कांग्रेस-सपा ने भारत की संस्कृति और राष्ट्रवाद की विचारधारा पर गोलियां चलवाई थीं : स्वतंत्र देव

By भाषा | Published: September 6, 2021 12:08 AM2021-09-06T00:08:18+5:302021-09-06T00:08:18+5:30

Congress-SP had opened fire on India's culture and ideology of nationalism: Swatantra Dev | कांग्रेस-सपा ने भारत की संस्कृति और राष्ट्रवाद की विचारधारा पर गोलियां चलवाई थीं : स्वतंत्र देव

कांग्रेस-सपा ने भारत की संस्कृति और राष्ट्रवाद की विचारधारा पर गोलियां चलवाई थीं : स्वतंत्र देव

Next

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को प्रदेश के 18 महानगरों में प्रबुद्ध सम्‍मेलनों की शुरुआत की। अयोध्या के मारवाड़ी सेवा सदन में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने भारत की संस्कृति और राष्ट्रवाद की विचारधारा पर गोलियां चलवाई थीं। भाजपा मुख्‍यालय से जारी बयान के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ -वाराणसी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह- प्रयागराज, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह -अयोध्या, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य- कानपुर और प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने राजधानी लखनऊ में प्रबुद्धजनों से संवाद किया। प्रबुद्धवर्ग सम्मेलनों के क्रम में आज प्रदेश सह संगठन महामंत्री कर्मवीर ने सहारनपुर में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन की शुरूआत की। इसके साथ ही भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रेखा वर्मा ने चित्रकूट, राष्ट्रीय महामंत्री अरूण सिंह-मथुरा, राष्ट्रीय अध्यक्ष किसान मोर्चा राजकुमार चाहर-अलीगढ़, राष्ट्रीय मंत्री विनोद सोनकर-आगरा, केन्द्रीय मंत्री संजीव बालियान-गाजियाबाद-, वीके सिंह-मेरठ, साध्वी निरंजन ज्योति- झांसी, भानु प्रताप वर्मा- मुरादाबाद, कौशल किशोर-नोएडा, बीएल वर्मा -बरेली, पंकज चौधरी- गोरखपुर तथा अजय मिश्रा टेनी ने शाहजहांपुर में पार्टी द्वारा आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित किया। अयोध्या के मारवाड़ी सेवा सदन में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा, ''कभी इंदिरा गांधी (कांग्रेस) ने संसद का घेराव कर रहे संतों पर गोलियां चलवाई थीं, तो सपा ने रामभक्तों पर गोलियां चलवाईं और यह गोलियां भारत की संस्कृति व राष्ट्रवाद की विचारधारा पर चली थी।'' उन्होने कहा, ''पूरे भारत की राम में आस्था है, यहां कण-कण में राम हैं, आजादी के बाद बनी कांग्रेस सरकार ने राम के अस्तित्व को नकार दिया और कांग्रेस सरकार के दौरान सोनिया गांधी ने रामसेतु को नहीं माना, आजादी के बाद शंकराचार्य की गिरफ्तारी हुई, हिन्दू आतंकवाद जैसा शब्द गढ़ा गया।'' उन्‍होंने सपा पर हमला करते हुए आरोप लगाया, '' खुद को हिन्दू कहने व मंदिर जाने में ये शर्म महसूस करते थे। यह सब वोट बैंक के कारण होता है। इसी कारण से अभी कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि देने व तेरहवीं संस्कार में भी सपा का कोई नेता नहीं गया।'' भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दावा किया “ उत्तर प्रदेश अपराध व भ्रष्टाचार मुक्त हुआ है। अब अगर कोई गरीब की झोपड़ी पर कब्जा करने का प्रयास करता है तो उसके घर पर बुलडोजर चलता है। जेल में रहने वाले गुंडे भी अब डरते है। उप्र में अब साम्प्रदायिक दंगे नहीं होते। जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अयोध्या में मंदिर का भूमि पूजन कर रहे थे तो एक भी पत्ता नहीं हिला। सरकार अगर हिन्दू को मकान देती है तो मुस्लिम को भी देती है। हम दोनों मिलकर इस देश का विकास करें। दंगे की बात नहीं सौहार्द की बात करें।” उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने वाराणसी में प्रबुद्ध वर्ग सम्‍मेलन को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने आदित्यनाथ ने कहा, “ साढ़े चार सालों में उत्तर प्रदेश के प्रति लोगों का नजरिया बदला है। उप्र का युवा जब रोजगार के लिए बाहर जाता था तो उसको बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता था लेकिन अब ऐसा नहीं है। 2017 से पहले लोग उप्र को माफियाओं और गुंडों की वजह से पहचानते थे पर चार सालों में यूपी से माफिया राज खत्म हुआ है।”प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के जरिये भाजपा शिक्षक, प्रोफेसर, इंजीनियर, डॉक्टर, साहित्यकार जैसे समाज के प्रबुद्धवर्ग के लोगों से संवाद कर रही है तथा केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा जनता के हित में किये जा रहे कार्यों, सरकार की जनकल्याकारी योजनाओं, उपलब्धियों तथा लोककल्याणकारी कार्यों से अवगत करा रही है।ऐसा माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी इन प्रबुद्ध वर्ग सम्‍मेलनों के जरिये अगले वर्ष की शुरुआत में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में बुद्धिजीवी वर्ग खासकर ब्राह्मण वर्ग को प्रभावित करने की कोशिश कर रही है। चूंकि, विरोधियों द्वारा भाजपा सरकार में ब्राह्मणों के उत्पीड़न के आरोप लगाए जा रहे हैं और इस कड़ी में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी ने अपने ब्राह्मण नेताओं को आगे कर प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलनों की श्रृंखला शुरू की है, इसलिए सभी राजनीतिक दलों में होड़ लगी है। शनिवार को बहुजन समाज पार्टी की अध्‍यक्ष व उप्र की पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती ने मीडिया से बातचीत में आरोप लगाया था कि बसपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन की नकल करके भाजपा खुद अपना सम्मेलन शुरू करने जा रही है। उन्होंने कहा था, ''भाजपा के द्वेषपूर्ण और पक्षपाती रवैये से ब्राह्मण समाज बहुत दुखी है और बसपा के साथ तेजी से जुड़ रहा है। उससे भाजपा की ही नहीं बल्कि सपा और कांग्रेस सहित बहुतों की बौखलाहट साफ तौर पर बढ़ी है।'' समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार की रात ट्वीट करके कहा था ''भाजपा सोच रही है कि वह प्रबुद्ध सम्मेलन करके 2022 में अपनी संभावित हार से बच जाएगी। ये भाजपा की भूल है क्योंकि सच्चे प्रबुद्ध, भाजपा की संकीर्ण राजनीतिक सोच के साथ कभी भी नहीं रहे हैं। इसके विपरीत प्रबुद्ध लोग जन-जागरण करेंगे और भाजपाइयों की नींद भी उड़ायेंगे।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Congress-SP had opened fire on India's culture and ideology of nationalism: Swatantra Dev

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे