मान गए तेजप्रताप! राबड़ी देवी से मुलाकात के बाद बदल रहे हैं सुर, तेजस्वी को दिया सीएम बनने का आशीर्वाद

By एस पी सिन्हा | Published: October 14, 2021 07:20 PM2021-10-14T19:20:06+5:302021-10-14T19:25:44+5:30

तेजप्रताप यादवा ने पार्टी और परिवार के खिलाफ हाल में मोर्चा खोल दिया था. इसके बाद राबड़ी देवी पटना आईं थी. राबड़ी देवी पटना हवाई अड्डे से सीधे तेजप्रताप के सरकारी आवास पर पहुंची थीं हालांकि तब दोनों की मुलाकात नहीं हो सकी थी.

Tej Pratap give blessings to Tejashwi Yadav to become CM after meeting Rabri Devi | मान गए तेजप्रताप! राबड़ी देवी से मुलाकात के बाद बदल रहे हैं सुर, तेजस्वी को दिया सीएम बनने का आशीर्वाद

राबड़ी देवी ने तेजप्रताप को मनाया (फाइल फोटो)

Next
Highlightsतेजप्रताप ने छोटे भाई तेजस्वी को आशीर्वाद दिया और कहा है कि वो बिहार के मुख्यमंत्री बन जनता की सेवा करें।मां राबड़ी देवी से पटना में मुलाकात के बदले तेजप्रताप के सुर।तेजप्रताप ने तारापुर और कुशेश्वरस्थान में राजद के खिलाफ प्रचार करने की खबरों को भी खारिज कर दिया है।

पटना: राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के दोनों लाल तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव के बीच हाल में लगातार तल्खी की खबरें सुर्खियां बनती रही हैं. वहीं, अब नवरात्र में अब तेजप्रताप ने अपने छोटे भाई तेजस्वी को आशीर्वाद दिया है और कहा है कि वो बिहार के मुख्यमंत्री बन जनता की सेवा करें. 

पटना में संवाददातओं से बातचीत के दौरान उन्होंने तेजस्वी को आशीर्वाद देते हुए कुशेश्वरस्थान उपचुनाव में राजद के खिलाफ चुनाव प्रचार करने की खबरों को सिरे से खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि ये सब अफवाह है. इसके पहले तेजप्रताप आर-पार के मूड में दिखाई दे रहे थे. तेजप्रताप ने तारापुर में भी राजद प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव प्रचार करने से मना कर दिया है. 

राबड़ी देवी ने तेजप्रताप को मनाया!

बताया जा रहा है कि मां राबड़ी देवी से पटना में मिलने और उनके द्वारा समझाये जाने का असर दिखने लगा है. तेजप्रताप अब मां राबड़ी देवी से मुलाकात के बाद बहुत नपा-तुला बोल रहे हैं. उनमें कोई गुस्सा नहीं दिख रहा है. मीडिया के सवालों का जवाब भी कम शब्दों में दे रहे हैं. 

उल्लेखनीय है कि तेजप्रताप ने पार्टी और परिवार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. इसके बाद राबड़ी देवी पटना आईं थी. राबड़ी देवी पटना हवाई अड्डे से सीधे तेजप्रताप के सरकारी आवास पर पहुंची थीं, लेकिन उनके आने की भनक तेजप्रताप को पहले ही लग गई थी. 

लिहाजा तेजप्रताप ने पहले ही घर छोड़ दिया था. ऐसे में मां-बेटे की मुलाकात नहीं हो सकी थी. इसके कई दिनों बाद वह अपनी मां से मिलने गये थे. इसके बाद उनमें बदलाव देखा जाने लगा है. कहा जा रहा है जब भी तेजप्रताप बगावत करते हैं, उन्हें लालू यादव अथवा राबड़ी देवी ही मना पाते हैं. इनको छोडकर वह किसी दुसरे की नहीं सुनते. 

पहले तेजप्रताप ने पोल खोलने की कही थी बात

इसके पहले तेजप्रताप ने कहा भी था कि राजद प्रमुख के पटना आने पर वे सबकी पोल खोलेंगे. सबके बारे में बताएंगे कि पार्टी और परिवार के लिए कौन-कितना घातक है. 

इस बीच राबड़ी देवी ने इस खबर को खारिज कर दिया है कि लालू प्रसाद यादव पटना आयेंगे. उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि वह अभी बिहार नहीं आएंगे. उन्होंने कहा कि उनका अभी इलाज चल रहा है.

 राबड़ी देवी के इस बयान के बाद लालू यादव के उपचुनाव में प्रचार करने पर ग्रहण लगता दिख रहा है. पूर्व मुख्यमंत्री ने गुरुवार को पटना एयरपोर्ट पर संवाददाताओं से बातचीत के दौरान ये बात कहीं. इसके साथ ही उन्होंने कुशेश्वरस्थान और तारापुर सीट पर पार्टी की जीत का दावा किया. उन्होंने कहा कि दोनों सीट पर राजद जीतेगी.

Web Title: Tej Pratap give blessings to Tejashwi Yadav to become CM after meeting Rabri Devi

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे