Lalu Prasad Yadav's call case bihar deputy cm tar kishore prasad demands inquiry write a letter to CM Hemant Soren | लालू प्रसाद यादव की कॉल से गरमाई सियासत, उप मुख्यमंत्री बोले- सीएम हेमंत सोरेन को लिखेंगे पत्र, तिहाड़ जेल भेजने की मांग
तेजस्वी यादव जिस तरीके से लोकतंत्र की दुहाई की बात कर रहे थे. लेकिन इतना वह हताश क्यों हैं. (file photo)

Highlightsकथित तौर पर फोन करने को लेकर बवाल थमता नजर नहीं आ रहा है.भाजपा मामले को लेकर रांची हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल करेगी. तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि वोटिंग के दौरान दबाव बनाया गया.

पटनाः बिहार विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए रांची से लालू के भाजपा विधायक को कथित तौर पर फोन करने को लेकर बवाल थमता नजर नहीं आ रहा है.

इस सियासी बवाल के बाद भाजपा ने उन्हें वापस कोटवार जेल भेजने की मांग कर रही है. बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने झारखंड सरकार से लालू प्रसाद यादव पर कार्रवाई करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि लालू ने भाजपा विधायक ललन पासवान को धमकी दी और कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में वोट मत करना. कॉल झारखंड से आया तो मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इस पर कार्रवाई करें. 

वहीं, भाजपा मामले को लेकर रांची हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल करेगी. बिहार भाजपा के अध्यक्ष डा. संजय जायवाल ने कहा कि लालू के फोन मामले में भाजपा रांची हाई कोर्ट में पीआईएल दाखिल करेगी. इसबीच तारकिशोर प्रसाद ने स्पष्ट कर दिया कि अगर हेमंत सोरेन की सरकार लालू प्रसाद पर कार्रवाई नहीं करती हैं, तो वह इस मामले को लेकर केंद्र सरकार से गुहार लगाएंगे.

अगर जरूरत पड़ी तो वह सीबीआई से भी जांच की मांग कर सकते हैं. तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि वोटिंग के दौरान दबाव बनाया गया. विधानसभा में वोटों की गिनती कर रहे विधानसभा के कर्मी का नोटबुक छिना गया. तेजस्वी यादव जिस तरीके से लोकतंत्र की दुहाई की बात कर रहे थे. लेकिन इतना वह हताश क्यों हैं.

एक तरह वह लोकतंत्र की दुहाई देते हैं तो दूसरी तरह भाजपा विधायक को कॉल कर लालू प्रसाद धमकी दे रहे हैं. क्या यह सही है? कानून का उल्लंघन करना लालू प्रसाद का रिकॉर्ड रहा है. इसबीच, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से लालू यादव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के आरोप के बाद मरांडी ने सजायाफ्ता लालू को मिल रही सुविधाओं पर भी सवाल उठाया है. राज्य में व्यवस्था पर तंज कसते हुए उन्होंने लालू को राजकीय अतिथि के रूप में पहचान मिलने की बात लिखी है. उन्होंने मुख्यमंत्री को ट्वीट करते हुए लिखा है कि लालू की इन गतिविधियों से तो आपकी सरकार वाकिफ ही होगी. आपने उन्हें ‘राजकीय अतिथि’ की तरह रखा हुआ है. अब वे उस तथाकथित ‘जेल’ से सरकार बनाने-गिराने का खेल खेलने में लग गए हैं. नैतिकता बची हो तो उनपर कार्रवाई कराइए. 

उधर, भाजपा विधायक नीरज कुमार बबलू ने लालू को तुरंत ही तिहाड़ जेल भेजने की मांग करते हुए पूरे मामले की सीबीआई जांच किए जाने की मांग कर दी है. मामले में भागलपुर की पीरपैंती सीट से चुनकर आए ललन पासवान ने ऑडियो के आधार पर दावा किया कि लालू यादव ने उन्‍हें फोन कर मंत्री पद का ऑफर देते हुए सरकार गिराने की बात कही. हालांकि उन्‍होंने यह ऑफर ठुकरा दिया. ललन पासवान के अनुसार संयोग से उन्‍हें लालू यादव का फोन तब आया जब वह पूर्व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी के आवास पर बैठे थे. भाजपा विधायक ने कहा कि फोन के बारे में उन्‍होंने पार्टी के बडे नेताओं को जानकारी दे दी है. 

Web Title: Lalu Prasad Yadav's call case bihar deputy cm tar kishore prasad demands inquiry write a letter to CM Hemant Soren

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे