Mystery prevails over Advani, Joshi's presence, Vinay Katiyar will be present in Ram temple Bhoomipujan ceremony | आडवाणी, जोशी की मौजूदगी पर रहस्य कायम, विनय कटियार रहेंगे राम मंदिर भूमिपूजन समारोह में उपस्थित
लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी राम मंदिर आंदोलन के प्र्मुख चेहरों में से एक हैं.

Highlightsमुरली मनोहर जोशी ने बताया कि न तो किसी ने इस बाबत उनसे बात की है और न ही कोई निमंत्रण मिला हैआडवाणी के नजदीकी सूत्रों के मुताबिक उन्हें भी किसी की भी तरफ से औपचारिक निमंत्रण नहीं मिला है.

90 के दशक के राम जन्मभूमि आंदोलन के पांच प्रमुख चेहरों में से विनय कटियार ऐसे इकलौते भाजपा नेता होंगे, जो बुधवार को अयोध्या में राम जन्मभूमि के भूमिपूजन कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे. कटियार ने लोकमत को बताया कि उन्हें निमंत्रण मिल चुका है और इस समारोह में मौजूदगी उनके लिए सम्मान का विषय है. उन्होंने बाकी भाजपा नेताओं की मौजूदगी के सवाल पर चुप्पी साध ली.

1990 में अयोध्या रथयात्रा का नेतृत्व करने वाले लालकृष्ण आडवाणी, तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती और विनय कटियार उस संघर्ष के, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा प्रमुख चेहरे थे. 25 सितंबर 1990 को सोमनाथ से मुंबई तक की यात्रा के मोदी मुख्य आयोजक थे. भूमिपूजन के बाद जाएंगी उमा उमा भारती पहले ही कह चुकी हैं कि उन्हें निमंत्रण मिला है, लेकिन वह सरयू नदी के किनारे पूजा करेंगी. भूमिपूजन के बाद ही वह मंदिर स्थल पर जाएंगी. 

इस बीच लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी की उपस्थिति पर रहस्य कायम है. चंपत राय का दावा ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने दावा किया था कि 90 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोविड-19 से उपजे हालातों के चलते समारोह में नहीं बुलाया गया है. उन्होंने इस सवाल का कोई जवाब नहीं दिया कि जोशी तो 86 बरस के हैं, फिर उन्हें क्यों दूर रखा गया. उन्होंने खुलासा किया कि वह इस बारे में दिल्ली में आडवाणी और जोशी से बात कर चुके हैं.

न बात न निमंत्रण

इस बीच डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने लोकमत को बताया कि न तो किसी ने इस बाबत उनसे बात की है और न ही कोई निमंत्रण मिला है. लेकिन इस घटनाक्रम को लेकर उनके मन में कोई कड़वाहट नहीं है. उनका कहना है कि संघ का स्वयंसेवक होने के कारण उन्हें इस बात की खुशी है कि सरसंघचालक मोहन भागवत मंच पर संघ का प्रतिनिधित्व करेंगे. आडवाणी के नजदीकी सूत्रों के मुताबिक उन्हें भी किसी की भी तरफ से औपचारिक निमंत्रण नहीं मिला है.

जोशी, आडवाणी हैं सूची में!

उल्लेखनीय तौर पर ट्रस्ट के चेयरमैन नृत्य गोपाल दास की उम्र 82 वर्ष से ज्यादा है, फिर भी वह मोदी के साथ मंच साझा करेंगे. विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने लोकमत को सोमवार को बताया था कि आडवाणी और डॉ. जोशी को बुलाया गया है और उन्होंने उनका नाम आमंत्रितों की सूची में देखा है.

Web Title: Mystery prevails over Advani, Joshi's presence, Vinay Katiyar will be present in Ram temple Bhoomipujan ceremony
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे