Ayushman Bharat Yojna: procedure of covid-19 test in ayushman bharat yojna, how you can treatment under ayushman bharat | आयुष्मान भारत योजना : 3000 लोगों का मुफ्त में हुआ कोरोना टेस्ट, करोना की फ्री जांच कराने के लिए करें ये काम
आयुष्मान भारत योजना : 3000 लोगों का मुफ्त में हुआ कोरोना टेस्ट, करोना की फ्री जांच कराने के लिए करें ये काम

कोरोना संकट के बीच 'आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना' (Ayushman Bharat Yojna) के तहत करीब 3000 लोगों का फ्री कोरोना टेस्ट किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सितंबर 2018 को 'प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना-आयुष्मान भारत की शुरूआत की थी। इसे सरकार प्रायोजित दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सेवा योजना बताया गया है। 

2 हजार लोगों का हो रहा है कोविड-19 का इलाज

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) ने कहा कि देश में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) के तहत 2,132 लोगों ने कोविड-19 का इलाज कराया या करा रहे हैं। सितंबर 2018 में शुभारंभ होने के बाद से एक करोड़ से अधिक लोगों ने देशभर के अस्पतालों में करीब 13,412 करोड़ रुपये के निशुल्क इलाज का लाभ उठाया है।

 

53 करोड़ लाभार्थियों की होगी कोविड-19 की निशुल्क जांच

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने एक बयान में कहा, 'भारत सरकार आयुष्मान भारत पीएम-जेएवाई के सभी 53 करोड़ लाभार्थियों को कोविड-19 की निशुल्क जांच और इलाज देने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।’

उन्होंने कहा कि इस उपलब्धि के लिए जन स्वास्थ्य के मुद्दों पर चर्चा करने के लिए बनाई वेब सम्मेलनों की श्रृंखला आरोग्य धारा के पहले संस्कारण का आयोजन 21 मई को करने की योजना बनाई गई है। 

व्हाट्सएप पर बनेगा 'आस्क आयुष्मान' चैट बोट

बयान में कहा गया है कि इस सम्मेलन में हर्षवर्धन का प्रमुख संबोधन होगा और उनके व्हाट्सएप पर ‘आस्क आयुष्मान’ चैट बोट शुरू करने की संभावना है जिसमें एबी पीएजेएवाई के विभिन्न आयामों जैसे कि इसके लाभ, विशेषताएं, ई-कार्ड बनाने की प्रक्रिया, प्रतिक्रिया साझा करने और शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया के बारे में चौबीसों घंटे जानकारी मुहैया कराई जाएगी। 

अब तक 1 करोड़ लाभार्थियों को मिला लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ को पार कर गई है और इस योजना का काफी संख्या में लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, 'हम प्रत्येक भारतीय के लिये गर्व का विषय है कि आयुष्मान भारत के लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ को पार कर गई है । दो वर्ष से भी कम समय में इस कार्यक्रम ने काफी संख्या में लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डाला है।' 

इन बीमारियों का हुआ इलाज

एनएचए ने अपने बयान में कहा कि लोगों ने इस योजना के तहत सबसे अधिक हड्डी रोग, हृदय रोग, हृदय तथा वक्ष रोग और वाहिकीय रोग, विकिरणों से होने वाले कैंसर तथा मूत्र रोगों के लिए इलाज कराया। 

आयुष्मान भारत योजना के तहत कोरोनो वायरस का मुफ्त इलाज कैसे करा सकते हैं

- सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना के लिए आवेदन करना होगा।
- आपको आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट mera.pmjay.gov.in के तहत पंजीकरण करना होगा।
- सरकार की वेबसाइट पर लॉग ऑन करें।
- होम पेज पर जाएं और अपना मोबाइल नंबर डालें।
- ओटीपी जनरेट ऑप्शन पर क्लिक करें।
- अपने मोबाइल पर भेजे गए ओटीपी नंबर को सत्यापित करें।
- इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए आवश्यक विवरण भरें।

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)

English summary :
Amidst the corona crisis, about 3000 people have been tested free of cost by coronavirus under the 'Ayushman Bharat Health Insurance Scheme' (Ayushman Bharat Yojna). Prime Minister Narendra Modi launched 'Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana-Ayushman Bharat' on September 2018.


Web Title: Ayushman Bharat Yojna: procedure of covid-19 test in ayushman bharat yojna, how you can treatment under ayushman bharat
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे