दशहरा रैली पर बॉम्बे हाईकोर्ट से मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को मिली शिकस्त पर एनसीपी ने कहा, 'कोर्ट ने शिवसेना के साथ सही न्याय किया'

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: September 23, 2022 10:42 PM2022-09-23T22:42:28+5:302022-09-23T22:47:17+5:30

बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा शिवाजी पार्क में आयोजित होने वाली दशहरा रैली के फैसले का स्वागत करते हुए एनसीपी ने मुंबई के शिवाजी पार्क मैदान में उद्धव गुट को सालाना दशहरा रैली की अनुमति देकर कोर्ट ने सिद्ध कर दिया है कि असली शिवसेना उद्धव ठाकरे के साथ है।

On the defeat of Chief Minister Shinde from Bombay High Court on Dussehra rally, NCP said, 'Court did right justice' | दशहरा रैली पर बॉम्बे हाईकोर्ट से मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को मिली शिकस्त पर एनसीपी ने कहा, 'कोर्ट ने शिवसेना के साथ सही न्याय किया'

फाइल फोटो

Next
Highlightsएनसीपी ने शिवाजी पार्क की दशहरा रैली के संबंध में बॉम्बे हाईकोर्ट के दिये फैसले का स्वागत कियाबॉम्बे हाईकोर्ट ने इस मामले में सही फैसला देकर उद्धव ठाकरे की शिवसेना के साथ न्याय किया हैदशहरा पर जिन्हें मुख्यमंत्री शिंदे का भाषण सुनना हो, वे बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स जा सकते हैं

मुंबई: बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा शिवाजी पार्क में आयोजित होने वाली दशहरा रैली के संबंध में उद्धव ठाकरे के पक्ष में फैसला देने का स्वागत करते हुए शरद पवार की पार्टी एनसीपी ने कहा कि इस फैसला का महाराष्ट्र की सभी राजनैतिक दल स्वागत करते हैं और कोर्ट ने इस मामले में उद्धव ठाकरे की शिवसेना के साथ न्याय किया है।

एनसीपी ने शुक्रवार को बॉम्बे हाईकोर्ट से मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के खेमे को शिकस्त को सही ठहराते हुए कहा कि मुंबई के शिवाजी पार्क मैदान में उद्धव गुट को सालाना दशहरा रैली की अनुमति देकर कोर्ट ने सिद्ध कर दिया है कि असली शिवसेना उद्धव ठाकरे के साथ है और नकली शिनसेना मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की अगुवाई में भाजपा के साथ मिलकर राज्य की सत्ता पर कब्जा किये हुए है।

एनसीपी के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजीत पवार ने कोर्ट के फैसले पर खुशी जताते हुए कहा कि दशहरा के मौके पर जिन्हें भी मुख्यमंत्री शिंदे का भाषण सुनना हो, वे बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स जा सकते हैं और जिन्हें ठाकरे को सुनना होगा वो शिवाजी पार्क की रैली में जाएंगे।

उन्होंने कहा, "मैंने इस फैसले से पहले ही कहा था कि यदि बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स शिंदे गुटो मिला है तो उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना को शिवाजी पार्क में रैली करने का अधिकार मिलना चाहिए। इस पार्टी को स्वर्गीय बालासाहेब ठाकरे ने शुरू किया था और उन्होंने ही शिवाजी पार्क में दशहरा रैली के आयोजन की परंपरा रखी थी। बालासाहेब ने जिंद रहते हुए कह दिया था कि उनके बाद शिवसेना का नेतृत्व उद्धव ठाकरे करेंगे तो उस लिहाज से उद्धव की शिवसेना ही असली शिवसेना हुई और शिवाजी पार्क पर उसी का हक बनता है।"

इसके साथ ही महाराष्ट्र के पूर्व डिप्टी सीएम अजीत पवार ने कहा कि हाईकोर्ट के फैसले से साफ पता चलता है कि न्यायिक प्रणाली उस वक्त न्याय देती है जब हर जगह न्याय को नकार दिया जाता है।

उन्होंने कहा, "इस आदेश से शिवसेना को और उद्धव ठाकरे को न्याय मिला है। मुझे खुशी है कि बॉम्बे हाईकोर्ट के आज के फैसले से शिव सैनिकों में नये सीरे उत्साह आयेगा और दशहरा रैली पूरे धूमधाम से मनाई जाएगी।"

Web Title: On the defeat of Chief Minister Shinde from Bombay High Court on Dussehra rally, NCP said, 'Court did right justice'

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे