योगी सरकार ने फिर कसा मुख्तार अंसारी पर शिकंजा, मां रबिया खातून के नाम रजिस्टर्ड साढ़े तीन करोड़ की जमीन हुई कुर्क

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: April 11, 2022 12:00 AM2022-04-11T00:00:11+5:302022-04-11T00:06:10+5:30

योगी सरकार ने एक बार फिर बांदा जेल में बंद पूर्व विधायक और पूर्वांचल के बाहुबली कहे जाने वाले मुख्तार अंसारी के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते हुए उनकी मां के नाम से रजिस्टर्ड जमीन को कुर्क कर लिया है।

Yogi government again tightens the noose on Mukhtar Ansari, three and a half crore land registered in the name of mother Rabia Khatoon attached | योगी सरकार ने फिर कसा मुख्तार अंसारी पर शिकंजा, मां रबिया खातून के नाम रजिस्टर्ड साढ़े तीन करोड़ की जमीन हुई कुर्क

योगी सरकार ने फिर कसा मुख्तार अंसारी पर शिकंजा, मां रबिया खातून के नाम रजिस्टर्ड साढ़े तीन करोड़ की जमीन हुई कुर्क

Next
Highlightsयोगी आदित्यनाथ ने सत्ता में वापस आते ही मुख्तार अंसारी पर नकेल कसनी शुरू कर दी हैयोगी सरकार ने गाजीपुर में मुख्तार की मां के नाम से रजिस्टर्ड जमीन को कुर्क कर लिया हैगाजीपुर के जिलाधिकारी ने गिरोहबंद अधिनियम की धारा 14 (1) के तहत जमीन को कुर्क किया है

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोबारा सत्ता में आते ही अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस वाली नीति को फिर से बहाल करते हुए अपराधियों की नकेल कसने के लिए आक्रामक कदम उठा रहे हैं।

इसी कड़ी में योगी सरकार ने एक बार फिर बांदा जेल में बंद पूर्व विधायक और पूर्वांचल के बाहुबली कहे जाने वाले मुख्तार अंसारी के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते हुए उनकी मां के नाम से रजिस्टर्ड जमीन को कुर्क कर लिया है।

मुख्तार अंसारी के खिलाफ यह बड़ी कार्रवाई गाजीपुर जिले के कोतवाली नगर क्षेत्र के महुआ बाग में हुई, जहां उनके मां के नाम से करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये मूल्य की जमीन को गिरोहबंद अधिनियम के तहत राज्य सरकार की ओर से कुर्क कर लिया गया है।

रविवार को गाजीपुर जिले के एक अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि गाजीपुर के जिलाधिकारी ने गाजीपुर पुलिस के अनुरोध पर विचार करने के बाद गिरोहबंद अधिनियम की धारा 14 (1) के तहत, अंसारी की मां रबिया खातून के नाम से दर्ज भूमि कुर्क करने के आदेश जारी किया।

इस आदेश की कड़ी में रविवार को गाजीपुर पुलिस एवं प्रशासन द्वारा उक्त भूमि को कुर्क करने की कार्रवाई की गई। प्रशासन के अनुसार उक्त भूमि का क्षेत्रफल 811 वर्ग मीटर है और इसकी बाजार की कीमत लगभग तीन करोड़ 50 लाख रुपये है।

मालूम हो कि गाजीपुर पुलिस और प्रशासन द्वारा अब तक मुख्तार अंसारी की लगभग 60 करोड़ रुपये की संपत्ति की कुर्की की जा चुकी है। इसके साथ ही शासन की ओर से अंसारी के गिरोह से संबंधित लगभग 100 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति को ध्वस्त किया जा चुका है।

गाजीपुर जिले के यूसुफपुर मोहम्मदाबाद निवासी कथित बाहुबली मुख्तार अंसारी वर्ष 1996 से 2017 तक मऊ शहर विधानसभा क्षेत्र से लगातार पांच बार विधायक निर्वाचित हुए लेकिन इस बार का विधानसभा चुनाव मुख्तार नहीं लड़े।

मऊ सीट से मुख्तार ने अपनी जगह अपने बेटे अब्बास अंसारी को समाजवादी पार्टी गठबंधन से मैदान में उतारा था और अब्बास ने मऊ सीट पर जीत हासिल की है। 

Web Title: Yogi government again tightens the noose on Mukhtar Ansari, three and a half crore land registered in the name of mother Rabia Khatoon attached

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे