Shane Dowrich Retires 2023: 36 मैच, 1567 रन, 3 शतक और 9 फिफ्टी, इंग्लैंड के खिलाफ वनडे टीम से नाम वापस, जानें

Shane Dowrich Retires 2023: वेस्टइंडीज के विकेटकीपर शेन डाउरिच ने तत्काल प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की है। 

By सतीश कुमार सिंह | Published: December 1, 2023 03:39 PM2023-12-01T15:39:32+5:302023-12-01T15:40:50+5:30

Shane Dowrich Retires from international cricket 36 matches, 1567 runs, 3 centuries and 9 fifties name withdrawn from ODI team against England | Shane Dowrich Retires 2023: 36 मैच, 1567 रन, 3 शतक और 9 फिफ्टी, इंग्लैंड के खिलाफ वनडे टीम से नाम वापस, जानें

file photo

Next
Highlights36 मैच खेलते हुए 1567 रन बनाए, जिसमें 3 शतक और 9 अर्धशतक शामिल हैं। 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया और अंतिम टेस्ट मैच 2020 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे डेब्यू किया।

Shane Dowrich Retires 2023: वेस्टइंडीज के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज शेन डाउरिच ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है और इंग्लैंड के खिलाफ एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सीरीज से नाम वापस ले लिया। डाउरिच ने 36 मैच खेलते हुए 1567 रन बनाए, जिसमें 3 शतक और 9 अर्धशतक शामिल हैं। 

2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया और अंतिम टेस्ट मैच 2020 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे डेब्यू किया और बांग्लादेश के एकमात्र वनडे खेले और वहीं अतिम रहा। अपना आखिरी टेस्ट खेलने के तीन साल बाद और अपना एकमात्र वनडे खेलने के चार साल बाद डाउरिच को इस महीने अप्रत्याशित रूप से वेस्टइंडीज टीम में वापस बुला लिया गया था।

डाउरिच ने 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में पदार्पण किया और कुल 35 टेस्ट खेले। उनका एकमात्र वनडे 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ आया था और वह अगले महीने इंग्लैंड के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज में शामिल होने की कतार में थे। वेस्टइंडीज के लिए उनकी आखिरी उपस्थिति दिसंबर 2020 में न्यूजीलैंड के खिलाफ थी।

सीडब्ल्यूआई के क्रिकेट निदेशक माइल्स बास्कोम्बे ने कहा कि हम वेस्टइंडीज के लिए खेलने के दौरान शेन के योगदान के लिए उन्हें धन्यवाद देना चाहते हैं। अनुशासित, कड़ी मेहनत करने वाला क्रिकेटर है जिसने हमेशा स्टंप के आगे और पीछे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है।

2019 में उनकी सीरीज यादगार रही, जब उन्होंने बारबाडोस में घरेलू सरजमीं पर शानदार टेस्ट शतक बनाकर इंग्लैंड को हराने और विजडन ट्रॉफी जीतने में मदद की। हम संन्यास लेने के उनके फैसले का सम्मान करते हैं और सराहना करते हैं कि इसे बनाना आसान नहीं है। हम कामना करते हैं अंतरराष्ट्रीय मंच से दूर जाने के लिए उन्हें शुभकामनाएं।

Open in app