Next

ट्रंप ने WHO को दिया 30 दिन का अल्टीमेटम, साबित करना करना होगी ये बात

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: May 19, 2020 09:33 PM2020-05-19T21:33:29+5:302020-05-19T21:33:51+5:30

 

अमेरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के मामले पर विश्व स्वास्थ्य संगठन सिर्फ 30 दिन का अल्टीमेटम दिया है. ट्रम्प ने अपने अल्टीमेटम में कहा कि इस एक महीने में who ये साबित करे कि वो चीन के प्रभाव में नहीं है. ट्रंप ने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो विश्व स्वास्थ्य संगठन से अमेरिका अपनी सदस्स्यता और इसे दी जाने वाली आर्थिक मदद पर हमेशा के लिए रोक सकता है. ट्रंप सरकार ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को सालाना दी जाने वाली 50 करोड़ डॉलर की आर्थिक मदद 14 अप्रैल को रोक दी थी. अमेरिका का विश्व स्वास्थ्य संगगठन पर आरोप है कि वुहान में कोरोनावायरस के पहली बार सामने आने के बाद वायरस को फैलने से से रोकने में चीन का मैनेजमेंट खराब रहा है. इसके साथ ही चीन की इस नाकामी को छुपाने में विश्व स्वास्थ्य संगठन का रोल पता लगाने के लिए समीक्षा की जा रही है. 

डब्ल्यूएचओ प्रमुख डॉ टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस को लिखी चिठ्ठी में ट्रंप ने कहा कि "यह साफ है कि आपने और आपके संगठन ने महामारी से निपटने में बार-बार गलत कदम उठाए हैं जो दुनिया को बहुत महंगे पड़े हैं. डब्ल्यूएचओ के सामने अब बस एक ही रास्ता है कि वो साबित करे कि वो चीन के असर में नहीं है. ट्रप ने कहा कि मेरे प्रशासन ने " उन्होंने कहा, “मेरे प्रशासन ने आपसे इस बात पर पहले ही चर्चा शुरू कर दी है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन में कैसे सुधार लाया जाए. 

ट्रंप ने सोमवार को कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति के तौर पर मेरा फर्ज है कि आपको जानकारी दूं कि मैं अमेरिकी करदाताओं के डॉलर को उस संगठन को देने की इजाजत नहीं दे सकता हूं, जो वर्तमान हालात में अमेरिकी का इंट्रेस्ट नहीं देख रहा है. ट्रंप ने 18 मई को लिखी अपी चिठ्ठी में आरोप लगाया है कि डब्ल्यूएचओ वायरस के पैदा होने के सोर्स की स्वतंत्र जांच की परमिशन देने के लिए चीन से सार्वजनिक रूप से अपील करने में नाकाम रहा है. 

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने गोपनीयता और छुपाने के आरोपों को सोमवार को खारिज कर दिया और कहा कि हमने पारदर्शिता और जिम्मेदारी से काम किया चीन का कहना है कि वक्त रहते डब्ल्यूएचओ और इससे जुड़े देशों को बता दिया गया था. ट्रंप ने चीन पर कोरोनावायरस छुपाने का आरोप लगाया है जबकि ऑस्ट्रेलिया और यूरोपीय संघ ने चीन से वायरस की उत्पत्ति की स्वतंत्र जांच समेत कोविड-19 को नियंत्रण करने के प्रयासों में पारदर्शिता की मांग की है. 

विश्व स्वास्थ्य संगठन कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने में विश्व स्वास्थ्य संगठन की भूमिका की जांच की ज्यादातर सदस्य देशों की मांग को मान ली. अफ्रीकी, यूरोपीय और अन्य देशों के गठबंधन कोविड-19 से निपटने में विश्व स्वास्थ्य संगठन  के रोल की स्वतंत्र जांच की मांग कर रहे हैं. 

इस जांच का मकसद वायरस की उत्पत्ति के जगह जैसे कुछ विवादित मुद्दों को छोड़कर इसकी रोकथाम के लिए डब्ल्यूएचओ द्वारा अंतरराष्ट्रीय प्रयासों के समन्वय से मिले सबक की समीक्षा करना है. डब्ल्यूएचओ महानिदेशक टेड्रोस अधानोम गेब्रेयसस ने कहा कि वह उचित समय देखकर जल्द से जल्द कोविड-19 से निपटने में डब्ल्यूएचओ की भूमिका की स्वतंत्र जांच शुरू करेंगे. 
 

टॅग्स :डोनाल्ड ट्रम्पवर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशनचीनवुहानकोरोना वायरसDonald TrumpWho-World-Health-OrganizationChinaWuhanCoronavirus