Maharashtra government cremated pilot Deepak Sathe with state honors | महाराष्ट्र सरकार ने राजकीय सम्मान के साथ पायलट दीपक साठे का अंतिम संस्कार किया
साठे का अंतिम संस्कार उनके कुछ रिश्तेदारों की मौजूदगी में विखरोली के टैगोरनगर विद्युत श्मशान घाट में किया गया।

Highlightsविंग कमांडर (सेवानिवृत्त) दीपक साठे का मंगलवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। चांदीवली में उनके आवास से जब शवयात्रा शुरू हुई तब सड़कों पर शोकाकुल लोगों की कतार लगी थी।

मुंबई: पिछले हफ्ते केरल में दुर्घटनाग्रस्त हुए एअर इंडिया एक्सप्रेस विमान के पायलट-इन-कमांड, विंग कमांडर (सेवानिवृत्त) दीपक साठे का मंगलवार को यहां राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। चांदीवली में उनके आवास से जब शवयात्रा शुरू हुई तब सड़कों पर शोकाकुल लोगों की कतार लगी थी। लोग ‘दीपक साठे, अमर रहें’’ के नारे लगा रहे थे। साठे का अंतिम संस्कार उनके कुछ रिश्तेदारों की मौजूदगी में विखरोली के टैगोरनगर विद्युत श्मशान घाट में किया गया।

कोविड-19 महामारी के मद्देनजर अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले लोगों की संख्या सीमित रखी गई थी। साठे की अंतिम यात्रा शुरू होने से पहले उनके रिश्तेदारों, दोस्तों और मुंबई की महापौर किशोरी पेडनेकर समेत अन्य ने उनके आवास पर पुष्पांजलि अर्पित की।

इससे पहले सुबह में, महाराष्ट्र सरकार ने पायलट का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ करने का फैसला किया और कहा था कि उनका जीवन युवा पायलटों को प्रेरित करेगा। चालक दल के छह सदस्यों समेत 190 लोगों के साथ दुबई से आ रहा एअर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान शुक्रवार की रात भारी बारिश के बीच कोझिकोड हवाई अड्डे पर उतरने के दौरान हवाई पट्टी से फिसलने के बाद 35 फुट गहरी खाई में जा गिरा और उसके दो टुकड़े हो गए थे।

उस हादसे में दोनों पायलट समेत 18 लोगों की मौत हो गई थी। साठे के पार्थिव शरीर को बांद्रा के भाभा अस्पताल लाने से पहले छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर टर्मिनल 2 के एअर इंडिया के केंद्र पर रखा गया था। मंगलवार की सुबह, उनका शव अस्पताल से चांदीवली स्थित उनके घर लाया गया।

आवासीय परिसर के निवासियों ने पायलट को श्रद्धांजलि दी। कुछ को उनकी बालकनियों से साठे को सलाम करते हुए भी देखा गया। पायलट के पिता, कर्नल वसंत साठे (सेवानिवृत्त) और मां नीला (83) चांदीवली आवास पर मौजूद थीं। वे नागपुर में रहते हैं और सोमवार को मुंबई पहुंचे थे। अमेरिका में रहने वाले, पायलट के बड़े बेटे शांतनु भी अंतिम संस्कार के लिए सोमवार को मुंबई पहुंचे।

अंतिम संस्कार किए जाने के दौरान, उनके, उनकी मां और छोटे भाई धनंजय की आंखों में आंसू थे। भारतीय वायुसेना की तरफ से उनके शव पर पुष्पचक्र अर्पित किया गया। एअर इंडिया से पहले वह वायुसेना में परीक्षण पायलट थे। शवयात्रा में पायलटों, चालक दल के सदस्यों और विमानन क्षेत्र के अन्य लोगों ने भी हिस्सा लिया। 

Web Title: Maharashtra government cremated pilot Deepak Sathe with state honors
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे