Diet tips: क्या नींबू पानी पीना किडनियों के लिए हानिकारक है, नींबू पानी कब पीना चाहिए ?

By उस्मान | Published: October 27, 2021 03:44 PM2021-10-27T15:44:35+5:302021-10-27T15:44:35+5:30

नींबू विटामिन सी से भरपूर होता है, जो कैल्शियम के अवशोषण में सुधार करता है

die tips for kidney disease: Can lemon water harm your kidneys | Diet tips: क्या नींबू पानी पीना किडनियों के लिए हानिकारक है, नींबू पानी कब पीना चाहिए ?

हेल्दी डाइट टिप्स

Next
Highlightsनींबू विटामिन सी से भरपूर होता है, जो कैल्शियम के अवशोषण में सुधार करता है नींबू पानी का सेवन करने से क्रिएटिनिन के स्तर को कम कर सकता है

नींबू विटामिन सी से भरपूर होता है, जो कैल्शियम के अवशोषण में सुधार करता है, जो हड्डियों के इष्टतम घनत्व को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। नींबू पानी पीने से शरीर को कई फायदे होते हैं। किडनी के मरीजों को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए, इसको लेकर काफी कंफ्यूजन रहता है। कई डॉक्टरों का कहना है कि किडनी के मरीज अक्सर उनसे पूछते हैं कि नींबू पानी उनके लिए अच्छा है या नहीं।

क्या नींबू पानी किडनी की बीमारी के लिए अच्छा है?
किडनी रक्त में विषाक्त पदार्थों और अपशिष्ट को बाहर निकालने का कार्य करते हैं। किडनी रक्तचाप को नियंत्रित करने, हड्डियों के स्वास्थ्य को नियंत्रित करने और क्रिएटिनिन और यूरिक एसिड जैसे रसायनों के स्तर को बनाए रखने में भी भूमिका निभाती हैं।

क्रोनिक किडनी रोग तब होता है जब आपके गुर्दे आपके रक्त को फिल्टर करने में असमर्थ होते हैं, जिसका अर्थ है कि विषाक्त पदार्थ और अपशिष्ट उत्पाद रक्त में जमा हो जाते हैं। इससे स्ट्रोक और हृदय रोग जैसी खतरनाक स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। विटामिन सी, एंटीऑक्सिडेंट और साइट्रिक एसिड से भरपूर नींबू पानी पीने से क्रोनिक किडनी रोग के रोगियों को कोई खतरा नहीं होता है।

क्या नींबू पानी क्रिएटिनिन को कम करने में मदद कर सकता है?
नींबू पानी का सेवन करने से क्रिएटिनिन के स्तर को कम करने में न्यूनतम प्रभाव हो सकता है, लेकिन यह इसके विकास में योगदान नहीं करेगा। क्रिएटिनिन एक अपशिष्ट रासायनिक उत्पाद है, जो मांसपेशियों के टूट-फूट का उप-उत्पाद है। एक व्यक्ति के पास जितनी अधिक मांसपेशियां होंगी, रक्त में उतना ही अधिक क्रिएटिनिन मौजूद होगा।

किडनी द्वारा साफ किए गए क्रिएटिनिन की मात्रा को क्रिएटिनिन निकासी के रूप में जाना जाता है। एक स्वस्थ व्यक्ति में, महिलाओं के लिए क्रिएटिनिन 95 मिली प्रति मिनट और पुरुषों के लिए लगभग 120 मिली होता है। क्रिएटिनिन क्लीयरेंस उम्र, आकार और किडनी की स्थिति पर भी निर्भर करता है। नींबू पानी या जूस का सेवन क्रिएटिनिन के स्तर को बढ़ा या घटा नहीं सकता है।

क्या नींबू किडनी के लिए हानिकारक है?
नींबू पानी या नींबू का रस पीने से क्रोनिक किडनी रोग के रोगियों की स्थिति खराब नहीं हो सकती है। हालांकि अधिक मात्रा में सेवन करने पर यह कुछ अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। बहुत अधिक नींबू पानी मतली, दस्त और उल्टी का कारण बन सकता है। यह एक मूत्रवर्धक के रूप में भी कार्य करता है, जिसका अर्थ है कि यह शरीर में तरल पदार्थों के उत्सर्जन को बढ़ाता है जिसके परिणामस्वरूप बार-बार पेशाब आता है।

नींबू पानी पीने का सही समय
नींबू पानी पीने का कोई सही समय नहीं होता है। यह शरीर में एक क्षारीय वातावरण बनाता है और इसलिए सुबह सबसे पहले इसका सेवन करना सबसे अच्छा होता है। जब आप आराम की नींद के बाद उठते हैं, तो आपका शरीर सभी डिटॉक्सीफाइंग करता है और कुछ क्षारीय होने से पीएच संतुलन बनाए रखने में मदद मिलती है। आप अदरक और शहद के साथ नींबू पानी का सेवन कर सकते हैं। पेय की एंटीऑक्सीडेंट और रोगाणुरोधी सामग्री गुर्दे के स्वस्थ कामकाज का समर्थन करती है।

Web Title: die tips for kidney disease: Can lemon water harm your kidneys

स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे