14th January historical events Important Events: India Religious Violence | आज ही के दिन हुआ था पानीपत का तीसरा युद्ध, जानिए 14 जनवरी के इतिहास में क्या-क्या दर्ज
आज ही के दिन हुआ था पानीपत का तीसरा युद्ध, जानिए 14 जनवरी के इतिहास में क्या-क्या दर्ज

भारत के इतिहास में 14 जनवरी  (Today in history)  काफी मायने रखता है। इसी दिन 1761 ई. में अफगान शासक अहमद शाह अब्दाली की सेना और मराठों के बीच पानीपत की तीसरी लड़ाई हुई थी। इस लड़ाई में मराठों को हार का सामना करना पड़ा था। 

कुछ अन्य अहम घटनाएं भी इतिहास के पन्नों में इस दिन दर्ज है, जो इस प्रकार है:-

पोप लियो एक्स ने 1514 में दासता के विरुद्ध आदेश पारित किया।

अकबर के नवरत्नों में शामिल अबुल फजल का जन्म 14 जनवरी 1551 को हुआ था।

1760 में फ्रांसीसी जनरल लेली ने पांडिचेरी अंग्रेज़ों के हवाले कर दिया।

इंग्लैंड और स्पेन ने 1809 में ‘नेपोलियन बोनापार्ट‘ के ख़िलाफ़ गठबंधन किया।

प्रख्यात लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता महाश्वेता देवी का 1926 में जन्म हुआ। 

1937 में छायावादी कवि जयशंकर प्रसाद का निधन हुआ, जो हिन्दी साहित्यकार थे।

1974 में विश्व फुटबाल लीग की स्थापना की गयी।

सोवियत संघ ने अमेरिका के साथ व्यापार समझौते को 1975 में समाप्त किया।

तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने 1982 में ‘20 सूत्री कार्यक्रम’ की घोषणा की।

नेपाल में अंतरिम संविधान को 2007 में मंजूरी मिली।

English summary :
14 January in India and world history (Today in history): 14 January is very important in the history of India. On 14th January, in the year 1761, the third battle of Panipat was fought between a northern expeditionary force of the Maratha Empire and invading forces of the King of Afghanistan, Ahmad Shah Abdali. The Marathas had to face defeat in the Battle of Panipat 3. Here are Some other important events and facts, recorded in India and World history, of 14th January.


Web Title: 14th January historical events Important Events: India Religious Violence
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे