Choksi's legal team contacts the Metropolitan Police in London | लंदन में चोकसी की विधिक टीम ने मेट्रोपालिटन पुलिस से किया सम्पर्क
लंदन में चोकसी की विधिक टीम ने मेट्रोपालिटन पुलिस से किया सम्पर्क

नयी दिल्ली, 10 जून लंदन में भगोड़े हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी की कानूनी टीम ने "सार्वभौमिक अधिकार क्षेत्र" प्रावधान के तहत मेट्रोपॉलिटन पुलिस से संपर्क करके एंटीगुआ और बारबुडा से उसका कथित अपहरण पड़ोसी डोमिनिका में किये जाने की जांच करने का अनुरोध किया है। यह जानकारी वकील माइकल पोलाक ने दी।

पोलाक ने कहा कि चोकसी को एंटीगुआ और बारबुडा से हटा दिया गया जहां उसे एक नागरिक के रूप में नागरिकता और प्रत्यर्पण के मामलों में ब्रिटिश प्रिवी काउंसिल से संपर्क करने का अधिकार प्राप्त थे जबकि डोमिनिका में उसे यह अधिकार उपलब्ध नहीं है।

उन्होंने कहा कि ब्रिटेन की अदालतों और ब्रिटेन की पुलिस के पास ऐसे मामलों की जांच करने का ‘‘सार्वभौमिक अधिकार क्षेत्र’’ है, जहां भी वे होते हैं।

चोकसी की बचावपक्ष की टीम में शामिल पोलाक ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीडिया से बातचीत में कहा कि मेट्रोपॉलिटन पुलिस के पास यातना, युद्ध अपराध और नरसंहार की जांच के लिए एक इकाई है, जहां कहीं भी वे होते हैं।

पोलाक ने कहा कि मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने कहा है कि वे यह देखने के लिए एक जांचकर्ता को भेजेंगे कि क्या हुआ है।

उन्होंने कहा, ‘‘प्रक्रिया मेट्रोपॉलिटन पुलिस के पास है और हम उन्हें अपनी जांच करने देंगे। हम कहते हैं कि इस मामले में यातना के सबूत हैं।’’

पोलाक ने इसके संकेत तो दिये, लेकिन यह नहीं कहा कि इसमें भारतीय एजेंसियों का हाथ है।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि मकसद वास्तव में खुद ही बोलता है। यह देखना बहुत महत्वपूर्ण बात है। भारत निश्चित तौर पर चोकसी को भारत ले जाने का प्रयास करना चाहता है। यह तथ्य कि डोमिनिका में एक भारतीय विमान था, यह दिखाता है कि वहां क्या हो रहा था।’’

पोलाक ने आरोप लगाया है कि अपहरण में शामिल लोगों ने अप्रैल में इसका पूर्वाभ्यास किया था।

अपहरण के प्रयास का विवरण देते हुए, पोलाक ने कहा कि 23 मई को चोकसी को फुसलाकर एयरबीएनबी आवास ले जाने वाली बारबरा जबरिका ने विशेष रूप से उसके मालिक से पूछा था कि क्या उसके पीछे में एक छोटी नौका खड़ी करने की जगह है।

जबरिका और संपत्ति के मालिक के बीच बातचीत दिखाते हुए पोलाक ने कहा कि उसने नावों के लिए डॉकिंग जगह के बारे में पुष्टि मिलने के बाद दो आस-पास की संपत्तियों को लेने पर चर्चा की थी।

पोलाक ने आरोप लगाया कि एक संपत्ति का इस्तेमाल उसके साथ के उन लोगों ने किया जो अपहरण टीम का हिस्सा थे।

वकील ने दावा किया कि अपहरण के तुरंत बाद, जबरिका शाम 7.26 बजे एक निजी विमान में एंटीगुआ और बारबुडा से डोमिनिका के लिए रवाना हो गई।

पोलाक ने शिकायत में कथित तौर पर जबरिका के अलावा गुरदीप बाथ, गुरजीत सिंह भंडाल और गुरमीत सिंह का नाम भी लिया है। बाथ और भंडाल क्रमशः सेंट किट्स के नागरिक हैं जबकि सिंह एक भारतीय नागरिक हैं जो ब्रिटेन में रहता है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Choksi's legal team contacts the Metropolitan Police in London

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे