धोनी की एक सलाह ने रिंकू सिंह को बना दिया 'फिनिशर', अब लगाते हैं आखिरी ओवरों में ताबड़तोड़ छक्के

रिंकू ने अगस्त 2023 में अपना टी-20 डेब्यू किया था। अब तक उन्होंने केवल सात मैच खेले हैं और केवल चार बार बल्लेबाजी की है। उन चार पारियों में उन्होंने 216.94 की स्ट्राइक रेट से 128 रन बनाए हैं और केवल एक बार आउट हुए हैं।

By शिवेन्द्र कुमार राय | Published: November 27, 2023 12:40 PM2023-11-27T12:40:26+5:302023-11-27T12:42:28+5:30

M S Dhoni's advice made Rinku Singh a finisher India-Australia T20I | धोनी की एक सलाह ने रिंकू सिंह को बना दिया 'फिनिशर', अब लगाते हैं आखिरी ओवरों में ताबड़तोड़ छक्के

जिस एक खिलाड़ी ने सबको अपनी क्षमताओं से फिर परिचित कराया वो हैं रिंकू सिंह

Next
Highlightsदबाव के समय भी शांत रहने का स्वभाव उन्हें बाकी खिलाड़ियों से अलग करता हैअब रिंकू ने अपने इस अंदाज का राज बताया हैरिंकू ने एक बार महेंद्र सिंह धोनी से इस बारे में बात की थी

नई दिल्ली:  तिरुवनंतपुरम में खेले गए दूसरे टी20 मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को  44 रन से शिकस्त देकर पांच मैचों की श्रृंखला के दो 2-0 की बढ़त बना ली। पहले दोनों ही मुकाबले में भारतीय बल्लेबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया। हालांकि जिस एक खिलाड़ी ने सबको अपनी क्षमताओं से फिर परिचित कराया वो हैं रिंकू सिंह। पहले मैच में रिंकू ने आखिरी बॉल पर छक्का मारकर जीत दिलाई। इसके बाद दूसरे मैच में उन्होंने 19वें ओवर में एबोट के खिलाफ तीन चौके और दो छक्के लगाकर टीम को स्कोर को 200 के पार पहुंचाया। 

रिंकू की छक्का मारने की क्षमता और दबाव के समय भी शांत रहने का स्वभाव उन्हें बाकी खिलाड़ियों से अलग करता है। अब रिंकू ने अपने इस अंदाज का राज बताया है। रिंकू ने कहा कि एक बार उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी से पूछा था कि जब वह आखिरी ओवरों में बल्लेबाजी करते हैं तो क्या सोचते हैं। धोनी ने रिंकू से कहा कि आखिरी ओवरों में आप जितना भी शांत रहेंगे और सीधा शॉट मारने का प्रयास करेंगे उतना प्रभावी रहेगा। रिंकू ने कहा कि अब वह धोनी की इसी सलाह पर अमल करते हैं। रिंकू ने कहा कि वह शांत रहने की कोशिश करते हैं और अपने इमोशन जाहिर नहीं होने देते। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से उन्हें मदद मिली है।

मौजूदा सीरीज में भारत के कप्तान सूर्यकुमार यादव ने भी रिंकू की जमकर तारीफ की है।  सूर्यकुमार ने कहा कि जब वह पहले गेम में बल्लेबाजी करने आए, तो हमें 31 में से 55 रन चाहिए थे। 
उन्होंने जो धैर्य दिखाया वह शानदार था। सूर्यकुमार ने कहा कि दूसरे मैच में  जब उन्हें आखिरी दो ओवरों में बल्लेबाजी करने के लिए कहा गया तो उन्होंने जो फिनिश प्रदान की उसने हमें किसी की याद दिला दी। सूर्यकुमार धोनी की बात कर रहे थे। 

बता दें कि रिंकू ने अगस्त 2023 में अपना टी-20 डेब्यू किया था। अब तक उन्होंने केवल सात मैच खेले हैं और केवल चार बार बल्लेबाजी की है। उन चार पारियों में उन्होंने 216.94 की स्ट्राइक रेट से 128 रन बनाए हैं और केवल एक बार आउट हुए हैं। पिछले टी20 विश्व कप के बाद से भारत के लिए 5 से 7 नंबर तक बल्लेबाजी करने वालों में उनका स्ट्राइक रेट सबसे अच्छा है।  इस साल की शुरुआत में आईपीएल में रिंकू ने केकेआर के लिए खेलते हुए गुजरात के खिलाफ आखिरी ओवर में अंतिम पांच गेंदों पर पांच छक्के मार कर टीम को जीत दिलाई थी।  हाल ही में वह सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में उत्तर प्रदेश के लिए दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। उन्होंने सात पारियों में 170.66 की स्ट्राइक रेट से 256 रन बनाए। अब जब अगले साल टी20 विश्वकप होने जा रहा है तब भारतीय टीम में रिंकू को जगह मिले तो यह आश्चर्य नहीं होगा। 

Open in app