प्रज्ञा ठाकुर को पीएम मोदी ने दिल से नहीं किया माफ! जीत की बधाई देने पहुंची तो फेर लिया मुंह

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: May 26, 2019 10:49 AM2019-05-26T10:49:19+5:302019-05-26T10:49:19+5:30

प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने महात्मा गांधी के हत्या नाथूराम गोडसे को महान देशभक्त बताया था। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नाराजगी जाहिर की थी।

Pragya Singh Thakur Narendra Modi central hall parliamentary board meeting | प्रज्ञा ठाकुर को पीएम मोदी ने दिल से नहीं किया माफ! जीत की बधाई देने पहुंची तो फेर लिया मुंह

प्रज्ञा सिंह ठाकुर (फाइल फोटो)

Next
Highlightsजब प्रज्ञा ठाकुर पीएम मोदी को बधाई देने पहुंची तो उन्होंने मुंह फेर लिया और आगे बढ़ने का संकेत किया।प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को तीन लाख से ज्यादा वोटों से हरा दिया।

नरेंद्र मोदी ने प्रज्ञा सिंह ठाकुर को अभी तक माफ नहीं किया है! प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने महात्मा गांधी के हत्या नाथूराम गोडसे को महान देशभक्त बताया था। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नाराजगी जाहिर की थी। ये नाराजगी शनिवार को संसद के सेंट्रल हॉल में भी देखने को मिली। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जब प्रज्ञा ठाकुर पीएम मोदी को बधाई देने पहुंची तो उन्होंने मुंह फेर लिया और आगे बढ़ने का संकेत किया।

शनिवार को संसद के सेंट्रल हाल में एनडीए की बैठक में नरेंद्र मोदी को संसदीय दल का नेता चुना गया। वहां मौजदू सभी सांसद नरेंद्र मोदी को बधाई दे रहे थे। मोदी भी सभी से मुस्कुरा कर अभिवादन स्वीकार कर रहे थे। इसी बीच  प्रज्ञा ठाकुर भी नरेंद्र मोदी को बधाई देने पहुंची तो उन्होंने अपना मुंह फेर लिया और आगे बढ़ने का इशारा कर दिया।

गौरतलब है कि गोडसे विवाद पर पीएम मोदी ने कहा था, 'महात्मा गांधी और नाथूराम गोडसे को लेकर जो भी बातें की गईं हैं, वो भयंकर खराब हैं। ये बातें पूरी तरह से घृणा के लायक हैं, सभ्य समाज के अंदर इस प्रकार की बातें नहीं चलती हैं। पीएम मोदी ने कहा कि भले ही इस मामले में उन्होंने (प्रज्ञा ठाकुर) माफी मांग ली हो, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें कभी भी माफ नहीं कर पाऊंगा।'

प्रज्ञा सिंह ठाकुर भोपाल संसदीय सीट से सांसद चुनी गई हैं। उन्होंने कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को तीन लाख से ज्यादा वोटों से हरा दिया। चुनाव प्रचार के दौरान प्रज्ञा सिंह ने कई विवादित बयान दिए थे। जिसमें शहीद हेमंत करकरे को श्राप से हुई मौत और नाथूराम गोडसे को महान देशभक्त बताना शामिल था। प्रज्ञा ठाकुर 2008 मालेगांव ब्लास्ट मामले में आरोपी हैं और जमानत पर बाहर हैं।

Web Title: Pragya Singh Thakur Narendra Modi central hall parliamentary board meeting

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे