Sidhharth on Ranbir Alia affair, Read top 5 bollywood gossips | रणबीर-आलिया पर क्या बोले पूर्व ब्वॉयफ्रेंड सिद्धार्थ मल्होत्रा, पढ़िए इस वीक की टॉप 5 बॉलीवुड गॉसिप
फाइल फोटो

पिछले वर्ष तक इनके बीच में सब कुछ ठीक-ठाक था। जनश्रुति के मुताबिक सिद्धार्थ मल्होत्रा आलिया के बॉयफेंड थे। लेकिन अब आलिया और रणबीर कपूर के रिश्तों को लेकर एक सरगर्मी मची हुई है। आलिया के आत्मीय संबंधों में गिरफ्त होकर अब रणबीर दावा कर रहे हैं कि आलिया ने उन्हें मनुष्य के तौर पर बहुत बदल दिया है। पर सिद्धार्थ क्या कर रहे हैं, यह सब सुनकर... एक विश्वस्त सूत्र की खबर पर यकीन करें तो वह बहुत पहले ही इस संपर्क से बाहर निकल आए हैं। सिद्धार्थ के मुताबिक दोनों अब सिर्फ अच्छे दोस्त हैं। 

बड़े बाप के बेटे जुबिन 

इंडस्ट्री में नवोदित गायक जुबिन नौटियाल अभी चंद दिन पहले ही आए हैं। पर आते ही उन्होंने अपनी पहचान काफी दुरुस्त कर ली है। हाल-फिलहाल कुछेक म्यूजिक शो में उन्हें सम्मानित किया जाने लगा है। कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि राजनेता पिता और बिजनेस वुमैन मां की वजह से उनकी यह सशक्त पहचान बनी है। लेकिन जुबिन इस टैग को सिरे से खारिज कर देते हैं। वह कहते हैं, ‘मेरे माता-पिता की प्रतिष्ठा को छोड़ दीजिए। वह भी संगीत के साथ गहराई से जुड़े हुए हैं। संगीत के प्रति मेरे लगाव की एक बड़ी वजह वह भी है। उनके चलते ही घर में संगीत को लेकर चर्चा होती थी। उन्होंने कभी मुझ पर कुछ नहीं थोपा। इसके चलते ही मैं बचपन से बहुत खुले मन से गानों को लेकर विचार-विमर्श करने के लिए स्वतंत्र था। स्कूल में मेरा प्रिय सब्जेक्ट था क्लासिकल म्यूजिक।’

एप्प की उर्वशी

बोल्ड बाला उर्वशी रौतेला के शौक भी निराले हैं। उनके तरह-तरह के शौक को पूरा करने में वह अपने मोबाइल में मौजूद एप्प पर बहुत भरोसा करती हैं। अब जैसे कि ज्यादातर हीरोइन के बारे में यह एक आम धारणा है, वह अपनी डायट को लेकर बहुत ज्यादा सजग रहती हैं। लेकिन उर्वशी इसके उलट बेहद फूडी हैं। इसलिए जोमैटो उनका प्रिय एप्प है। इसी तरह से अपने मोबाइल के कई एप्प पर उनका बहुत भरोसा है। अपनी फिटनेस के लिए फिटनेस एप्प का खूब इस्तेमाल करती हैं। पर बावजूद इसके वह किसी एप्प की क्रेजी नहीं हैं। वह कहती हैं, ‘मैं अपनी निजी जिंदगी को किसी भी तरह के डिजिटल साधनों से बचाए रखती हूं। दोस्तों के बीच रहने पर मोबाइल का बजना या मोबाइल सेवी होना मुझे अच्छा नहीं लगता है। मैं मानती हूं कि मैं कुछ एप्प की क्रेजी हूं पर इन्हें फुर्सत में सर्व करना ही मुझे पसंद है।’  

अक्षय की पसंद

इधर अक्षय कुमार अपनी नई फिल्म ‘गोल्ड’ के प्रमोशन को लेकर मशगूल हैं। गौर से देखें तो अक्की को इस तरह की देशभक्ति की फिल्में खूब लुभाती हैं। लेकिन खुद अक्की निजी जीवन में हर तरह की फिल्में देखना पसंद करते हैं। वह कहते हैं, ‘फुर्सत में मैं एक दर्शक के तौर पर हर तरह की फिल्में देखना चाहता हूं। लेकिन देश की आलोचना करने वाली फिल्में मुझे सख्त नापसंद हैं। इसका कुछ लोगों को बुरा लग सकता है। देश के कुछ लोग बुरे हैं तो इसका मतलब यह नहीं है कि पूरा देश खराब है। इसलिए आपने देखा होगा कि एयरलिफ्ट, बेबी, टॉयलेट-एक प्रेम कथा जैसी फिल्मों में कुछेक खराब लोगों को ही मैंने टार्गेट किया है। इन सभी फिल्मों में कभी किसी देश पर कोई आरोप नहीं लगाया गया है। मेरी नई फिल्म ‘गोल्ड’ भी किसी आरोप-प्रत्यारोप से बहुत दूर है। भाषणबाजी वाली फिल्में मुझे जरा भी पसंद नहीं हैं। इनकी बजाय मैं कार्टून फिल्में ज्यादा मजे से देखता हूं।

आयुष्मान का प्रतिद्वंद्वी

आइफा अवार्ड या कोई दूसरा इवेंट हो, आप यहां गायक अभिनेता आयुष्मान को अपने अंदाज में झूमते हुए देख सकते हैं। सच तो यह है कि वह अपने करियर को लेकर एक ऐसा गेम खेल रहे हैं, जिसमें उनका कोई प्रतिद्वंद्वी नहीं है। वह बताते हैं, ‘मैं तो सब कुछ भूलकर हर बार यही कोशिश करता हूं कि अपनी पिछली फिल्म से बेहतर काम करूं। असल में दूसरों को अपना प्रतिद्वंद्वी मानने का मतलब है, अपने बेहतर काम को क्षति पहुंचाना। तब मेरे दिमाग में सिर्फ एक बात चलती रहेगी कि अन्य लोग क्या काम कर रहे हैं, उसका काम अच्छा हुआ या खराब। यह सब होने पर मैं सब कुछ भूल कर अपने काम में कैसे ध्यान दूंगा।’ वाह क्या सोच है। 


बॉलीवुड चुस्की से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे