vasundhara raje government will launch annapurna milk scheme | राजस्थान में अम्मा कैंटीन की तर्ज पर शुरू हुई थी अन्नपूर्णा रसोई, अब छात्रों को फ्री दूध पीलाएगी सरकार

जयपुर, 18 मईः तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन की तर्ज पर राजस्थान की वसुंधरा सरकार ने अन्नपूर्णा रसोई शुरू की, जिसके जरिए लोगों को कम दामों भरपेट भोजन परोसा जा रहा है। इस योजना को लेकर लोगों ने सरकार की जमकर तारीफ की। इसी कड़ी में वसुंधरा राजे सरकार एक और कदम उठाने जा रही है, जिसके जरिए वह सरकारी विद्यालयों में अध्ययनरत छात्रों को निशुल्क दूध पिलाएगी।

प्रदेश के सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए 2 जुलाई से अन्नपूर्णा दूध योजना शुरू होने जा रही है। इस संबंध में शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी का कहना है कि इस योजना को पूरे प्रदेश में सूबे की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शुरू करेंगी।

उनका कहना है कि राज्य के सरकारी स्कूलों में अध्ययरत बच्चों को इस योजना के तहत कक्षा एक से पांच तक के बच्चों को 150 एमएल और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को 200 एमएल दूध विद्यालयों में पिलाया जाएगा। दूध वितरण का प्रबंध विद्यालय प्रबंध समितियों के माध्यम से किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि स्कूली बच्चों को दूध के जरिए पोषण प्रदान करने की इस योजना के लिए भामाशाहों से भी सहयोग की अपील की गई है।

बता दें, वसुंधरा राजे सरकार ने 15 दिसंबर 2016 को अन्नपूर्णा रसोई को शुरू किया था। इसे शुरुआत में जयपुर समेत 12 जिलों में 75 रसोई वैनों के जरिए सस्ता खाना मुहैया कराया जा रहा था, जिसके बाद इसका विस्तार किया गया है और सूबे के 190 शहरों में इसे शुरू करने की योजना रखी गई थी। अन्नपूर्णा रसोई वैन में 8 रुपए में खाना और 5 रुपए में नाश्ता दिया जाता है।