President Trump will give a speech in New York on religious freedom, attacks against people on religion and recognition | लोगों पर धर्म और मान्यता के खिलाफ हो रहे हमले, राष्ट्रपति ट्रंप धार्मिक स्वतंत्रता पर न्यूयॉर्क में देंगे भाषण
उपराष्ट्रपति माइक पेंस भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे और वह राष्ट्रपति ट्रंप को मंच पर आमंत्रित करेंगे।

Highlights ट्रंप धार्मिक स्वतंत्रता को संरक्षित रखने के जारी प्रयासों के लिए अंतरराष्ट्रीय समर्थन को बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं।हमले बढ़ने व धर्म के आधार पर लोगों का दमन बढ़ने के मद्देनजर ये प्रयास किए जा रहे हैं। 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप धार्मिक स्वतंत्रता पर अगले हफ्ते न्यूयॉर्क में एक अहम भाषण देंगे। व्हाइट हाउस ने कहा है कि इस भाषण में ट्रंप धर्म के आधार पर लोगों के खिलाफ होने वाले हमलों को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से ठोस कदम उठाने की अपील करेंगे।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रिशम ने मंगलवार को कहा कि 23 सितंबर को ट्रंप ‘ग्लोबल कॉल टू प्रोटेक्ट रिलिजियस फ्रीडम’ कार्यक्रम की मेजबानी करने के साथ ही मुख्य भाषण देंगे। उपराष्ट्रपति माइक पेंस भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे और वह राष्ट्रपति ट्रंप को मंच पर आमंत्रित करेंगे।

ग्रिशम ने कहा, “राष्ट्रपति धर्म या मान्यताओं के आधार पर लोगों के खिलाफ होने वाले हमलों को रोकने के संबंध में ठोस कदम उठाने और उपासना स्थलों एवं सभी धर्म स्थलों की पवित्रता सुनिश्चित करने की दिशा में काम करने की अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील करेंगे।”

व्हाइट हाउस की अधिकारी ने कहा कि ट्रंप धार्मिक स्वतंत्रता को संरक्षित रखने के जारी प्रयासों के लिए अंतरराष्ट्रीय समर्थन को बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं। राज्य प्रायोजित एवं राज्येतर व्यक्ति या संगठनों द्वारा उपासना स्थलों को तबाह करने और उनके खिलाफ हमले बढ़ने व धर्म के आधार पर लोगों का दमन बढ़ने के मद्देनजर ये प्रयास किए जा रहे हैं। 

ट्रम्प ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद के लिए पांच लोगों का नाम छांटा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पद के लिए पांच लोगों के नाम छांटे हैं। ट्रम्प ने एक हफ्ता पहले जॉन बोल्टन को ‘‘बड़ी गलतियां करने’’ और प्रशासन के अनुरूप काम नहीं करने का हवाला देते हुए निकाल दिया था।

व्हाइट हाउस ने मंगलवार को कहा कि एनएसए के लिए छांटे गये पांच नाम- रॉबर्ट ओ’ब्रायन, रिक वाडेल, लीसा गॉर्डन-हेगर्टी, फ्रेड फ्लीट्ज और कीथ केलॉग हैं। हालांकि व्हाइट हाउस ने बताया कि यह अंतिम सूची नहीं है। ट्रम्प ने पिछले सप्ताह 11 सितंबर को अपने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोल्टन को यह कहते हुए निकाल दिया कि वह उनके कई सुझावों से ‘‘असहमत’’ हैं।

राष्ट्रपति ने बोल्टन को निकालने के अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने कुछ ‘‘बड़ी गलतियां’’ की थी और उनके कार्य प्रशासन के अनुरूप नहीं थे। ओ’ब्रायन विदेश मंत्रालय में बंधक मामलों के लिए राष्ट्रपति के विशेष दूत के रूप में कार्यरत हैं।

मेजर जनरल वाडेल 2017-2018 में ट्रम्प के उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार थे। वर्तमान में, वह ज्वॉइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष के सहायक के रूप में कार्यरत हैं। गॉर्डन-हेगर्टी वर्तमान में ऊर्जा विभाग में परमाणु सुरक्षा के अवर मंत्री हैं और राष्ट्रीय परमाणु सुरक्षा प्रशासन के प्रशासक हैं। जनरल केलॉग अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस के वर्तमान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हैं और फ्लीट्ज बोल्टन के पूर्व चीफ ऑफ स्टाफ और सीआईए के पूर्व विश्लेषक हैं। 


Web Title: President Trump will give a speech in New York on religious freedom, attacks against people on religion and recognition
विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे