#metoo #metooindia vinod dua nishtha jain case the wire formed 5 member committee headed by ex supreme court judge | #MeToo विनोद दुआ पर लगे आरोपों की जाँच के लिए द वायर ने बनाई 5 सदस्यीय कमेटी, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज आफताब आलम करेंगे अध्यक्षता
विनोद दुआ लम्बे समय तक एनडीटीवी से जुड़े रहे। बाद में वो द वायर के लिए शो करने लगे। (फाइल फोटो)

समचार वेबसाइट द वायर (The Wire) ने शनिवार को पत्रकार विनोद दुआ के खिलाफ #MeToo के तहत लगे यौन शोषण के आरोप की जाँच के लिए  सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश के नेतृत्व में पाँच सदस्यों की एक्सटर्नल कमेटी गठित की। विनोद दुआ पर फ़िल्मकार निष्ठा जैन ने करीब 29 साल पहले यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। निष्ठा जैन ने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि विनोद दुआ ने 1989 में अपनी गाड़ी में उनके साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की थी। विनोद दुआ ने खुद पर लगे आरोपों को गलत बताया है।

 विनोद दुआ पर लगे यौन शोषण की जाँच के लिए द वायर द्वारा बनायी गयी कमेटी में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश जस्टिस आफताब आलम, पटना हाई कोर्ट की पूर्व जस्टिस अंजना प्रकाश, दिल्ली यूनिवर्सिटी की पूर्व प्रोफेसर नीरा चंडोक, इंस्टिट्यूट ऑफ इकोनॉमिक ग्रोथ की पूर्व प्रोफेसर पैट्रिशिय ओबरॉय और भारत की पूर्व विदेश सचिव सुजाता सिंह शामिल हैं। जस्टिस आफताब आलम इस कमेटी की अध्यक्षता करेंगे।

द वायर की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि क्योंकि आरोप द वायर की स्थापना से दशकों पहले 1989 में हुई घटना से जुड़ा है इसलिए संस्था ने एक्सटर्नल (बाहरी) कमेटी बनायी है। 

कामकाजी जगहों पर महिला के यौन शोषण की रोकथाम के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय की गयी विशाखा गाइडलाइंस के अनुसार हर संस्थान में ऐसे आरोपों की जाँच के लिए इन्टर्नल कम्प्लेन कमेटी (ICC) होनी चाहिए जिसमें महिला और बाहरी विशेषज्ञ भी सदस्य होने चाहिए। 

इस लिंक पर क्लिक कर के पढ़ें निष्ठा जैन के विनोद दुआ पर लगाये आरोप

द वायर ने रोका विनोद दुआ का शो

विनोद दुआ द वायर पर 'जन मन गण की बात' नामक वीडियो शो प्रस्तुत करते रहे हैं। द वायर के बयान में कहा गया है कि जब तक मामले की जाँच नहीं हो जाती दुआ का यह शो ऑन-एयर नहीं होगा। 'जन मन गण की बात' के जिस एपिसोड में दुआ ने निष्ठा जैन के आरोपों का जवाब दिया है उसे भी द वायर ने अपनी वेबसाइट से हटा दिया है।

द वायर की तरफ से जारी बयान के अनुसार निष्ठा जैन ने 18 अक्टूबर मामले की आधिकारिक शिकायत करने की हामी भरी। जैन 26 अक्टूबर तक अपनी लिखित शिकायत एक्सटर्नल कमेटी को सौंपेंगी। विनोद दुआ ने भी कमेटी के सामने अपना पक्ष रखने की बात कही है।

द वायर ने कहा है कि जब तक मामले की जाँच पूरी नहीं हो जाती वो दुआ या जैन का कोई भी बयान अपनी वेबसाइट पर नहीं प्रकाशित करेगा। द वायर के अनुसार निष्ठा जैन ने 14 अक्टूबर को फेसबुक पर दुआ के खिलाफ आरोप लगाया और उसी दिन द वायर की इन्टर्नल कम्प्लेन कमेटी (ICC) ने मामले का संज्ञान लिया और 15 अक्टूबर को इस पर बैठक करके निष्ठा जैन से सम्पर्क करके उनसे उनका पक्ष रखने के लिये कहा। द वायर ने 17 अक्टूबर को निष्ठा जैन को एक्सटर्नल कमेटी के गठन की सूचना दी।

द वायर का बयान न्यूज़साइट के संस्थापक सदस्यों सिद्धार्थ वरदराजन, सिद्धार्थ भाटिया और एमके वेणु की तरफ से जारी किया गया है।

#MeToo निष्ठा जैन द्वारा विनोद दुआ पर लगाये गये आरोप

वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली फ़िल्मकार निष्ठा जैन ने 14 अक्टूबर को एक फेसबुक पोस्ट में लिखा था, 'ये जून 1989 का वक्त था। मुझे आज भी वो दिन याद है क्योंकि उस दिन मेरा जन्मदिन था। मेरा पूरा परिवार जमा था और मम्मी शाम को एक छोटे जश्न की तैयारियां कर रही थी। मैंने हाल ही में जामिया मास कम्यूनिकेशन सेंटर से ग्रेजुएशन किया था। मैं अपनी पसंदीदा साड़ी पहनी और आत्मविश्वास के साथ जॉब इंटरव्यू के लिए निकल गई जो कि एक मशहूर टीवी पर्सनालिटी के साथ थे। उन दिनों उनका शो जनवाणी काफी लोकप्रिय था।'

निष्ठा ने आगे लिखा, 'वह एक नया गिग शुरू कर रहे थे। यह एक पॉलिटिकल सटॉयर का शो था और मैं उसके लिए उत्सुक थी। मैं कमरे में दाखिल हुई तो उन्होंने उपहास भरी मुस्कुराहट के साथ मेरा स्वागत किया। जबतक मैं ठीक से सेटल हो पाती उन्होंने धीमी आवाज में कोई सेक्शुअल जोक सुनाया। मुझे वो जोक याद नहीं क्योंकि उसमें हंसने लायक कुछ नहीं था। सिर्फ गंदा था। वो मेरे चेहरे की तरफ अजीब नजर से देख रहे थे जो मुझे असहज लग रहा था।'

निष्ठा ने लिखा, 'उन्होंने मुझे जॉब के बारे में बताया और फिर मेरी एक्सपेक्टेशन पूछी। मैंने उन्हें उस वक्त 5000 रुपये मांगे जो आमतौर पर ग्रेजुएशन पास लोगों को मिलते थे। उन्होंने मेरी तरफ देखा और कहा- तुम्हारी औकात क्या है? मैं हैरान रह गई। मैंने पहले भी यौन उत्पीड़न झेला है लेकिन यह अजीब तरीके का अपमान था।'

निष्ठा ने लिखा, 'मैं आंखों में आंसू लेकर घर पहुंची। मेरा जन्मदिन बर्बाद हो चुका था। मैंने अपने भाई और दोस्तों से इसके बारे में बताया। जल्दी ही मुझे न्यूज ट्रैक में नई जॉब मिल गई। मुझे नहीं पता इस शख्स ने इसे किस तरीके से लिया। मेरे ऑफिस में इसके कुछ दोस्त थे जो मेरी ऑफिस टाइमिंग के बारे में बता देते थे। एक दिन मैं ऑफिस पार्किंग में पहुंची तो ये वहां मौजूद था। उसने कहा कि मुझे तुमसे बात करनी है। कार में बैठ जाओ। मुझे लगा माफी मांगने के लिए होगा और मैं कार में बैठ गई। मैं कार में दाखिल ही हुई थी वो मेरे चेहरे पर छींटाकसी करने लगा। मैं किसी तरह कार के बाहर निकली और वहां से चली गई। मैंने उसके बाद कई बार उसे मेरा पीछा करते हुए देखा।' निष्ठा जैन ने बताया कि उस शख्स का नाम विनोद दुआ था। 

निष्ठा जैन ने अपनी पोस्ट के आखिर में दुआ की बेटी मल्लिका दुआ से कहा कि मुझे माफ करना लेकिन शर्मनाक लोगों की लिस्ट में तुम्हारे पिता का नाम भी शामिल है। 


Web Title: #metoo #metooindia vinod dua nishtha jain case the wire formed 5 member committee headed by ex supreme court judge
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे