Former President Barack Obama's wife Michelle called Donald Trump "nostalgic" | पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की पत्नी मिशेल ने डोनाल्ड ट्रंप को कहा-‘नस्लवादी’
बाइडेन के पक्ष में वकालत करते हुए मिशेल ने 24 मिनट लंबे वीडियो संदेश में बेहद भावनात्मक अपील की।

Highlightsतीखे हमले करते हुए उन पर ‘‘नस्लवादी’’ होने का आरोप लगाया और कहा कि वह ‘‘इस काम के योग्य नहीं हैं।अमेरिकियों से कहा कि देश बेहद खराब स्थिति में हैं और मतदाताओं को पता होना चाहिए कि क्या दांव पर लगा है।

वाशिंगटनः अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की पत्नी मिशेल ओबामा ने मंगलवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर तीखे हमले करते हुए उन पर ‘‘नस्लवादी’’ होने का आरोप लगाया और कहा कि वह ‘‘इस काम के योग्य नहीं हैं।’’

मिशेल ने अमेरिकियों से अनुरोध किया कि देश में स्थिरता के लिए सभी राष्ट्रपति चुनाव में सोच-समझकर मतदान करें। डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन के पक्ष में वकालत करते हुए मिशेल ने 24 मिनट लंबे वीडियो संदेश में बेहद भावनात्मक अपील की। उन्होंने अमेरिकियों से कहा कि देश बेहद खराब स्थिति में हैं और मतदाताओं को पता होना चाहिए कि क्या दांव पर लगा है।

रूस को चुनाव से दूर रहना चाहिए: अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार

व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रोबर्ट ओ’ब्रायन ने मंगलवार को कहा कि राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले चुनाव में किसी अन्य देश के हस्तक्षेप को अमेरिका स्वीकार नहीं करेगा। ओ’ब्रायन ने कहा कि उन्होंने अपने रूसी समकक्ष निकोलई पेत्रुशेव से नवंबर में अमेरिका में होने वाले चुनाव से ‘‘दूर रहने’’ को कहा और इन निर्देशों का उल्लंघन करने वाले देश को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतवानी दी।

उन्होंने कहा, ‘‘रूस के अधिकारियों ने बताया कि उनकी ऐसा कुछ भी करने की कोई योजना नहीं है।’’ ओ’ब्रायन ने कहा कि 2016 के चुनाव में हस्तक्षेप के बाद रूस पर प्रतिबंध लगाए गए थे और उन्हें उम्मीद है कि इससे अन्य देश भी ऐसा करने से परहेज करेंगे।

उन्होंने कहा कि रूस, चीन और ईरान के हस्तक्षेप के पहले ही सबूत मिल चुके हैं। उन्होंने जिनेवा में शुक्रवार को पेत्रुशेव के साथ बैठक के बाद कहा था, ‘‘स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव लोकतंत्र का आधार हैं और हम किसी भी अन्य देश या सरकार का हस्तक्षेप स्वीकार नहीं करेंगे।’’

ट्रम्प के संक्रमणमुक्त होने तक दूसरी बहस के खिलाफ हैं बाइडेन

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने मंगलवार को कहा कि यदि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अगर अगले सप्ताह तक कोविड-19 से उबर नहीं पाते हैं, तो राष्ट्रपति पद की दूसरी आधिकारिक बहस (प्रेसिडेंशियल डिबेट) नहीं होनी चाहिए। पूर्व उप राष्ट्रपति बाइडेन ने पत्रकारों से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि अगर वह कोविड-19 से उबर नहीं पाते, तो हमें बहस नहीं करनी चाहिए।’’ बाइडेन और ट्रम्प के बीच पहली आधिकारिक बहस 29 सितम्बर को हुई थी।

दूसरी आधिकारिक बहस 15 अक्टूबर को मियामी और तीसरी एवं अंतिम बहस 22 अक्टूबर को टेनेसी के नैशविले में होनी है। बाइडेन ने कहा कि उन्हें दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘कई लोग संक्रमित हो गए हैं। यह एक गंभीर समस्या है, इसलिए मैं क्लीवलैंड क्लिनिक के दिशा-निर्देशों का पालन करूंगा और जो डॉक्टर कहेंगे, वही करूंगा।’’ बाइडेन ने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि राष्ट्रपति की सेहत अभी कैसी है। मैं उनके साथ बहस को तैयार हूं और उम्मीद करता हूं कि सभी दिशा-निर्देशों का पालन किया जाए।’’

ट्रम्प ने मंगलवार को ट्वीट किया था कि वह दूसरी बहस के लिए उत्साहित हैं। राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘मैं 15 अक्टूबर बृहस्पतिवार को मियामी में बहस के लिए उत्साहित हूं।’’ इससे पहले बाइडेन ने पेंसिल्वेनिया में कहा था कि अमेरिका में नफरत के लिए कोई जगह नहीं है।

उन्होंने कहा था, ‘‘अमेरिका में नफरत के लिए कोई जगह नहीं है। इसे अनुमति नहीं दी जाएगी, इसे किसी तरह बढ़ावा नहीं दिया जाएगा, इसे पनाह नहीं दी जाएगी।’’ देश के उप राष्ट्रपति माइक पेंस और डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से उन्हें चुनौती देने वाली सीनेटर कमला हैरिस के बीच बुधवार को उटाह की सॉल्ट लेक सिटी में उप राष्ट्रपति पद की बहस होगी। अमेरिका में तीन नवम्बर को राष्ट्रपति चुनाव होने हैं। 

Web Title: Former President Barack Obama's wife Michelle called Donald Trump "nostalgic"
विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे