VVIP helicopter scam: Charge sheet accuses SP Tyagi’s relative of money laundering of bribe | अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला: आरोप-पत्र में एसपी त्यागी के रिश्तेदार पर घूस के रुपयों के धनशोधन का आरोप
फाइल फोटो।

Highlightsआरोप पत्र में अगस्ता वेस्टलैंड इंटरनेशनल लिमिटेड के तत्कालीन प्रबंध निदेशक गियाकोमिनो सपोनारो का नाम भी आरोपी के तौर पर शामिल किया गया है। पहले आरोप-पत्र में पूर्व वायुसेना प्रमुख एस पी त्यागी को घोटाले में आरोपी के तौर पर नामित किया गया था।

नई दिल्लीः अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में सीबीआई ने अपने पूरक आरोप-पत्र में आरोप लगाया है कि भारतीय वायुसेना के पूर्व प्रमुख एस पी त्यागी के दो रिश्तेदारों ने फर्जी कंपनियों और बैंकिंग माध्यमों से घूस में मिली पांच करोड़ रुपये की रकम का धनशोधन किया। आरोप पत्र में अगस्ता वेस्टलैंड इंटरनेशनल लिमिटेड के तत्कालीन प्रबंध निदेशक गियाकोमिनो सपोनारो का नाम भी आरोपी के तौर पर शामिल किया गया है।

एक विशेष अदालत में दायर अपने पूरक आरोप पत्र में सीबीआई ने 15 नाम (व्यक्तियों और कंपनियों के) लिये हैं। सीबीआई प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और रक्षा मंत्री जैसे अतिविशिष्ट लोगों के आवागमन के लिये इस्तेमाल होने के उद्देश्य से खरीदे जा रहे 12 हेलीकॉप्टरों के लिये हुए 3600 करोड़ रुपये के सौदे को अगस्ता वेस्टलैंड के पक्ष में करने में मुख्य रूप से रुपयों के लेनदेन की जांच कर रही है।

हेलीकॉप्टरों के संचालन के लिये 6000 मीटर की संचालन क्षमता तय किये जाने की वजह से यह कंपनी शुरू में इस दौड़ में शामिल ही नहीं थी। यह पूरक आरोप-पत्र विशेष जांच दल द्वारा तत्कालीन विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के कार्यकाल में पहला आरोप-पत्र दायर करने के करीब तीन साल बाद शुक्रवार रात को दायर किया गया।

पहले आरोप-पत्र में पूर्व वायुसेना प्रमुख एस पी त्यागी को घोटाले में आरोपी के तौर पर नामित किया गया था। अदालत इस मामले में सोमवार को सुनवाई करेगी। घूस के रुपयों के लेनदेन को लेकर सीबीआई जांच के मुताबिक एस पी त्यागी के रिश्तेदार- संदीप और संजीव त्यागी- ने अपनी नई दिल्ली स्थित कंपनी नीलमाधव कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमिटेड के जरिये 2009 में कोलकाता स्थित कंपनी माणिक एजेंसी प्राइवेट लिमिटेड का अधिग्रहण किया जिससे फर्जी कंपनी और फर्जी बैंक खातों के जरिये बैंकिंग माध्यमों से प्राप्त घूस की रकम को इसकी आड़ में छिपाया जा सके।

त्यागी बंधुओं ने कथित तौर पर अन्य आरोपी – कोलकाता के नरेंद्र कुमार जैन और राजेश कुमार जैन- के साथ मिलकर काम किया जिन्होंने मुखौटा कंपनियां बनाईं। इसके साथ ही ओम मेटल इंफोटेक प्राइवेट लिमिटेड के तत्कालीन प्रबंध निदेशक सुनील कोठारी भी इनके साथ शामिल था जिसने कथित तौर पर विभिन्न बैंकों में फर्जी खाते खोले।

एजेंसी ने आरोप लगाया कि त्यागी बंधुओं ने जैन और कोठारी को घूस के पांच करोड़ रुपये का कालाधन दिया जिसे उन्होंने कथित कारोबारी लेनदेन दिखाकर वापस सफेद धन के तौर पर उन्हें लौटा दिया। सीबीआई ने आरोप लगाया कि उसने कथित बिचौलिये गुइडो राल्फ हश्के और कार्लो गेरोसा के बीच बातचीत का पता लगाया है जिससे यह आरोप स्थापित होता है कि अगस्ता वेस्टलैंड ने संदीप त्यागी को घूस दी।

अधिकारियों ने कहा कि इस बातचीत में कथित रूप से संदीप त्यागी को एक भरोसेमंद आदमी बताया जा रहा है जिसके दिल्ली में गहरे संपर्क हैं। पूरक आरोप-पत्र में अगस्ता वेस्टलैंड इंटरनेशनल लिमिटेड के तत्कालीन प्रबंध निदेशक गियाकोमिनो सापोनारो को भी आरोपी के तौर पर दिखाया गया है। 

Web Title: VVIP helicopter scam: Charge sheet accuses SP Tyagi’s relative of money laundering of bribe
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे