Teen girl raped and brutalised by 44 men including relatives for 3 years in kerala | नाबालिग लड़की से रिश्तेदार समेत 44 लोगों ने किया रेप, 3 साल तक हवस का शिकार होती रही लड़की
सांकेतिक तस्वीर (फाइल फोटो)

Highlightsवर्तमान समय में 17 वर्षीय लड़की बाल कल्याण समिति के संरक्षण में है। पुलिस का कहना है कि उन्होंने 44 आरोपियों में से 20 को गिरफ्तार कर लिया है।

नई दिल्ली: केरल के मलप्पुरम में एक किशोर लड़की ने आरोप लगाया है कि उसके रिश्तेदारों सहित 44 पुरुषों ने उसके साथ तीन साल तक दुष्कर्म किया है। मलप्पुरम जिले की पांडिकाद पुलिस ने कहा कि उन्होंने 44 पुरुषों के खिलाफ 32 मामले दर्ज किए हैं।

टाइम्स नाऊ रिपोर्ट मुताबिक, इस मामले में केस दर्ज करने के साथ ही पुलिस ने कार्रवाई भी शुरू कर दी है। मिल रही जानकारी के मुताबिक अब तक पुलिस ने इस मामले में करीब 20 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

काउंसलिंग सत्र के दौरान लड़की ने अपने साथ हुए बर्बरता की जानकारी दी-

इस समय बाल कल्याण समिति के संरक्षण में 17 वर्षीय पीड़िता नाबालिग लड़की है। काउंसलिंग सत्र के दौरान लड़की ने निर्भया केंद्र के अधिकारियों को अपने साथ हुए बर्बरता के बारे में बताया। लड़की ने बताया कि यौन शोषण और छेड़छाड़ की घटना उसके साथ एक बार नहीं बल्कि कई बार हुए। 

पीड़िता ने कहा कि कई बार उसके साथ यौन उत्पीड़नरेप करने वाला शख्स कोई और नहीं बल्कि उसके कोई जानकार या रिश्तेदार ही होते थे। पीड़िता अपने साथ बार-बार हो रहे इस अत्याचार से पूरी तरह से टूट गई थी।

पीड़िता ने मजिस्ट्रेट के सामने ये बयान दिया

इस मामले में पीड़ित ने सीआरपीसी के धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया है। लड़की ने कहा कि 2016 और 2017 में कई बार उसका यौन शोषण किया गया। जब वह 13 साल की थी तब से ही उसके साथ यौन उत्पीड़नरेप होने लगा था।

घटना की सूचना के बाद, तत्काल कुछ वर्ष पहले उसे स्थानीय प्रशासन ने बाल गृह भेज दिया था। लगभग एक साल पहले लड़की को उसकी मां और भाई के साथ जाने की अनुमति दी गई। घर जाने के बाद एक बार फिर से लड़की के साथ पहले की तरह घटना घटने लगी और उसने आरोप लगाया कि उसने अपने घर में ही तीसरी बार अपने रिश्तेदारों के हाथों यौन उत्पीड़न का सामना किया।

सरकारी अधिकारियों ने इस मामले में ये कहा-

इस मामले में मलप्पुरम चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी (सीडब्ल्यूसी) के अध्यक्ष शजेश भास्कर ने कहा कि सीडब्ल्यूसी ने बच्चे की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी कानूनी और तार्किक कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि जब वह लगभग एक साल पहले बाल गृह से मुक्त होकर अपने घर गई थी, तब भी सुरक्षा सुनिश्चित करने के प्रयास किए गए थे।

पुलिस अधिकारी मोहम्मद हनीफा ने मीडिया को बताया कि बाल गृह से रिहा होने के बाद घर गई लड़की कुछ समय बाद ही अपने घर से गायब थी और उसे पिछले दिसंबर में पलक्कड़ से खोजकर वापस निर्भया केंद्र लाया गया था। घर में अपने साथ हुए गलत व्यवहार के बाद वह घर से निकली इसके बाद बाहर के भी कई लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किया।

Web Title: Teen girl raped and brutalised by 44 men including relatives for 3 years in kerala

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे