ब्लॉग: सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स के जरिए आतंकी बनाने की साजिश! आम लोगों को भी रहना होगा सतर्क

By लोकमत समाचार सम्पादकीय | Published: August 2, 2022 03:14 PM2022-08-02T15:14:05+5:302022-08-02T15:14:59+5:30

दुनिया भर में दहशत फैलाने की क्रूर इच्छा रखने वाले आतंकी संगठन आईएस से निपटने के लिए एनआईए तो अपना काम कर ही रही है, लोगों में जागरूकता फैलाने की भी जरूरत है.

Conspiracy to make terrorists through social networking sites, NIA AND Common people have to be alert | ब्लॉग: सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स के जरिए आतंकी बनाने की साजिश! आम लोगों को भी रहना होगा सतर्क

ब्लॉग: सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स के जरिए आतंकी बनाने की साजिश! आम लोगों को भी रहना होगा सतर्क

Next

आतंकी संगठन आईएस के नापाक इरादों को विफल करने के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) इन दिनों देश भर में छापेमारी कर रही है. उससे एक चिंताजनक खुलासा यह हुआ है कि साजिश के तहत सोशल नेटवर्किंग साइट्‌स के माध्यम से लोगों को बरगला कर आतंकी संगठन आईएस में भर्ती की जा रही है और किशोरों तथा युवाओं को विशेष रूप से निशाना बनाया जा रहा है. 

एनआईए ने रविवार को छह राज्यों- महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, गुजरात, उत्तरप्रदेश, बिहार और कर्नाटक के 12 जिलों में अनेक ठिकानों पर छापे मारे, जिसमें आपत्तिजनक दस्तावेज एवं इलेक्ट्राॅनिक डिवाइस जब्त किए गए. जांच में सामने आया है कि सोशल मीडिया और कुछ खास एप्प के जरिये यह खतरनाक आतंकवादी संगठन युवाओं को अपने जाल में फांसने की कोशिश कर रहा है. 

आईएस के इरादे बेहद खतरनाक हैं. उसने दुनिया के कई हिस्सों में कब्जे का जो प्लान बनाया है उसमें भारत भी शामिल है. पूरे मिडिल ईस्ट और उत्तरी अफ्रीका के कुछ हिस्सों पर अपना प्रभुत्व जमाने की इच्छा रखने वाले इस संगठन ने अपने वर्चस्व वाली दुनिया का जो नक्शा जारी किया था उसमें भारत, पाकिस्तान और अफगानिस्तान वाले हिस्से को खुरासान के नाम से चिह्नित किया था. अपनी इसी योजना के तहत वह दुनिया के विभिन्न हिस्सों में आतंकी वारदातों को अंजाम देकर निर्दोष लोगों को अपना शिकार बनाता रहा है. 

राहत की बात है कि आईएस के कुत्सित इरादों को विफल करने के लिए एनआईए पिछले कई वर्षों से पूरी मुस्तैदी से जुटी हुई है. यही कारण है कि भारत में आईएस किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने में सफल नहीं हो पा रहा है. आईएस एक ऐसा आतंकी संगठन है जो दुनिया भर के युवाओं को खुद से जोड़ने के लिए परंपरागत तरीकों के साथ ही आधुनिक टेक्नोलॉजी और सोशल मीडिया का भी उपयोग करता है. 

पकड़े गए अनेक युवाओं के साथ उसकी आपत्तिजनक चैटिंग के सबूत इसकी पुष्टि करते हैं. उसके बहकावे में आकर जो युवा उससे जुड़ जाते हैं, उनके लिए फिर वापस लौटने का कोई रास्ता नहीं बचता, क्योंकि वापस लौटने की कोशिश करने वालों को वह मौत के घाट उतार देता है. दुनिया में दहशत फैलाने के लिए यह संगठन सोशल मीडिया पर नरसंहार के फोटो और वीडियो भी अपलोड करता है. 

दुनिया भर में दहशत फैलाने की क्रूर इच्छा रखने वाले इस आतंकी संगठन से निपटने के लिए एनआईए तो अपना काम कर ही रही है, लोगों में जागरूकता फैलाने की भी जरूरत है, ताकि युवाओं को दिग्भ्रमित होकर आतंकवाद के शिकंजे में जाने से रोका जा सके और आतंकवादियों के खतरनाक इरादों को विफल किया जा सके.

Web Title: Conspiracy to make terrorists through social networking sites, NIA AND Common people have to be alert

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे