कैंसर बीमारी का नाम सुनते ही लोग सदमे में आ जाते है। हालांकि ऐसा नहीं है कि इस बीमारी का इलाज नहीं है। अगर समय रहते लक्षणों की पहचान हो जाए, तो इस बीमारी का इलाज संभव है। दुर्भाग्यवश कैंसर के लक्षणों को बहुत देरी से पता चलता है और तब तक बहुत देर हो चुकी होती है।

हम आपको कैंसर के विभिन्न प्रकारों के लक्षणों की जानकारी दे रहे हैं, जिन्हें पहचानकर आपको समय रहते इलाज कराने में मदद मिल सकती है। अगर आपका शरीर ऐसे संकेतो का इशारा करता है, तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

स्किन कैंसर 
स्किन कैंसर में त्वचा की कोशिकाएं असामान्य तरीके से बढ़ने लगती है। बहुत ज्यादा समय धूप में बिताने वालों को इसका अधिक खतरा होता है। सूर्य की किरणे सीधी पड़ती है जैसे हथेली, उंगलियां, नाखून की त्वचा, पैर के अंगूठे की त्वचा पर कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है। इसके अलावा भी स्किन कैंसर होने के कई और कारण हो सकते है।

स्किन कैंसर के लक्षणों में माथे, गर्दन, आंखों के आसपास या फिर गाल में अचानक से जलन होना, त्वचा में दाग-धब्बे लगातार कई दिनों तक बने रहना, त्वचा पर मौजूद तिल का अचानक रंग या फिर आकार बदलना, चेहरे में पिंपल का आकार का बढ़ना और धूप में निकलते ही शरीर में खुजली होना आदि शामिल हैं। 

फेफड़ों का कैंसर
अगर आपको ज्यादा दिनों तक खांसी है और मुंह से बलगम निकले और बलगम के साथ खून भी आता हो तो आपको समझ जाना चाहिए की आपको फेफड़े का कैंसर होने वाला है। इसके अलावा सांस फूलना, फेफड़े से घरघराट की आवाज आना, सीने में दर्द रहना और तेजी से वजन कम होना इसके लक्षण हैं। लक्षण दिखने पर आपको बिना देरी के डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। फेफड़े का कैंसर ज्यादा धूम्रपान करने या तंबाकू का सेवन करने से होता है।

प्रोस्टेट कैंसर
प्रोस्टेट कैंसर होने जाने पर शरीर में ये संकेत दिखाई देने लगते है। अगर पेशाब करते समय आपको खून आता है तो समझ लें कि आपको प्रोस्टेट कैंसर होने वाला है।  पेशाब करने में तकलीफ होना प्रॉस्टेट कैंसर की तरफ इशारा है। रात में कई बार पेशाब आना, अचानक पेशाब का फ्लो कम हो जाना, पेशाब होने के बाद पेशाब जैसा लगना प्रॉस्टेट कैंसर के लक्षण हैं। इसके अलावा पेशाब और मल के साथ खून भी निकल सकता है।

ब्लड कैंसर 
ब्लड कैंसर होने पर व्यक्ति बार-बार इंफेक्शन का शिकार होता है। मगर ब्लड कैंसर के रोगी में ऐसा नहीं होता है। अगर किसी व्यक्ति को चोट लगने पर उसका खून बहना थोड़ी देर में बंद नहीं होता है या घाव भरने में सामान्य से ज्यादा समय लगता है, तो ये ब्लड कैंसर का संकेत हो सकता है। थकान और सुस्ती बहुत सामान्य लक्षण हैं, जो आपको अक्सर ही अपने अंदर दिखाई दे सकते हैं। 

अगर आपको अचानक अपने वजन में कमी लग रही है, तो सबसे पहले अपना वजन चेक करें। ब्लड कैंसर होने पर भी व्यक्ति का वजन बिना कारण कम होने लगता है। ब्लड कैंसर आपके पाचनतंत्र को भी बुरी तरह प्रभावित करता है। यही कारण है कि ब्लड कैंसर होने पर लोगों को भूख कम लगने लगती है और पेट के कई रोग जैसे- कब्ज, अपच, मल के साथ खून आना, पेशाब के साथ खून आने जैसे लक्षण दिखते हैं।

Web Title: skin cancer symptoms, blood cancer signs and symptoms, prostate cancer signs and symptoms, lungs cancer signs and symptoms
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे