सुधार उस चीज पर सवाल उठाने से नहीं आता, जिसका फायदा उठाया गया हो: खुर्शीद ने ‘जी-23’ की निंदा की

By भाषा | Published: June 20, 2021 01:41 PM2021-06-20T13:41:34+5:302021-06-20T13:41:34+5:30

Reform doesn't come by questioning what has been taken advantage of: Khurshid slams 'G-23' | सुधार उस चीज पर सवाल उठाने से नहीं आता, जिसका फायदा उठाया गया हो: खुर्शीद ने ‘जी-23’ की निंदा की

सुधार उस चीज पर सवाल उठाने से नहीं आता, जिसका फायदा उठाया गया हो: खुर्शीद ने ‘जी-23’ की निंदा की

Next

(आसिम कमाल)

नयी दिल्ली, 20 जून कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने पार्टी में सुधार की फिर से अपील करने वाले ‘जी-23’ नेताओं पर निशाना साधते हुए रविवार को कहा कि सुधार उस चीज पर अचानक सवाल उठाने से नहीं आता, जिसका वर्षों तक ‘‘फायदा उठाया गया’’ हो, बल्कि यह त्याग से आता है।

खुर्शीद ने सवाल किया कि जो लोग संगठनात्मक चुनावों का आह्वान कर रहे हैं, क्या वे इसी तरह पार्टी में उस जगह पर पहुंचे है, जहां वे अभी हैं।

‘जी-23’ के नेता एम वीरप्पा मोइली ने पार्टी को चुनावी रूप से अधिक प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए इसकी ‘‘बड़ी सर्जरी’’ की आवश्यकता पर जोर दिया था।

मोइली के इस बयान के कुछ दिन बाद खुर्शीद ने कहा कि ये ‘‘अच्छे वाक्यांश उत्तर नहीं हैं’’, क्योंकि पार्टी नेताओं को पिछले 10 वर्ष में पैदा हुई चुनौतियों से मिलकर निपटने की जरूरत है।

खुर्शीद ने ‘पीटीआई-भाषा’ को दिए साक्षात्कार में कहा कि यह फैसला राहुल गांधी को करना है कि वह पार्टी के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ना चाहते हैं या नहीं।

उन्होंने कहा कि राहुल पार्टी अध्यक्ष हों या न हों, वह ‘‘हमारे नेता’’ रहेंगे।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Reform doesn't come by questioning what has been taken advantage of: Khurshid slams 'G-23'

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे