IRDA considers LIC, GIC, New India Assurance as important insurers in terms of system | इरडा ने एलआईसी, जीआईसी, न्यू इंडिया एश्योरेंस को प्रणाली के लिहाज से महत्वपूर्ण बीमाकर्ता माना
बयान में कहा गया, ‘‘डी-एसआईआई के लिये निरीक्षण के नियम भी पहले से अधिक होंगे।’’

Highlightsयही वजह है कि बीमा नियामक ने इन कंपनियों के लिये नियामकीय निगरानी बढ़ाने का निर्णय लिया है।न्यू इंडिया एश्योरेंस को घरेलू प्रणाली के लिहाज से महत्वपूर्ण बीमाकर्ता (डी-एसआईआई) माना है।

नई दिल्लीः  भारतीय बीमा विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी), साधारण बीमा निगम (जीआईसी) और न्यू इंडिया एश्योरेंस को घरेलू प्रणाली के लिहाज से महत्वपूर्ण बीमाकर्ता (डी-एसआईआई) माना है।

यही वजह है कि बीमा नियामक ने इन कंपनियों के लिये नियामकीय निगरानी बढ़ाने का निर्णय लिया है। इरडा ने एक बयान में कहा कि तीनों कंपनियों से उनके कंपनी संचालन का स्तर भी ऊपर उठाने को कहा गया है। इसके अलावा उन्हें सभी प्रासंगिक जोखिमों की पहचान करने, स्वस्थ जोखिम प्रबंधन संस्कृति को बढ़ावा देने को भी कहा गया है।

बयान में कहा गया, ‘‘डी-एसआईआई के लिये निरीक्षण के नियम भी पहले से अधिक होंगे।’’ डी-एसआईआई ऐसे आकार, बाजार महत्व और घरेलू व वैश्विक अंतर-कनेक्टिविटी वाले बीमाकर्ताओं को कहा जाता है, जिनका संकट या विफलता घरेलू वित्तीय प्रणाली में एक महत्वपूर्ण अव्यवस्था का कारण बन सकती है। इरडा ने कहा, इसलिये राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के लिये बीमा सेवाओं की निर्बाध उपलब्धता को लेकर डी-एसआईआई की निरंतर कार्यप्रणाली महत्वपूर्ण है। 

Web Title: IRDA considers LIC, GIC, New India Assurance as important insurers in terms of system
पर्सनल फाइनेंस से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे