शर्म आनी चाहिए तुम जैसे दलाल पत्रकारों को, कोरोना से मरनेवाले अमेरिकी और भारतीयों की तुलना पर भड़के अभिनेता

By अनिल शर्मा | Published: September 27, 2021 11:53 AM2021-09-27T11:53:13+5:302021-09-27T14:10:53+5:30

वीडियो में पत्रकार सुशांत सिंह कहते हैं-  ये जो तस्वीर है वाशिंगटन में खड़े होकर दिखा रहा हूं। जिसे हर हिंदुस्तानी को देखनी चाहिए। और इस तस्वीर के बहुत बड़े मायने हैं। मैं एक मैदान में खड़ा हूं जहां दूर तक देखेंगी तो ऐसा लगेगा सफेद चादर बिछी हुई है। दरअसल मैं ये दिखाऊं, ये झंडे हैं। और जो झंडे हैं वो अमेरिका में कोरोना से हुई एक-एक मौत की गवाही दे रहा है।

Shame on pimp journalists like you actors krk furious over the comparison of americans and indians who died of Corona | शर्म आनी चाहिए तुम जैसे दलाल पत्रकारों को, कोरोना से मरनेवाले अमेरिकी और भारतीयों की तुलना पर भड़के अभिनेता

शर्म आनी चाहिए तुम जैसे दलाल पत्रकारों को, कोरोना से मरनेवाले अमेरिकी और भारतीयों की तुलना पर भड़के अभिनेता

Next
Highlightsवीडियो में पत्रकार सुशांत सिंह कहते हैं-  ये जो तस्वीर है वाशिंगटन में खड़े होकर दिखा रहा हूं।अमेरिका जिसके पास इतनी शक्ति है, इतनी इंफ्रास्ट्रक्चर है वह नहीं रोक पाया लोगों को मरने सेकेआरके ने इस वीडियो को शेयर करते हुए पत्रकार पर निशाना साधा है

कोरोना की दूसरी लहर में देश में लाखों लोगों की मौत हुई। जलती चिताओं ने हर देशवासी को अंदर से तोड़कर रख दिया। इस बीच कोरोना से मारे गए अमेरिकी लोगों की याद में वॉशिंगटन में लगाए गए सफेद झंडे की तस्वीरें दिखाकर टाइम्स नाउ चैनल के पत्रकार सुशांत सिंह ने कहा है कि भारत की जलती चिताएं दिखाकर राजनीति की गई लेकिन अमेरिका में मरनेवालों की बात नहीं हुई। इसपर राजनीति नहीं की गई।

सुशांत सिंह के सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो पर अभिनेता कमाल आर खान यानी केआरके ने कड़ा प्रतिकार किया है और कहा है कि क्योंकि हिंदुस्तान की जनता का उसी से सरोकार है! अमेरिका या जापान में कौन मर रहा है, इससे हिंदुस्तान की जनता का कोई लेना देना नहीं हैं! 

सुशांत सिंह ने अपनी रिपोर्टिंग की वीडियो साझा करते हुए लिखा - जिन्होंने भारत में जलती चिताएं दिखाई भीं और उसकी तस्वीरें डॉलर में बेचीं भी उन्होंने अमेरिका के इस मैदान की तस्वीर क्यों नहीं दिखाई? वो रिपोर्ट जो हर भारतीय को देखनी चाहिए। 

पत्रकार के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए केआरके ने लिखा- जरा कारण बताइये क्यों दिखाये? हिन्दुस्तान के मीडिया को, वो दिखाना चाहिए जो हिन्दुस्तान में हो रहा है! क्योंकि हिंदुस्तान की जनता का उसी से सरोकार है! अमेरिका या जापान में कौन मर रहा है, इससे हिंदुस्तान की जनता का कोई लेना देना नहीं हैं! इसके साथ ही केआरके ने एक और ट्वीट किया। 

अपने दूसरे ट्वीट में केआरके ने लिखा- और एक बात और, अमेरिका ने अपने देशवासियों को इतनी इज्जत तो दी कि उनके नाम का झंडा लगाया! और तुमने क्या किया? उन लाशों को कुत्ते बिल्ली की लाश समझ कर नदियों में बहा दिया! शर्म आनी चाहिए तुम जैसे दलाल पत्रकारों को!

वीडियो में क्या कुछ कहा है सुशांत सिंह ने?

वीडियो में पत्रकार सुशांत सिंह कहते हैं-  ये जो तस्वीर है वाशिंगटन में खड़े होकर दिखा रहा हूं। जिसे हर हिंदुस्तानी को देखनी चाहिए। और इस तस्वीर के बहुत बड़े मायने हैं। मैं एक मैदान में खड़ा हूं जहां दूर तक देखेंगी तो ऐसा लगेगा सफेद चादर बिछी हुई है। 

दरअसल मैं ये दिखाऊं, ये झंडे हैं। और जो झंडे हैं वो अमेरिका में कोरोना से हुई एक-एक मौत की गवाही दे रहा है। एक-एक झंडा जो लोग यहां कोरोना से मरे उनके लिए लगाया गया है। और ये तस्वीर को देखेंगो तो समझ में आएगा कि भारत में जो जलती चिताएं दिखाने वाले लोग थे उन्होंने इस तस्वीर को क्यों नहीं दिखाया। उन्होंने क्यों नहीं दिखाया कि अमेरिका में भी वही हुआ बल्कि ज्यादा भयावह हुआ जो भारत में हुआ। 

उन्होंने क्यों नहीं बताया कि अमेरिका जिसके पास इतनी शक्ति है, इतनी इंफ्रास्ट्रक्चर है वह नहीं रोक पाया लोगों को मरने से। लेकिन भारत में जलती चिताएं खींच कर इंटरनेट पर डॉलर में बेचे गए। उसका तमाशा बनाया गया। हमारे अपने जो मरे उनका तमाशा बनाकर छोड़ा गया। उसपर राजनीति की गई, इसपर क्यों नहीं हुई। मैं पूछना चाहता हूं। 

Web Title: Shame on pimp journalists like you actors krk furious over the comparison of americans and indians who died of Corona

बॉलीवुड चुस्की से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे