अगर आपको बीमारियों से दूरी बनाए रखना है, तो योग से बेहतर कुछ नहीं है। समय और उम्र के साथ शरीर कमजोर हो जाता है। योग शरीर को स्वस्थ्य रखने में मदद करता है। छोटे बच्चों से लेकर बुज़ुर्गो के लिए योग काफी आसान और फायदेमंद साबित होता है। आजकल योग बुज़ुर्गो में काफी लोकप्रिय हो रहा है, खासकर उन महिलाओं में जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है। हम आपको कुछ ऐसे योगासन बता रहे हैं जिनसे 60 से अधिक उम्र के लोगों को फायदा होगा ।

1) ताड़ासन योग

यह एक आसान योग मुद्रा है। इससे शरीर ताड़ के पेड़ के समान हो जाती है। यह आपके शरीर के ढांचे को    
सुधारने में मदद करता है। ताड़ासन योग करने कुछ फायदे जैसे

- यह आसन जांघों ,एड़ियों,भुजाएँ को मजबुत रखता है और मांसपेशियो में खिंचाव बनाए रखने में मदद करता है। 
- ताड़ासन योग करने से आपका पाचनतंत्र बिलकुल दुरुस्त बना रहता है। शरीर सस्वस्थ तभी होगा जब पाचनतंत्र सही   होगा । 
- आजकल के रहन सहन ऐसा है की टेंशन, डिप्रेशन और तनाव बना रहता है। ताड़ासन योग के जरिए तनाव और टेंशन   से आराम मिलेगा । 
- ताड़ासन योग के जरिए आपको शरीर मे ऊर्जा महसूस होगा । काम में भी मन लगा रहेगा साथ ही थकान भी नहीं   होगी।

 2) उत्तानासन योग

उत्तानासन योग के आपने ही फायदे है इस आसन को करने के लिए मैट पर खड़े हो जाएं उसके बाद अपने हाथ अपने  शरीर के साइड में रखें। साँस छोड़ते हुए कूल्हे के जोड़ों से झुकें , फीर आप अपनी पीठ को सीधा रखे कूल्हे के जोड़ों से  वापिस उपर आयें। ध्यान रखे की खाली पेट ना करे। उत्तानासन योग करने के भी कुछ अलग फायदे है
- इस आसन को करने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक बना रहता है। 
- सुंदर त्वचा में निखार लाने में मदद करता है। 
- जांघों और घुटनों को मज़बूत रखने साहयता करता है। 
- इस आसन को करने से नींद भी अच्छी आती है।
 
3)  बाधा कोणासन

यह आसन हाथ, पैर, जोड़ों और कमर के लिए एक बहुत ही अच्छा आसान है। यह शरीर के उन जगहों पर काम करता  है जहाँ अक्सर दर्द की शिकायत रहती है। कमर के साथ साथ यह मासिक धर्म मे होने वाली असुविधा में भी राहत पहुँचाता है।

बाधा कोणासन के फायदे 
- जांघो ओर घुटनो को मजबूती प्रदान करता है।
- पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है। 
- तनाव और थकान को कम करता है। पुराने से पुराने कमर दर्द में फ़ायदेमंद है।

4) शवासन योग 


शवासन आसन तनाव दूर करने के लिए सबसे फायदेमंद है। शवासन में बस पीठ के बल लेट होता है और आंखों को बंद करने के बाद हल्की-हल्की सांस लें ध्यान कोई हलचल नहीं हो।

शवासन के फायदे 
- मेडिटेशन के लिए काफी आच्छा जिसके चलते आप तनाव महसुस नहीं करते है। 
- ब्लड प्रेशर को कंट्रोल मे रखने में मदद करता है। 
- पोजीटिव एनर्जी बढ़ाने में साबयता करता है।  

5) भुजंगासन योग

कमर की मांसपेशियों को थोड़ा सा स्ट्रेच करे बिल्कुल एक नाग सांप की मुद्रा में,इससे आपके कमर और उसके निचले हिस्से को मजबूती मिलेगी। ध्यान रखें कि इस आसन को करते समय अपने कंधों को ढीला छोड़े और पीछे की तरफ झुकें ताकि कोई चोट ना लगे।

भुजंगासन के फायदे 
- कमर में होने वाली अकड़न से राहत मिलती है। 
- शरीर में लचीलापन आता है, मूड ठीक रहता है। 
- रीढ़ की हड्डी को मजबूती मिलती है और साइटिका के दर्द से भी राहत मिलती है।

English summary :
If you want to make your bones strong and flexible, then there is nothing better than yoga. The muscles mass mobility and flexibility reduced with age. Yoga helps in keeping the body healthy. Yoga is easy and beneficial for young children to the elderly.


Web Title: yoga poses for strong bones, knee, core, legs, back shoulders, arms and relieve in back pain, spine pain, shoulder pain, joints pain in Hindi
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे