछले 40 दिनों में 250 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। हैरानी की बात यह है कि इस बीमारी ने पिछले तीन दिनों में 30 से ज्यादा लोगों की सांस रोक दी हैं। सबसे ज्यादा 96 मौत राजस्थान में हुई हैं और यहां एच1एन1 (H1N1) के 2706 मामले देखे गए हैं। 

स्वाइन फ्लू से 96 की मौत (swine flu in Rajasthan)

नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (NCDC) के आंकड़ों के अनुसार, देशभर के कुल स्वाइन फ्लू के मामलों में राजस्थान में 7 जनवरी तक एन1एच1 के सबसे अधिक 2607 मामले सामने आए हैं। राज्य में अब तक 96 लोगों की मौत हुई है।  

गुजरात में स्वाइन फ्लू से 54 मौत

इस संक्रामक बीमारी से गुजरात में अब तक 54 लोगों की मौत की खबरें हैं. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, यहां 1187 मामले सामने आए हैं। 

दिल्ली में स्वाइन फ्लू से 12 की मौत (swine flu in delhi 2019)

राजधानी दिल्ली में स्वाइन फ्लू से अब तक 6 लोगों की मौत हो गई है। राजधानी में  एच1एन1 पीड़ित लोगों की संख्या 1409 तक पहुंच गई है।

इधर हरियाणा और तेलंगाना में भी स्वाइन के मामले 589 और 390 हो गए हैं और यहां दो लोगों के मरने की खबर है।  

पंजाब में स्वाइन फ्लू (swine flu in Punjab)

पंजाब में स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या 30 हो गई है और 301 नए मामले सामने आए हैं जबकि मध्य प्रदेश में मृतकों की संख्या 16 और नए मामलों की संख्या 81 हो गई है। इधर महाराष्ट्र में 13 लोगों के मरने की खबर है और यहां वायरस के नए मामले 197 हो गए हैं।

तेलंगाना में स्वाइन फ्लू का कहर (swine flu Hyderabad)

तेलंगाना में पीड़ितों का संख्या 245 पहुंच गई है हालांकि यहां किसी की मौत की खबर नहीं आई है। 

स्वाइन फ्लू क्या है (what is swine flu and H1N1 virus)

स्वाइन फ्लू एक प्रकार का वायरल बुखार है जो एच1एन1 वायरस से फैलता है। ठंड की वजह से स्वाइन फ्लू का वायरस और घातक हो जाता है। वातावरण में नमी बढ़ने के साथ ही ये ज्यादा तेजी से फैलने लगता है। यही वजह है कि मौसम के बदलने से इसके मरीजों की संख्या भी बढ़ जाती है। इसे इन्फ्लूएंजा भी कहा जाता है।

स्वाइन फ्लू के लक्षण (symptoms of swine flu in India)

नाक बहना, छींक आना, सर्दी खांसी, मांसपेशियां में दर्द या अकड़न, सिरदर्द, नींद नहीं आना, थकान, बुखार, गले में खराश आदि स्वाइन फ्लू के मुख्य लक्षण हैं। इनमें से कोई भी लक्षण महसूस होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। 

स्वाइन फ्लू के लिए वैक्सीन (swine flu vaccine India)

स्वाइन फ्लू के लिए अभी Quadrivalent Vaccine दी जाती है। यह वैक्सीन इन्फ्लूएंजा के चारों टाइप के खिलाफ कारगर है। इन्फ्लुएंजा A के दोनों टाइप और इन्फ्लुएंजा B के दोनों टाइप। इस वायरस से बचने के लिए हर साल वैक्सीनेशन की जरूरत है। वैक्सीन के बाद इम्युनिटी बनने में दो से तीन हफ्ते का समय लगता है। 70 से 80 पर्सेंट वैक्सीन कारगर है।

स्वाइन फ्लू कैसे फैलता है (how to spread H1N1 virus)

- स्वाइन फ्लू का वायरस हवा में ट्रांसफर होता है 
- खांसने, छींकने, थूकने से वायरस सेहतमंद लोगों तक पहुंच जाता है

स्वाइन फ्लू से ऐसे बचें (how to prevent swine flu)

- बार-बार साबुन और पानी से अपने हाथ धोएं
- जब खांसी या छींक आए तो अपने मुंह और नाक को एक टिश्यू से ढक लें 
- इस्तेमाल किए टिश्यू का तुरंत और सावधानी के साथ निपटान करें। उन्हें एक बैग में डाल कर फिर पात्र में फेंकें
- स्वच्छ कठोर सतहों (उदाहरण के लिए दरवाजे के हैंडल) को नियमित साफ रखें 
- सुनिश्चित करें कि बच्चे इस सलाह का पालन करें

स्वाइन फ्लू के लिए घरेलू उपाय (home remedies for swine flu)

1) तुलसी 
तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरस गुण पाए जाते हैं। इसे इम्युनिटी सिस्टम मजबूत करने के लिए जानता है। ऐसा नहीं है कि यह स्वाइन फ्लू को बिल्कुल ठीक कर देगी, लेकिन 'एच1एन1' वायरस से लड़ने में निश्चित रूप से सहायक हो सकती है। इसके लिए आपको रोजाना तुलसी की पत्तियां चबानी चाहिए या चाय पीने चाहिए।  

2) गिलोय
इसे एक दिव्‍य औषधि माना जाता है। इसका काढ़ा बनाने के लिए इसकी एक फुट लंबी शाखा को लेकर तुलसी की पांच छह पत्तियों के साथ 10 से 15 मिनट तक उबालना चाहिए। ठंडा होने पर इसमें थोड़ी काली मिर्च, मिश्री, सेंधा नमक अथवा काला नमक मिलाएं। इस आपका इम्युनिटी सिस्टम मजबूत बनता है। 

3) लहसुन
लहसुन भी मौजूद एंटी-वॉयरल गुण रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा करने में मदद करते है। इसके लिए आप लहसुन की दो कलियां रोज सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लेना चाहिए। इससे रोग प्रतिरोधक शक्ति में इजाफा होता है।


Web Title: Swine Flu Claims 250 Lives in India : causes, symptoms, signs, home remedies, treatment, natural remedies
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे