Ashok Gehlot directed to provide ration material to the needy Pakistan displaced | पाकिस्तान से विस्थापित, छह हजार परिवार, सीएम अशोक गहलोत ने की मदद, राशन उपलब्ध कराने का किया वादा
(फाइल फोटो)

Highlightsसीमांत लोक संगठन के अध्यक्ष हिन्दू सिंह सोढ़ा का पत्र मिलने के बाद सीएम ने की ये पहल।जोधपुर जिले में 618 विस्थापित परिवारों व जरूरतमंदों को राशन सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है।

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) ने कहा कि राज्य के किसी भी जिले में रह रहे पाकिस्तान से विस्थापित जरूरतमंद परिवारों को राशन सामग्री उपलब्ध कराने में कोई कमी नहीं रखी जाएगी। गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि पाकिस्तान से विस्थापित परिवारों को राशन सामग्री समय पर मिले यह सुनिश्चित किया जाए। गहलोत ने इस संबंध में सीमांत लोक संगठन के अध्यक्ष हिन्दू सिंह सोढ़ा का पत्र मिलने के बाद यह पहल की है। 

सोढ़ा ने अपने पत्र में अवगत कराया था कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में पाकिस्तान से विस्थापित करीब छह हजार परिवार रह रहे हैं और उनमें से कई जरूरतमंद परिवारों को लॉकडाउन के चलते राशन सामग्री की आवश्यकता है। गहलोत ने इस संबंध में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए थे जिस पर संबंधित जिलों के कलेक्टर से रिपोर्ट मांगी गई थी। रिपोर्ट्स के अनुसार, जयपुर जिले के जामड़ोली, गोविन्दपुरा व मांग्यावास में पाकिस्तान से विस्थापित 500 परिवारों से जिला प्रशासन संपर्क में है और इन परिवारों को राशन सामग्री वितरित की जा रही है। 

इसी तरह जोधपुर जिले में 618 विस्थापित परिवारों व जरूरतमंदों को राशन सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। बाड़मेर जिले की शिव और चोहटन पंचायत समिति में करीब 200 पाक विस्थापित परिवारों, पाली जिले में रह रहे 92 परिवारों, बीकानेर जिले की पूगल वं बज्जू तहसील में रह रहे 93 परिवारों को मांग के अनुसार राशन सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। 

साथ ही जैसलमेर, जालौर व सिरोही जिलों में रह रहे विस्थापित परिवारों को राशन सामग्री के साथ ही वित्तीय सहायता के लिए पात्र परिवारों को अनुग्रह राशि भी वितरित की जा रही है। गहलोत ने निर्देश दिए कि पाकिस्तान से विस्थापित ऐसे जरूरतमंद परिवार, जो किसी भी सामाजिक सुरक्षा योजना के दायरे में नहीं आते उन्हें राशन सामग्री पहुंचाई जाए।

Web Title: Ashok Gehlot directed to provide ration material to the needy Pakistan displaced
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे